Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,

तेलिया तालाब के अतिक्रमण को तलाशने पहुँचा प्रशासन
मंदसौर निप्र । प्रदेश मुखिया कमलनाथ के निर्देशों के बाद जिला मुख्यालय पर लगातार माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही की जा रही है । इसी कड़ी में संभवतः आज पुलिस प्रशासन तथा नगर पालिका की टीम नूर कॉलोनी में स्थित आरोपी बाबु बिल्लोद के अवैध मकान को ढहाने की कार्यवाही करेगी, इधर कलेक्टर मनोज पुष्प तथा एसपी हितेश चौधरी तेलिया तालाब पर हुऐ सैकड़ो बीघा के अतिक्रमण को तलाशने के लिये पहुॅचे थे, इस दौरान नगर पालिका सीएमओ श्रीमती सविता प्रधान भी नपा की टीम के साथ मौजूद थी । उल्लेखनीय है कि शहर को वर्ष भर पानी उपलब्ध कराने में जहां शिवना नदी का अहम किरदार रहता है वहीं तेलिया तालाब भी शहर के अधिकांश परिवारों को पानी उपलब्ध कराता है ऐसे में तेलिया तालाब जहां एक तरफ शहर के लिये महत्वपूर्ण है वहीं शहर का एक मात्र पिकनिक स्पॉट भी तेलिया तालाब है । शहर के इस प्रमुख जलस्त्रोत पर भू माफियाओं ने गिद्द की तरह नजर गड़ाई और बाले-बाले चंद नही सैकड़ो बीघा में अतिक्रमण कर लिया इसको लेकर पूर्व में कांग्रेस सहित कई संघठनों द्वारा विरोध प्रदर्शन के साथ साथ धरना प्रदर्शन किया था। तालाब पर अतिक्रमण का यह मामला वर्तमान में सुप्रीम कोर्ट तक पहुॅच चुका है ।यहां यह कहना भी आवश्यक है कि पिछले वर्ष संपन्न हुऐ विधानसभा तथा लोकसभा चुनावों में तेलिया तालाब का यह मुद्दा भी अहम रुप से विपक्ष के द्वारा आमजन के सामने रखा जा रहा था । यहां यह देखना अब दिलचस्प होगा कि विपक्ष में रहते हुए कांग्रेस के द्वारा जिस तालाब के अतिक्रमण को प्रमुखता से उठाया अब सत्ता में रहते हुए कांग्रेस कितने भूमाफियाओं पर कार्यवाही करती है ।
ताजा मामले की बात करें तो शनिवार को कलेक्टर मनोज पुष्प एसपी हितैश चौधरी टीम के साथ दोपहर में तेलिया तालाब पर पहुॅचे तथा यहां करीब एक घण्टे से अधिक समय तक रुककर बारीकी से तालाब का निरीक्षण किया । निरीक्षण के दौरान नगर पालिका की टीम सीएमओ सविता प्रधान के नेतृत्व में उपलब्ध थी जिनके पास तालाब से जुडे दस्तावेज भी उपलब्ध थे, जिन्हें मौके पर देखा गया । बताया जाता है कि तालाब के निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्री पुष्प को बड़े स्तर पर अतिक्रमण देखने को भी मिला है जिसे चिन्हित किया गया है । हालांकि इस मामले में अभी तक अधिकृत कोई जानकारी नही मिल पाई है कि प्रशासन की टीम को कितना अतिक्रमण देखने को मिला है जोकि  आंकड़ो मे बयां किया जा सके ।
बड़ा मुद्दा रहा है तालाब का अतिक्रमण
जगजाहिर है कि पिछले वर्ष संपन्न हुए विधानसभा व हाल ही में कुछ माह पूर्व संपन्न हुए लोकसभा चुनावों में कांग्रेस ने बड़ी दमदारी और जोर -शोर से तेलिया तालाब के अवैध अतिक्रमण को मुखर होकर उठाया था । तालाब पर अतिक्रमण को लेकर जहां कांग्रेस से जुड़े नेता सुप्रीम कोर्ट भी पहुॅचे है । कांगे्रस नेता तथा समाजसेवी तरुण शर्मा ने बताया कि तकरीबन 200 बीघा से अधिक जमीन पर अवैध अतिक्रमण नेताओं तथा उनके गुर्गों के द्वारा किया गया है । प्रशासन तालाब के अतिक्रमण को प्रमुखता से लेकर उसे भूमाफियाओं से मुक्त कराना चाहता है तो जहां जहां अवैध भराव हुआ है उसे प्राथमिक तौर पर सबसे पहले हटाना चाहिये, साथ ही तालाब के अंदर जो गंदा पानी मिल रहा है उसे भी रोकने के प्रयास किये जाना चाहिये । प्रशासन तालाब के चारो ओर बाउण्ड­ीवाल तथा सड़क का निर्माण जिस क्षेत्र में नही है उस दिशा में कराये ताकि फिर कोई भूमाफिया तालाब की भूमि पर अतिक्रमण का प्रयास भी नही कर पाये । तालाब के अंदर बुगलिया , साबाखेड़ा, गुराडिया, मुल्तानपुरा ऐसी कई दिशा है जिन क्षेत्रों से होकर पानी की आवक होती है जोकि तालाब में पहुॅचती है लेकिन वहां भी भूमाफियाओं के द्वारा अतिक्रमण कर उस आवक को भी रोका गया है जो कि अतिक्रमण मुक्त होना चाहिये ।
आरोपी बाबु का मकान होगा जमींदोज
शहर के नूर कॉलोनी में स्थित अवैध मकान को पुलिस प्रशासन ने चिन्हित किया था जहां तीन दिन पूर्व नोटिस भी चस्पा किया गया था । नोटिस जारी होने के बाद से ही पुलिस प्रशासन ने मकान पर अपना ताला जड़ दिया था । जानकारी के अनुसार संभवतः पुलिस रविवार को उक्त मकान पर बुल्डोजर चला सकती है ।
नूरी कॉम्पलेक्स की दुकानेंहुई खाली
पुलिस के द्वारा शहर में जिस प्रकार से लगातार कार्यवाही की जा रही है जिसमें माफियाओं के बंगले तथा कॉम्पलेक्स को तोड़े जा रहे है इसको लेकर जहां शहर के एक तबके मेंखुशी देखी जा रही है वहीं व्यापारी भी दहशत में है । हाल ही में प्रशासन के द्वारा फरार तस्कर मोहम्मद शफी के  कब्जे वाले नूरी कॉम्पलेक्स की नपती कर कॉम्पलेक्स की जमीन जो कि भगवान पशुपतिनाथ मंदिर ट­स्ट को दान की गई थी उस पर अपना कब्जा किया है । जैसे ही प्रशासन ने जमीन पर पशुपतिनाथ मंदिर ट­स्ट का बोर्ड लगाया उसके बाद से ही इस कॉम्पलेक्स में व्यापार करने वाले व्यापारी भी डरे तथा सहमें हुए है ।  शनिवार को कई व्यापारियों ने कॉम्पलेक्स की दुकानों को लगभग खाली कर दिया है, व्यापारियों ने इन दुकानों से किमती तथा महत्वपूर्ण सामान हटा लिया है जबकि उतना ही सामान रखा है कि कार्यवाही के लिये प्रशासन की टीम पहुॅचे तो तत्काल घण्टे दो घण्टे के भीतर दुकान को पूरी खाली की जा सके । 
Chania