Friday, May 7th, 2021 Login Here
रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित, चार महिने में नहीं बन पाया सवा दो सौ मीटर का नाला दूकान का शटर बंद लेकिन अंदर मिले ग्राहक हर दिन आॅक्सीजन आने का दावा लेकिन खत्म नहीं हो रहीं मारा-मारी *रजिस्ट्री की गाइड लाइन 30 जून तक यथावत* MP में 1 मई से शुरू नहीं होगा वैक्सीनेशन पार्ट-3:2.5 लाख डोज की पहली खेप 3 मई तक मिली तो 18+ लोगों को 5 मई से लगेगा टीका, 19 हजार लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन सोमली नदी को पार कर मंदसौर की तरफ आगे बढा चंबल का पानी

मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज शाम भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक करेंगे। मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज शाम भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक करेंगे।
    भाजपा की देर शाम बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत रणनीति बनाएंगे
    मुख्यमंत्री चाहते हैं कि मंत्रिमंडल विस्तार के बाद भी 6 से 8 पद रिक्त रखे जाएं, जिन्हें उपचुनाव के बाद भरा जा सकता है

भोपाल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पहले मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर ठोस चर्चा मंगलवार को होने जा रही है। देर शाम होने वाली बैठक में मुख्यमंत्री चौहान के अलावा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत मौजूद रहेंगे। इसमें संभावित नामों को अंतिम रूप देने के साथ प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे से बात करके पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा को जानकारी दी जाएगी। मुख्यमंत्री खुद दिल्ली जाकर बात कर सकते हैं। मुख्यमंत्री चाहते हैं कि मंत्रिमंडल विस्तार के बाद भी 6 से 8 पद रिक्त रखे जाएं, जिन्हें उपचुनाव के बाद भरा जा सकता है। इस बारे में केंद्रीय संगठन से बात करके अंतिम फैसला लिया जाएगा।

मंत्री पद के लिए दावेदार माने जाने वाले नेताओं का मुख्यमंत्री चौहान से मिलने का दौर जारी है। बैठकों के बीच, मुख्यमंत्री ने उन्हें संकेत दिया है कि 31 मई से पहले तक मंत्रिमंडल विस्तार हो सकता है, लेकिन इसके लिए भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा की सहमति की जरूरत पड़ेगी। माना जा रहा है कि मध्यप्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा इसकी पहल कर सकते हैं। पार्टी से संकेत मिलने के साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया गुट उपचुनाव की तैयारी में जुट गया है। अभी शिवराज कैबिनेट में सिंधिया गुट से तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत को ही मंत्री बनाया गया है।

भाजपा के सामने अपने लोगों की मैनेज करना बड़ी समस्या

सूत्रों का कहना है कि 22 से 24 कैबिनेट और राज्य मंत्री बनाए जाएंगे। सिंधिया गुट के 4 विधायकों और अपनी मर्जी से कांग्रेस से भाजपा में आए 3 विधायकों का मंत्री बनना तय है। भाजपा के सामने बड़ी मुश्किल यह है कि वह अपने लोगों के साथ किस तरह से समन्वय बैठाएगी। भाजपा में 40 से अधिक ऐसे नाम हैं जो मंत्री बनाए जाने की दावेदारी सामने रख चुके हैं। उन्होंने राज्य से लेकर दिल्ली तक अपनी बात पहुंचाई है। ऐसे हालात में मुख्यमंत्री और संगठन के सामने चेहरे तय करने को लेकर चुनौतियां बढ़ गई हैं। पार्टी सूत्रों का कहना है कि मंत्री पद के नए दावेदार में जिन्हें मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिलेगी, उन्हें पार्टी के प्रदेश निकाय में स्थान दिया जा सकता है। इसके अलावा सरकार के निगम-मंडलों, आयोग और बोर्ड में भी मंत्रिमंडल विस्तार के बाद तुरंत नियुक्तियों की घोषणा हो सकती है।

भाजपा से इन नामों पर चर्चा
भाजपा से मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले जिन नामों पर चर्चा चल रही है, उनमें भूपेंद्र सिंह, गोपाल भार्गव, रामपाल सिंह, यशोधरा राजे सिंधिया, अजय विश्नोई, गौरीशंकर बिसेन, संजय पाठक, विश्वास सारंग, अरविंद भदौरिया, विजय शाह, ओमप्रकाश सकलेचा, जगदीश देवड़ा, यशपाल सिंह सिसोदिया, हरिशंकर खटीक, प्रदीप लारिया, पारस जैन, रमेश मेंदोला, गोपीलाल जाटव, मोहन यादव और सुरेंद्र पटवा के नाम शामिल हैं।

सिंधिया खेमे के इनको मिल सकती है जगह
शिवराज कैबिनेट विस्तार में सिंधिया गुट से अब कुछ और चेहरे मंत्री बनाए जा सकते हैं। इसमें पूर्व मंत्री इमरती देवी, महेंद्र सिंह सिसोदिया, प्रद्युमन सिंह तोमर, प्रभुराम चौधरी शामिल हैं। इसके अलावा ऐंदल सिंह कंषाना, हरदीप सिंह डंग, बिसाहू लाल सिंह, राजवर्धन सिंह दत्तीगांव और रणवीर जाटव भी संभावितों में हैं।
Chania