Monday, May 17th, 2021 Login Here
कोरोना के गंभीर रोगियों का उपचार सर्वसुविधायुक्त बड़े अस्पतालों में होना जरूरी पुलिस और डाक्टर की पकड़ में कोरोना से सुरक्षित आम आदमी लेकिन लापरवाह लोग बन रहे मुश्किल मंदसौर के मनोज ने कर दिया 200 रूपऐ में आॅक्सी फ्लो मीटर का निर्माण वायरल विडियों ने मंदसौर की दादी को बना दिया स्टाॅर मंदसौर जिला चिकित्सालय में अक्षय तृतीया से सीटी स्कैन मशीन से जांच होना हुई प्रारंभ वित्त मंत्री श्री देवड़ा के निर्देश पर गृह मंत्रालय ने मल्हारगढ़ ब्लॉक कोविड-19 आपदा प्रबंधक मैनेजमेंट कमेटी का गठन कलेक्टर द्वारा किया गया *शामगढ़ में 85 वर्ष के बूढे व्यक्ति का घर से मृत अवस्था मे मिला शव* खुशियों की दास्तां /मल्हारगढ़ कोविड केयर सेंटर से आज 3 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर गए प्रशासन ने मीटिंग बुलाकर ईद घर पर ही मनाने हेतु समझाइश दी । अपने अपने मोहल्ले मैं सख्ती से कर्फ्यू का पालन करवाना और दवाई वितरण करवाना हम सबकी जवाबदेही है: श्री पँवार *जिले में रक्त स्त्रोतम संस्थान द्वारा कराया गया पहला प्लाज्मा डोनेशन जनसारंगी --प्रसंगवश./ सर्वसमावेशी समाज के संस्थापक भगवान परशुराम. दो लाख खर्च होने के बाद भी नहीं बनी खाद, पिट बन गऐ डस्टबिन हॉटस्पॉट में बेखौफ चल रहीं सब्जी मंडी, लोगों की जमा हो रहीं भीड़ महामारी से निपटने आर्थिक सहयोग में आगे आ रहे नागरिक


    मोदी ने सोमवार को दिल्ली के कड़कड़डूमा में और मंगलवार को द्वारका में चुनावी रैली को संबोधित किया
    दिल्ली विधानसभा चुनाव के तहत 70 सीटों पर 8 फरवरी को मतदान होगा, नतीजे 11 फरवरी को आएंगे
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर द्वारका में हुई जनसभा में केजरीवाल सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा-दिल्ली में ऐसा नेतृत्व चाहिए जो सीएए, अनुच्छेद 370 जैसे राष्ट्रीय सुरक्षा के तमाम फैसलों पर देश का साथ देने वाला हो। ये लोग बाटला हाउस के आतंकियों के लिए रो सकते हैं, उनका साथ देने के लिए सुरक्षाबलों को कठघरे में खड़ा कर सकते हैं, लेकिन दिल्ली का विकास नहीं कर सकते हैं। उन्होंने कहा- सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक के बाद यहां की सरकार में बैठे लोगों ने कैसे बयान दिए थे याद है न? उन बयानों का गुस्सा है कि नहीं है? अगर गुस्सा है तो 8 तारीख को निकलना चाहिए कि नहीं, सजा मिलनी चाहिए कि नहीं?
रैली के दौरान मंच पर हरियाणा के उपमुख्यमंत्री और जननायक जनता पार्टी (जजपा) नेता दुष्यंत चौटाला भी मौजूद थे। हरियाणा में भाजपा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने जजपा के समर्थन से सरकार बनाई है। दिल्ली की 70 सीटों पर 8 फरवरी को मतदान होगा। नतीजे 11 फरवरी को आएंगे।
यहां एक बेदर्द सरकार बैठी है, जिसे आपकी परवाह नहीं- मोदी
    मोदी ने कहा- यहां एक बेदर्द सरकार बैठी है, जिसे आपकी परवाह नहीं है। दिल्ली के गरीबों का क्या गुनाह है, जो उन्हें 5 लाख रुपए तक मुफ्त इलाज की सुविधा देने वाली आयुष्मान योजना का लाभ नहीं मिलता। दिल्ली का कोई आदमी देश के किसी शहर में गया और वहां बीमार हो गया तो क्या मोहल्ला क्लीनिक वहां जाएगी? आयुष्मान भारत योजना से उसका मुफ्त में इलाज हो जाता।
    उन्होंने कहा- वोटिंग से पहले भाजपा के पक्ष में जो माहौल बन रहा है, वो कई लोगों की नींद उड़ा रहा है। नतीजे क्या आएंगे, यह पता चल रहा है। यह दशक का पहला चुनाव है, जिसके दिल में गरीब के लिए दर्द होगा, क्या वह गरीब को सरकार की योजनाओं से वंचित करेगा क्या? दिल्ली में मैं 5 साल से देख रहा हूं कि हर दिन गरीबों की भलाई के काम में रोड़े अटकाए जा रहे हैं।
    मोदी ने कहा- दिल्ली के बेघर लोगों का क्या अपराध है कि उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर नहीं मिलता है। आजादी के 70 साल बाद गरीब से गरीब लोगों को अपना और पक्का घर मिलना चाहिए कि नहीं? ऐसा कोई दल या नेता हो सकता है कि ऐसी योजना में भी रोड़े अटका दे। इतनी विकृत मानसिकता हो सकती है क्या? लोग देख रहे हैं कि कैसे दिल्ली में सिर्फ स्वार्थ की, नफरत की राजनीति की गई है।
    प्रधानमंत्री ने कहा- देश की राजधानी दिल्ली का विकास 21वीं सदी की अपेक्षाओं, आशाओं के मुताबिक होना पूरे देश के लिए आवश्यक है। ये तभी संभव हो सकता है जब नकारात्मकता की राजनीति खत्म हो। जब राजनीति के मूल में देशवासियों का हित हो, दिल्लीवासियों का हित हो। ये काम केंद्र में भाजपा की एनडीए की सरकार भलीभांति कर रही है।
    उन्होंने कहा- प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत जितने लोगों को लाभ मिला, उनकी संख्या अमेरिका की कुल आबादी से ज्यादा है। मुद्रा योजना के तहत हमारी सरकार ने जितना ऋण दिया है, वह ब्राजील की कुल जनसंख्या से भी ज्यादा है। स्वच्छ भारत के तहत जितने शौचालय बनाए उसकी संख्या मिस्र-इजिप्ट की कुल जनसंख्या से ज्यादा है। आवास योजना के तहत जितने घर दिए, वह श्रीलंका की कुल आबादी से ज्यादा है।
    मोदी ने कहा- इतनी बड़ी आबादी में इसी गति से काम हो सकता है। देश के साथ दिल्ली को भी इसी गति से काम की जरूरत है। यही वजह है कि दिल्ली के लोगों ने लोकसभा चुनाव के समय भाजपा पर विश्वास दिखाया। इसी विश्वास के कारण दिल्लीवाले सीना तानकर कह रहे हैं, देश बदला-अब दिल्ली बदलेंगे। दिल्ली को ऐसी सरकार भी चाहिए जो समय आने पर देश के पक्ष को मजबूत करे। वीर सैनिकों के साथ खड़ी हो।
    प्रधानमंत्री ने कहा- दिल्ली भाजपा के लोग इतने बड़े संकल्प लेते हैं तो मैं भी दिल्ली की रोटी खा रहा हूं ना। आपका नमक खाया है, मैं करके दिखाऊंगा। साथियों, दिल्ली में 21वीं सदी का आधुनिक से आधुनिक इन्फ्रास्ट्रक्चचर, ट्रांसपोर्ट सिस्टम हो। यहां के लोगों के पास सारी बुनियादी सुविधाएं मौजूद हों, स्वच्छ पानी हो और हवा हो...यह हमारी सरकार की प्राथमिकता है। हम जो संकल्प लेते हैं, उसे सिद्ध करते हैं।
    उन्होंने कहा- विकास के लिए संकल्प को सिद्ध करने का माद्दा चाहिए। अगर कोसने से ही काम चलता तो हमारी सरकार कड़े और बड़े फैसले ले पाती। दिल्ली के साथ क्या हुआ है? दिल्लीवाले जानते हैं, बाहर वाले नहीं जान सकते। दिल्ली की 1700 अवैध कॉलोनियों में 40 लाख लोगों को घरों के अधिकार को दिल्ली कैसे भूल सकता है। यहां के शासनवाले तो कोशिश में थे कि और एक-दो साल के लिए मामला टाल दिया जाए। रोड़े अटकाओ, झूठ फैलाओ, आशंकाएं भर दो... लेकिन ये मोदी है। ये भाजपा है, भाजपा का दम है।
Chania