Monday, May 17th, 2021 Login Here
कोरोना के गंभीर रोगियों का उपचार सर्वसुविधायुक्त बड़े अस्पतालों में होना जरूरी पुलिस और डाक्टर की पकड़ में कोरोना से सुरक्षित आम आदमी लेकिन लापरवाह लोग बन रहे मुश्किल मंदसौर के मनोज ने कर दिया 200 रूपऐ में आॅक्सी फ्लो मीटर का निर्माण वायरल विडियों ने मंदसौर की दादी को बना दिया स्टाॅर मंदसौर जिला चिकित्सालय में अक्षय तृतीया से सीटी स्कैन मशीन से जांच होना हुई प्रारंभ वित्त मंत्री श्री देवड़ा के निर्देश पर गृह मंत्रालय ने मल्हारगढ़ ब्लॉक कोविड-19 आपदा प्रबंधक मैनेजमेंट कमेटी का गठन कलेक्टर द्वारा किया गया *शामगढ़ में 85 वर्ष के बूढे व्यक्ति का घर से मृत अवस्था मे मिला शव* खुशियों की दास्तां /मल्हारगढ़ कोविड केयर सेंटर से आज 3 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर गए प्रशासन ने मीटिंग बुलाकर ईद घर पर ही मनाने हेतु समझाइश दी । अपने अपने मोहल्ले मैं सख्ती से कर्फ्यू का पालन करवाना और दवाई वितरण करवाना हम सबकी जवाबदेही है: श्री पँवार *जिले में रक्त स्त्रोतम संस्थान द्वारा कराया गया पहला प्लाज्मा डोनेशन जनसारंगी --प्रसंगवश./ सर्वसमावेशी समाज के संस्थापक भगवान परशुराम. दो लाख खर्च होने के बाद भी नहीं बनी खाद, पिट बन गऐ डस्टबिन हॉटस्पॉट में बेखौफ चल रहीं सब्जी मंडी, लोगों की जमा हो रहीं भीड़ महामारी से निपटने आर्थिक सहयोग में आगे आ रहे नागरिक

    इंदौर की कान्ह समेत 40 नदियों को पुनर्जीवित करने के लिए योजना शुरू होगी
    भिंड के पेड़े, सागर की चिरौंजी की बर्फी, मुरैना की गजक की भी ब्रांडिग करेगी सरकार
    गुरुवार और शुक्रवार को बजट पर चर्चा होगी, बजट भाषण के बाद सदन की कार्यवाही स्थगित

भोपाल. प्रदेश में 15 साल बाद सत्ता में आई कांग्रेस सरकार का पहला पूर्ण बजट वित्तमंत्री तरुण भनोट ने बुधवार को विधानसभा में पेश किया। बजट में कोई नया कर नहीं लगाया गया। दतिया, रीवा और उज्जैन में हवाई सेवा शुरू की जाएगी। सामाजिक सुरक्षा पेंशन दोगुनी होगी। पुजारियों के लिए विशेष कोष बनाने का बजट में प्रावधान किया गया।
भनोट ने कहा- सरकार 'राइट टू वाटर' स्कीम ला रही है। इंदौर की कान्हा नदी समेत 40 नदियों को पुनर्जीवित करने के लिए योजना शुरू की जाएगी। जबलपुर में रिवर फ्रंट बनाया जाएगा। बजट पर गुरुवार और शुक्रवार को चर्चा की जाएगी। बजट पेश करने के बाद सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी गई।
जलेबी और नमकीन की ब्रांडिंग होगी
वित्तमंत्री ने बताया- प्रदेश के खान-पान को दुनिया में नई पहचान दिलाई जाएगी। प्रसिद्ध जलेबी, बर्फी, लड्डू, मावा बाटी और नमकीन के साथ ही क्षेत्रीय उत्पादों, जैसे भिंड के पेड़े, सागर की चिरौंजी की बर्फी, मुरैना की गजक की ब्रांडिग की जाएगी।
वित्तमंत्री ने बताया- प्रदेश में नई एमएसएमई नीति शुरू होगी। 17 हजार लोगों की ट्रेनिंग शुरू होगी। सरकार का फोकस फूड प्रोसेसिंग पर होगा। ग्वालियर और जबलपुर में खाद्य प्रसंस्करण यूनिट स्थापित होगी। इस साल इंदौर में 18-19 अक्टूबर को मेग्नीफिशिएन्ट एमपी का आयोजन होगा। इससे मध्य प्रदेश में निवेशकों का ध्यान खींचने की कोशिश की जाएगी।
महिलाओं के लिए ई-रिक्शा योजना
बजट में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना की राशि बढ़ाने का प्रावधान भी किया गया है। प्रदेश में तीन नए मेडिकल कॉलेज खोले जाने का वादा भी सरकार ने किया। रोजगार गारंटी योजना के तहत सरकार ने युवा स्वाभिमान योजना शुरू की। महिलाओं के लिए ई-रिक्शा योजना लाई जाएगी।
एक्सप्रेस-वे के साथ सैटेलाइट सिटी
भनोट ने बजट भाषण में कहा- इंदौर-भोपाल एक्सप्रेस वे के साथ सैटेलाइट सिटी बनाई जाएगी। उन्होंने बताया- चिकित्सा सेवाओं के तहत भोपाल, इंदौर और ग्वालियर में बर्न यूनिट बनेगी। एएनएम और कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर के खाली पड़े पदों को भी भरा जाएगा।
बजट की अन्य प्रमुख घोषणाएं:
    भोपाल में आधुनिक लाइब्रेरी खोली जाएगी। स्कूल शिक्षा विभाग के लिए बजट में 24 हजार करोड़ का प्रावधान।मनरेगा के लिए 2500 करोड़ रुपए दिए जाएंगे।
    पुलिस फोर्स को मजबूत बनाया जाएगा। साइबर पुलिस को नई तकनीक से लैस किया जाएगा। गृह विभाग के लिए 7635 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया।
    आवासहीनों को पट्टा दिया जाएगा। मंत्री ने कहा- प्रदेश सरकार देशभक्ति को बढ़ावा देगी।
    प्रदेश सरकार ने तीस लाख किसानों का कर्जा माफ किया। किसानों के लिए कृषक बंधु योजना शुरू होगी। बागवानी और प्रसंस्करण के लिए 400 करोड़ का प्रावधान।
    अंतरराष्ट्रीय स्तर की स्वीमिंग और फुटबॉल एकेडमी शुरू होगी। प्रदेश में तीन नए सरकारी महाविद्यालय शुरू होंगे।
    अल्पसंख्यक आयोग और मध्य प्रदेश वक्फ वोर्ड, हज कमेटी का अनुदान बढ़ाया गया।
    मंदिर की जमीनों को सरकारी निधि से विकसित किया जाएगा। नई गौशालाएं खोली जाएंगी।
    किसानों के बिजली के बिल आधे किए गए। इंदिरा ज्योति योजना से 100 यूनिट बिजली खपत पर 100 रुपए बिजली बिल आ रहा है।
प्रदेश के 2700 करोड़ रुपए कम
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा- केंद्र सरकार ने मध्यप्रदेश के हिस्से के 2700 करोड़ रुपए कम किए। हाल ही में पेश किए गए केंद्रीय बजट के साथ ही पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ा दिए गए। इससे राज्य सरकार को पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाने पड़े। अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने कहा- बजट भाषण के पूर्व किसी प्रकार की चर्चा नहीं होती है। वित्तमंत्री भनोट ने कहा- 2019-20 के लिए बजट भाषण में मिली खराब वित्तीय स्थिति के बावजूद मात्र छह माह पुरानी सरकार ने राज्य को पटरी पर लाने के लिए कदम उठाए हैं।
Chania