Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,

भोपाल. भाजपा में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया पहली बार भोपाल पहुंचे। एयरपोर्ट पर बड़ी तादाद में भाजपा कार्यकर्ता और समर्थक सिंधिया के स्वागत के लिए पहुंचे। समर्थक अपने साथ ज्योतिरादित्य और उनके पिता माधवराव सिंधिया के पोस्टर भी लाए। सिंधिया एयरपोर्ट से भाजपा कार्यालय तक रोड शो कर रहे हैं। वे भाजपा कार्यालय में ही कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। इस बीच, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सिंधिया पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि सिंधिया अपने राजनीतिक भविष्य को लेकर डरे हुए थे और वे इसीलिए विचारधारा को जेब में रखकर आरएसएस के साथ चले गए।
भोपाल एयरपोर्ट से शुरू हुआ सिंधिया का रोड शो भाजपा कार्यालय पहुंचकर खत्म होगा। इस 20 किलोमीटर लंबे रोड शो के बाद सिंधिया भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। इसके बाद वे ग्वालियर-चंबल संभाग से आए अपने समर्थकों से मुलाकात करेंगे। रोड शो में कार्यकर्ताओं की भीड़ देखकर सिंधिया काफी खुश नजर आए। मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा- लोगों का स्नेह मेरी पूंजी है।
राहुल का ज्योतिरादित्य पर तंज
सिंधिया के कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने पर राहुल गांधी ने कहा, ''यह विचारधारा की लड़ाई है। एक तरफ कांग्रेस की विचारधारा है और दूसरी तरफ आरएसएस-भाजपा की विचारधारा है। ज्योतिरादित्य सिंधिया की विचारधारा मुझे पता है, लेकिन वे सियासी भविष्य को लेकर डरे हुए थे। वे मेरे मित्र हैं और मैं उनकी विचारधारा को जानता हूं। उन्होंने इसे अपनी जेब में रख लिया और आरएसएस के साथ चले गए। लेकिन, सच्चाई यह है कि वहां पर उन्हें न इज्जत मिलेगी, न ही उन्हें संतुष्टि मिलेगी। मेरी उनसे पुरानी दोस्ती है। सिंधिया जी के दिल में जो है, वो जुबान पर नहीं है।''
कांग्रेसियों ने सिंधिया के विरोध में नारे लगाए, पोस्टर भी फाड़ा
रोड शो के दौरान रोशनपुरा चौराहे पर जवाहर भवन के सामने कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सिंधिया के विरोध में नारेबाजी की। जवाहर भवन में जिला कांग्रेस का कार्यालय है। इससे पहले, गुरुवार सुबह सीएम हाउस के पास पॉलिटेक्निक चौराहे पर सिंधिया के स्वागत में लगे पोस्टरों पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने काला रंग डाल दिया और उन्हें फाड़ भी दिया। बताया जा रहा है कि सिंधिया का यह पोस्टर मुख्यमंत्री कमलनाथ के पोस्टर के ऊपर लगाया गया था।
भाजपा कार्यालय में लगाया गया माधवराव का फोटो
भाजपा कार्यालय में राजमाता विजियाराजे सिंधिया की प्रतिमा के पास ज्योतिरादित्य सिंधिया के पिता माधवराव सिंधिया का फोटो माल्यापर्ण के लिए रखा गया है। इसी स्थान पर कुशाभाऊ ठाकरे और पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा लगी हुई है। ज्योतिरादित्य सिंधिया का भोपाल में भाजपा कार्यालय पहुंचने के बाद सबसे पहले ज्योतिरादित्य का इन प्रतिमाओं और फोटो पर माल्यापर्ण का कार्यक्रम है।
शुक्रवार को राज्यसभा के लिए नामांकन करेंगे ज्योतिरादित्य
सिंधिया 13 मार्च को दोपहर 12 बजे भाजपा कार्यालय आएंगे। यहां महापुरुषों के चित्र पर माल्यार्पण करने के बाद राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने विधानसभा परिसर जाएंगे। नामांकन दाखिल करने के बाद यहां से उनका दिल्ली जाने का कार्यक्रम है।
दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया: भगवान उन्हें सलामत रखे
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया- भगवान से प्रार्थना करता हूं कि सिंधिया को भाजपा में सुरक्षित रखें। वहीं, राज्य के पूर्व गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा- सिंधिया का स्वागत याद रखा जाएगा। कमलनाथ सरकार सरकार अल्पमत में है, उन्हें इस्तीफा देना चाहिए। सदन में विश्वास प्रस्ताव का सवाल ही नहीं उठता। हम सरकार बनाएंगे और अपने घोषणापत्र के अनुसार अपने काम करेंगे।
Chania