Monday, May 17th, 2021 Login Here
कोरोना के गंभीर रोगियों का उपचार सर्वसुविधायुक्त बड़े अस्पतालों में होना जरूरी पुलिस और डाक्टर की पकड़ में कोरोना से सुरक्षित आम आदमी लेकिन लापरवाह लोग बन रहे मुश्किल मंदसौर के मनोज ने कर दिया 200 रूपऐ में आॅक्सी फ्लो मीटर का निर्माण वायरल विडियों ने मंदसौर की दादी को बना दिया स्टाॅर मंदसौर जिला चिकित्सालय में अक्षय तृतीया से सीटी स्कैन मशीन से जांच होना हुई प्रारंभ वित्त मंत्री श्री देवड़ा के निर्देश पर गृह मंत्रालय ने मल्हारगढ़ ब्लॉक कोविड-19 आपदा प्रबंधक मैनेजमेंट कमेटी का गठन कलेक्टर द्वारा किया गया *शामगढ़ में 85 वर्ष के बूढे व्यक्ति का घर से मृत अवस्था मे मिला शव* खुशियों की दास्तां /मल्हारगढ़ कोविड केयर सेंटर से आज 3 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर गए प्रशासन ने मीटिंग बुलाकर ईद घर पर ही मनाने हेतु समझाइश दी । अपने अपने मोहल्ले मैं सख्ती से कर्फ्यू का पालन करवाना और दवाई वितरण करवाना हम सबकी जवाबदेही है: श्री पँवार *जिले में रक्त स्त्रोतम संस्थान द्वारा कराया गया पहला प्लाज्मा डोनेशन जनसारंगी --प्रसंगवश./ सर्वसमावेशी समाज के संस्थापक भगवान परशुराम. दो लाख खर्च होने के बाद भी नहीं बनी खाद, पिट बन गऐ डस्टबिन हॉटस्पॉट में बेखौफ चल रहीं सब्जी मंडी, लोगों की जमा हो रहीं भीड़ महामारी से निपटने आर्थिक सहयोग में आगे आ रहे नागरिक

चार आरोपी गिरफ्तार, चार की तलाश
सोनू गोस्वामी हत्या के बाद गहराई थी रंजिश, दीपक को मारने की साजिश कर रहा था युवराज भनक लगते ही दीपक ने कर दिया काम तमाम
मछली ठेका और केबल विवाद की रंजिश में हुआ कत्ल
मंदसौर निप्र। विहिप नेता युवराजसिंह चौहान हत्याकाण्ड से आज पुलिस ने पुरी तरह से पर्दा उठा  दिया, हत्या की साजिश में बजरंग दल का संयोजक भी शामिल निकला, बजरंगी विक्की गौसर ने दीपक तंवर के साथ मिलकर इस हत्याकाण्ड की साजिश को अंजाम दिया और अंकित तंवर, छोटू उर्फ फैजान और नागेश उर्फ लाला गोस्वामी ने गोलियां चलाई, अनिल दरिंग, सुनील गोस्वामी और अनिश मेव ने रैकी भी की और तीनों शूटरों को मौके पर पहुंचाया, उनके भागने के लिए वाहन भी उपलब्ध कराया । पुलिस ने हत्याकाण्ड के तीन शूटरों सहित रैकी करने वाले अनिल दरिंग को हिरासत में ले लिया है । पुलिस को हत्याकाण्ड की साजिश रचने वाले दोनों मुख्य षड़यंत्रकर्ताओं सहित चार लोगों की तलाश है ।
हत्याकाण्ड का खुलासा पुलिस अधीक्षक हितेश चौधरी ने कंट­ोल रूम पर किया इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनकामना प्रसाद, नगर पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र सोलंकी भी मौजुद थे । पुलिस ने चारों आरोपियों के सामने पूरे हत्याकाण्ड का खुलासा किया । एसपी श्री चौधरी ने बताया कि
क्या था दीपक और युवराज का विवाद
एसपी श्री चौधरी ने बताया कि दीपक तंवर और युवराजसिंह की टीवी केबल व अन्य व्यावसायिक प्रतिद्वंद्विता के कारण पहले से ही विवाद चल रहा था करीब एक साल पहले दोनों के बीच मारपीट भी हुई थी जिसमें पुलिस ने प्रकरण भी दर्ज किया था । इसके अलावा दीपक तंवर का नजदीकी सोनू गोस्वामी की साल 2017 में हत्या हो गई थी इस हत्याकाण्ड से जुड़े आरोपी लल्लू उर्फ ललित की प्रत्यक्ष -अप्रत्यक्ष रूप से युवराज मदद करता था । जिसके चलते रंजिश और गहरा गई । ऐसे में दीपक तंवर को यह लग रहा था कि युवराजसिंह त्यौहारों के दौरान उसकी हत्या करवाना चाह रहा है ऐसे में पहले दीपक ने युवराज की ही हत्या करवा दी ।
हत्या के षड़यंत्र में विक्की को भी शामिल किया दीपक ने
पुलिस कप्तान श्री चौधरी ने बताया कि इस हत्याकाण्ड को अंजाम देने के लिए लगभग एक महिने पहले दीपक तंवर ने अपने साथ विक्की गोसर को भी शामिल किया, दोनों के घर भी पास-पास है दोनों ने  अंकित तंवर, नागेश गोस्वामी, छोटू उर्फ फैजान, अनिश मेव, सुनील गोस्वामी तथा अनिल दरिंग को भी अपने साथ शामिल किया और अलावदाखेड़ी में सोनू गोस्वामी की हत्या और व्यावसायिक प्रतिद्वंद्विता और युवराज द्वारा दीपक की हत्या करने की आशंका के चलते युवराज हत्याकाण्ड की योजना बनाई और आठों के जिम्में अलग-अलग काम सौंपे गए ।
दो ने योजना बनाई, तीन ने रैकी की और तीन ने गोली चलाई
विक्की गौसर और दीपक तंवर ने हत्याकाण्ड की साजिश को रचा, अनिश, सुनील और अनिल के जिम्मे रैकी करने के अलावा शूटरों को मौके तक पहुंचाने और भागने के लिए गाड़ी का इंतजाम करने का जिम्मा दिया गया और अंकित तंवर , फैजान और नागेश को गोली मारने का काम सौंपा गया । इस योजना के तहत ही हत्याकाण्ड वाले दिन अनिल अपनी टयागो गाड़ी से छोटू उर्फ फैजान को घटना स्थल तक लेकर गया बाकि के दो आरोपी अलग-अलग गाड़ियों से वहां पहुंचे और तीनों एक बाईक पर सवार हुए और हत्याकाण्ड को अंजाम देकर एक साथ ही वहां से भाग निकले ।
पांच जिन्दा राउण्ड, दो खोके और तीन पिस्टल जप्त
एसपी श्री चौधरी ने बताया कि पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर घटना में उपयोग किए गए तीन पिस्टल, पांच जिन्दा राउण्ड एवं दो खाली खोके के साथ ही घटना में उपयोग की गई पल्सर गाड़ी क्रमांक एमपी 14 एम एस 5748 व एक मोटर साईकिल बिना नम्बर की काले रंग वाली पल्सर जप्त की गई है । पुलिस ने अब तक छोटू उर्फ फैजान पिता मुजफ्फर रिजवी उम्र 20 साल निवासी ग्राम अलावदाखेड़ी, अंकित पिता अशोक तंवर उम्र 25 साल निवासी अम्बेडकर चौराहा 12 क्वाटर, नागेश उर्फ लाला पिता दिनेश गोस्वामी उम्र 24 साल निवासी बसेर कॉलोनी, अनिल पिता गोकुल दरिंग उम्र 23 साल निवासी अलावदाखेड़ी मंदसौर को गिरफ्तार किया है । पुलिस को इस हत्याकाण्ड से जुड़े दीपक उर्फ गब्बर पिता जीवन तंवर निवासी तंवर कॉलोनी, विक्की उर्फ हेमन्त पिता जीवन गौसर निवासी तंवर कॉलोनी, अनिश पिता रईस मेव निवासी सांई मंदिर के पास अभिनंदन नगर, सुनील पिता चंदर गिरी गोस्वामी निवासी सम्राट होटल के पीछे पारख कॉलोनी की पुलिस को तलाश है ।
किस आरोपी पर कितने अपराध
हत्याकाण्ड को अंजाम देने वाले आठ में से सात आरोपियों का आपराधिक रिकार्ड है। शूटर छोटू उर्फ फैजान पर मंदसौर शहर कोतवाली में 6 और रतलाम जिलें के जावरा में 1 अपराध दर्ज है । दूसरे शूटर अंकित तंवर पर शहर कोतवाली में 3 और नई आबादी में 1 अपराध दर्ज है । तीसरे शूटर नागेश पर शहर कोतवाली में 2 अपराध दर्ज है । मजेदार बात यह है कि तीनो शूटरों पर आर्म्स एक्ट में भी पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया लेकिन पुलिस ने कभी भी इस बात की गहन पड़ताल नही की आखिर ये हथियार लेकर कहां से आ रहे है ऐसे में शहर में एक हत्याकाण्ड घटित हो गया, इसके अलावा षड़यंत्रकर्ता दीपक तंवर पर शहर कोतवाली में 5, नई आबादी थाने में 1 और प्रतापगढ़ जिलें के देवग़ढ़ में 1 अपराध पंजीबध्द है । दूसरे षड़यंत्रकर्ता विक्की गौसर पर कोतवाली में 5 अपराध तथा सीतामऊ में 1 अपराध दर्ज है । इसके अलावा रैंकी करने वाले अनिश पर शहर कोतवाली में 3 प्रकरण दर्ज है तथा अनिल दडिंग पर कोतवाली में तीन प्रकरण दर्ज है इन चारों पर भी कोतवाली में अवैध हथियारों के प्रकरण दर्ज है लेकिन पुलिस ने कभी भी इन अवैध हथियारों की पड़ताल नही की ।
अफीम के साथ मछली भी बन गई अपराधों की जड़
मंदसौर जिलें में अपराधों का नाम अफीम के साथ जुड़ा हुआ था लेकिन अब मछली में हो रही कमाई के कारण अब मछली का कारोबार भी अपराधों की जड़ में शामिल हो गया है । यहीं कारण है कि मछली के ठेको के लिए भी जिलें में प्रतिस्पर्धा बढ़ गई है । गैंगस्टरों के साथ ही रसूखदार लोग भी इन ठेको को हथियाने की कोशिश में लग रहे है मछली ठेके का विवाद ही साल 2017 में सोनू गोस्वामी की हत्या का कारण बना था इस हत्याकाण्ड में ललित सिकलीकर आरोपी बना था और फरियादी के रूप में बजरंग दल का संयोजक विक्की गौसर सामने आया था युवराज की हत्या की साजिश रचने वाला दीपक तंवर भी सोनू गोस्वामी की गैंग से ही जुड़ा हुआ था सोनू की हत्या के बाद दीपक ही मछली का पुरा कारोबार संभाल रहा था इसके अलावा वह केबल नेटवर्क भी चलाता था । इसके अलावा शूटर फैजान रिजवी भी सोनू गोस्वामी का नजदीकी था उसके बारे में तो कहा जाता है कि उसने सोनू का फोटो तक अपने हाथ पर गुदवा रखा था । युवराज भी मछली के ठेके से ही जुड़ा था और केबल भी चलाता था सोनू गोस्वामी की हत्या के पीछे युवराज का ही नाम आया था लेकिन पुलिस को इसके तथ्य नही मिलें लेकिन दीपक और विक्की को संदेह था क्योंकि आरोपी ललित युवराज का करीबी था जिसके चलते अभिनंदन नगर के केबल पाईन्ट और मछली के ठेके को लेकर दोनों के बीच ठनी हुई थी इसी विवाद में दीपक और युवराज के बीच मारपीट भी हुई थी लेकिन पिछले कुछ समय से दोनो के बीच रंजिश इस कदर बढ़ गई थी कि दोनों एक दूसरे को खत्म करने की साजिश रच रहे थे ।

Chania