Monday, May 17th, 2021 Login Here
कोरोना के गंभीर रोगियों का उपचार सर्वसुविधायुक्त बड़े अस्पतालों में होना जरूरी पुलिस और डाक्टर की पकड़ में कोरोना से सुरक्षित आम आदमी लेकिन लापरवाह लोग बन रहे मुश्किल मंदसौर के मनोज ने कर दिया 200 रूपऐ में आॅक्सी फ्लो मीटर का निर्माण वायरल विडियों ने मंदसौर की दादी को बना दिया स्टाॅर मंदसौर जिला चिकित्सालय में अक्षय तृतीया से सीटी स्कैन मशीन से जांच होना हुई प्रारंभ वित्त मंत्री श्री देवड़ा के निर्देश पर गृह मंत्रालय ने मल्हारगढ़ ब्लॉक कोविड-19 आपदा प्रबंधक मैनेजमेंट कमेटी का गठन कलेक्टर द्वारा किया गया *शामगढ़ में 85 वर्ष के बूढे व्यक्ति का घर से मृत अवस्था मे मिला शव* खुशियों की दास्तां /मल्हारगढ़ कोविड केयर सेंटर से आज 3 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर गए प्रशासन ने मीटिंग बुलाकर ईद घर पर ही मनाने हेतु समझाइश दी । अपने अपने मोहल्ले मैं सख्ती से कर्फ्यू का पालन करवाना और दवाई वितरण करवाना हम सबकी जवाबदेही है: श्री पँवार *जिले में रक्त स्त्रोतम संस्थान द्वारा कराया गया पहला प्लाज्मा डोनेशन जनसारंगी --प्रसंगवश./ सर्वसमावेशी समाज के संस्थापक भगवान परशुराम. दो लाख खर्च होने के बाद भी नहीं बनी खाद, पिट बन गऐ डस्टबिन हॉटस्पॉट में बेखौफ चल रहीं सब्जी मंडी, लोगों की जमा हो रहीं भीड़ महामारी से निपटने आर्थिक सहयोग में आगे आ रहे नागरिक

खेताखेडा निप्र। सर्दी का सीतम जारी जिले मे लगातार 3 दिन से शीतलहर ने अपना रोद्र रुप दिखा रही है 3 दिन से पड रहे पाले की वजह से जनजीवन पर असर पड रहा है। खास तौर पर शीतलहर का असर किसानो पर पड रहा, शीतलहर व पाला किसानो की फसल पर तेजाब का काम कर रहा है एक के बाद एक आपदा किसानो की जीविका को लील रही है ।
शीतलहर कि वजह से आमजन जीवन प्रभावित हो रहा वही मौसम मे आए परिवर्तन से दिन भर ठण्डी हवाए चल रही है ठण्ड से बचने के लिए लोग सुबह 9 बजे तक अलावा जला रहे है, ठण्ड से बचने के लिए लोग सबसे ज्यादा उनी वस्त्रो को पहन रहे है।  किसानो का कहना है कि सबसे ज्यादा ठण्ड इसी वर्ष है क्षेत्र के किसानो ने माना कि ऐसी शीतलहर पहले कभी नही देखी शितलहर की वजह से सबसे ज्यादा नुकसान धनिया , चने , रायडा व गेहूँ मे दिखाई दे रहा है किसानो के जीविका का एक मात्र स्त्रौत कृषी है किसान अपने सभी सपने खेती से जोड कर रखता है लेकिन प्राकृतिक आपदाएं किसानो के सपनो को पुरा नही होने दे रही ।  खेताखेडा के किसान 55 वर्षीय कनिराम पिता पुरालाल प्रजापत ने बताया कि 2 बिघे की फसल मे धनिये की फसल बोई थी, शितलहर की वजह से 2 बीघे की धनिये की फसल नष्ट हो गई है किसान कनिराम ने बताया कि कडाके की ठण्ड मे रात दिन एक कर फसल को बडा किया लेकिन शीतलहर की वजह से धनिया पुरी तरह नष्ट हो गया। ठण्ड  किसानो की फसलो पर काल बन कर आई है जिससे फसले बर्बाद हो रही है। किसान गोपाल प्रजापत ने बताया कि मंहगे भाव के चने खरिद कर बोए थे लेकिन शीतलहर की चपेट मे आने से 5 बीघे की चने की फसल नष्ट हो गई है। वही प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान से किसानो ने शासन प्रशासन से मुआवजा की मांग की है शीतलहर से हुए नुकसान मे किसानो को आर्थिक नुकसान उठाना पड सकता है।
रबी फसलों को भारी नुकसान
भानपुरा निप्र। भानपुरा क्षेत्र में पिछले 2 दिनों से कड़ाके की सर्दी गिर रही है दो दिनों से रात में जोरदार पाला गिरा इससे रबी फसलों को भारी नुकसान हुआ है।  धनिये अफीम चने की फसल प्रभावित हुयी धनिये की फसल जल गई है तहसील के गांव कुंतलखेड़ी, सांतलखैड़ी, हरनावदा, परोनिया, लेदी, बोरदा, ढाबला, सानडा, कालाकोट, लोटखेड़ी, बाबुल्दा, दुधाखेड़ी सहित तहसील के अधिकाश गांवों में पाला गिरने से जहां धनिये की फसल जल गई वहीं अफीम के पोधे भी क्षतिग्रस्त हुये है किसानों का कहना है इससे अफीम में काली मिस्सी का रोग लगेगा जिससे उत्पादन प्रभावित होगा। फसलों पर बर्फ जम जाने से पुरे क्षेत्र में फसलों में नुकसान की खबर है खेतों में बर्फ की चादर सी बिछ गई थी किसान उमरावसिंह चौहान, मुकन्दलाल धाकड़, देवीसिंह चौहान, मदनलाल रावत, पुरीलाल गायरी, केशुराम प्रजापति, बद्रीलाल पाटभ्दार, उदेराम मीणा सहित कहीं किसानों ने शीतलहर से फसलों को भारी नुकसान की आशंका जताई किसानों ने पाले से क्षतिग्रस्त फसलों का सर्वे करने की मांग की।

Chania