Monday, May 17th, 2021 Login Here
कोरोना के गंभीर रोगियों का उपचार सर्वसुविधायुक्त बड़े अस्पतालों में होना जरूरी पुलिस और डाक्टर की पकड़ में कोरोना से सुरक्षित आम आदमी लेकिन लापरवाह लोग बन रहे मुश्किल मंदसौर के मनोज ने कर दिया 200 रूपऐ में आॅक्सी फ्लो मीटर का निर्माण वायरल विडियों ने मंदसौर की दादी को बना दिया स्टाॅर मंदसौर जिला चिकित्सालय में अक्षय तृतीया से सीटी स्कैन मशीन से जांच होना हुई प्रारंभ वित्त मंत्री श्री देवड़ा के निर्देश पर गृह मंत्रालय ने मल्हारगढ़ ब्लॉक कोविड-19 आपदा प्रबंधक मैनेजमेंट कमेटी का गठन कलेक्टर द्वारा किया गया *शामगढ़ में 85 वर्ष के बूढे व्यक्ति का घर से मृत अवस्था मे मिला शव* खुशियों की दास्तां /मल्हारगढ़ कोविड केयर सेंटर से आज 3 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर गए प्रशासन ने मीटिंग बुलाकर ईद घर पर ही मनाने हेतु समझाइश दी । अपने अपने मोहल्ले मैं सख्ती से कर्फ्यू का पालन करवाना और दवाई वितरण करवाना हम सबकी जवाबदेही है: श्री पँवार *जिले में रक्त स्त्रोतम संस्थान द्वारा कराया गया पहला प्लाज्मा डोनेशन जनसारंगी --प्रसंगवश./ सर्वसमावेशी समाज के संस्थापक भगवान परशुराम. दो लाख खर्च होने के बाद भी नहीं बनी खाद, पिट बन गऐ डस्टबिन हॉटस्पॉट में बेखौफ चल रहीं सब्जी मंडी, लोगों की जमा हो रहीं भीड़ महामारी से निपटने आर्थिक सहयोग में आगे आ रहे नागरिक

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की
भोपाल  । मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि उनकी सरकार ने पुलिस को माफिया के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए फ्री-हैंड दिया है। माफियाओं के खिलाफ पुलिस सख्त से सख्त कार्रवाई करे, इसके निर्देश सीएम ने खुद दिए हैं। गुरुवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश के चारों महानगरों भोपाल, इंदौर, ग्वालियर एवं जबलपुर के वरिष्ठतम प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों की महत्वपूर्ण बैठक में ये निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही संगठित अपराध के खिलाफ एक कानून लाएंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि आज हमारा समाज माफियाओं से दुखी है। मुझसे कई लोगों ने शिकायत की है। इन शिकायतों को देखते हुए मैंने पुलिस को फ्री-हैंड दिया है, ताकि वह 'इधर-उधर' देखे बिना माफिया के खिलाफ सीधी कार्रवाई करे। उन्होंने कहा कि संगठित अपराध करने वालों पर पुलिस और प्रशासन कहर बनकर टूट पड़े। मैं मध्यप्रदेश को माफिया मुक्त देखना चाहता हूं। हर प्रकार के माफिया से प्रदेश को मुक्त कराना होगा। चाहे वो जबरन वसूली वाले हो, उगाही करने वाले हों, भू-माफिया हों, ड­ग माफिया हों, सहकारिता माफिया हों, प्रदेश के नागरिकों को संगठित गिरोह बनाकर परेशान करने वालों से निजात मिलनी चाहिए।
ये दिखावा न हो, कार्रवाई होने पर जनता खुद कहे - मुख्यमंत्री ने कहा कि, मैं चाहता हूँ कि यह सिर्फ आप्टिक्स के लिए न हो अर्थात सिर्फ दिखावा न हो, सिर्फ समाचार की सुर्खियों में नहीं, माफिया के खिलाफ कार्यवाही के परिणामों का प्रमाण पत्र मैं प्रदेश की जनता से चाहता हूं। इंदौर के कारोबारी जीतू सोनी की शिकायत मुझे किसी ने एक माह पहले की थी और बताया था कि वह ब्लैकमेलिंग कर रहा है तो मैंने अपने अधिकारियों से कहा कि यह कौन शख्स है, मुझे इसकी विस्तृत जानकारी दी जाए। जब मेरे पास जानकारी आई तो मैं हतप्रभ था कि यह माफिया लंबे समय से लोगो की जमीन-जायदाद पर कब्जे और ब्लैकमेलिंग का काम करता है। इसके बाद मैंने प्रशासन को सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए। 
माफिया को सलाखों के पीछे डाला जाए  - मुख्यमंत्री ने कहा कि माफिया कानून के दायरे के बाहर रहकर काम करता है, उन्हें कानून की जद में लाना होगा और कड़ा दंड देना होगा। कार्यवाही ऐसी हो, जिसका जिसका संदेश प्रदेश के कोने-कोने तक जाए और माफिया अपराध करने का फिर कभी हिम्मत न कर पाए। बैठक में पुलिस मुख्यालय में आर्गेनाईज क्राइम के लिए एक अलग से ब्रांच बनाने तथा स्पेशल कोर्ट पर भी चर्चा की गई। उन्होंने स्पष्ट किया कि कपड़ों पर राजनैतिक बिल्ला देखकर कार्रवाई नहीं की जाए अर्थात कोई किसी की कितनी भी पैरवी क्यों न करे, माफिया को हर हाल में सलाखों के पीछे डाला जाए। 




Chania