Monday, May 17th, 2021 Login Here
कोरोना के गंभीर रोगियों का उपचार सर्वसुविधायुक्त बड़े अस्पतालों में होना जरूरी पुलिस और डाक्टर की पकड़ में कोरोना से सुरक्षित आम आदमी लेकिन लापरवाह लोग बन रहे मुश्किल मंदसौर के मनोज ने कर दिया 200 रूपऐ में आॅक्सी फ्लो मीटर का निर्माण वायरल विडियों ने मंदसौर की दादी को बना दिया स्टाॅर मंदसौर जिला चिकित्सालय में अक्षय तृतीया से सीटी स्कैन मशीन से जांच होना हुई प्रारंभ वित्त मंत्री श्री देवड़ा के निर्देश पर गृह मंत्रालय ने मल्हारगढ़ ब्लॉक कोविड-19 आपदा प्रबंधक मैनेजमेंट कमेटी का गठन कलेक्टर द्वारा किया गया *शामगढ़ में 85 वर्ष के बूढे व्यक्ति का घर से मृत अवस्था मे मिला शव* खुशियों की दास्तां /मल्हारगढ़ कोविड केयर सेंटर से आज 3 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर गए प्रशासन ने मीटिंग बुलाकर ईद घर पर ही मनाने हेतु समझाइश दी । अपने अपने मोहल्ले मैं सख्ती से कर्फ्यू का पालन करवाना और दवाई वितरण करवाना हम सबकी जवाबदेही है: श्री पँवार *जिले में रक्त स्त्रोतम संस्थान द्वारा कराया गया पहला प्लाज्मा डोनेशन जनसारंगी --प्रसंगवश./ सर्वसमावेशी समाज के संस्थापक भगवान परशुराम. दो लाख खर्च होने के बाद भी नहीं बनी खाद, पिट बन गऐ डस्टबिन हॉटस्पॉट में बेखौफ चल रहीं सब्जी मंडी, लोगों की जमा हो रहीं भीड़ महामारी से निपटने आर्थिक सहयोग में आगे आ रहे नागरिक

कई लोगों ने घरों में किया विसर्जन, नगर पालिका ने की विशेष व्यवस्थाएं
मंदसौर 10 दिवसीय गणेश उत्सव का मंगलवार को गणपति भगवान की प्रतिमाओं के विसर्जन के साथ ही समापन हुआ इस बार ना ढोल नगाड़े बजे और ना ही गणपति बप्पा मोरिया के जयघोष सुनाई दिए अधिकांश लोगों ने पूरे विधि विधान के साथ अपने घर पर ही प्रतिमाओं का विसर्जन किया प्रतिमा विसर्जन के लिए नगर पालिका ने भी विशेष व्यवस्थाएं की हुई थी। करीब 20 जगहों पर विशेष स्टॉल लगाकर प्रतिमा एकत्र की गई और उन्हें विसर्जन किया गया।

प्रतिवर्ष अनंत चतुर्दशी के पर्व पर सुबह से ही गणपति बप्पा मोरिया अगले बरस तू जल्दी आ के जय घोष लगने लगते हैं युवाओं और बच्चों की टोलियां ढोल धमाकों के साथ प्रतिमा विसर्जन के लिए निकलती है गुलाल होती है लेकिन इस बार को रोना संकट के कारण ऐसा कुछ भी नहीं हुआ पूरे दिन बाजार में पूरी तरह से सन्नाटा पसरा रहा श्रद्धालुओं ने विधि विधान के साथ अपने घरों में ही मिट्टी की प्रतिमाओं को विसर्जित किया और मिट्टी को गमले में स्थापित कर दी ताकि वर्षभर भगवान का आशीर्वाद पौधे की उन्नति के रूप में उन्हें मिलता रहे इसके अलावा पीओपी की प्रतिमाओं को विसर्जन करने के लिए नगर पालिका द्वारा घंटाघर बस स्टैंड रेलवे स्टेशन रोड अफीम गोदाम सहित शहर में 20 जगहों पर विशेष कैंप लगाए गए थे जहां पर प्रतिमाओं को एकत्रित किया गया और उन्हें विधि पूर्वक जल में विसर्जित किया गया। कोरोना संकट के कारण इस बार सारे त्यौहार की रंगत फीकी हो गई है उसमें 10 दिवसीय गणेश उत्सव की शामिल हो गया पूरे 10 दिनों तक कहीं भी गणपति देव की भक्ति की आवाज नहीं सुनाई दी और ना ही कोई पांडाल सजे अनंत चतुर्दशी के दिन भी पूरी रात मंदसौर में झिलमिलाती झांकियों का रतजगा होता है लेकिन इस बार झांकियां भी नहीं निकल पाई।ऐसा छप्पन साल में पहली बार हुआ कि झांकिया नहीं निकली। बताया जाता है कि अत्यधिक वर्षा के कारण पहली बार 1975 में दूसरी बार 2011 में तथा तीसरी बार 2018 में अनंत चतुर्दशी का चल समारोह दूसरे दिन निकाला गया था। कभी दूसरे दिन भी अधिक वर्षा होने पर चल समारोह प्रारंभ कर झांकियां अपने निर्धारित स्थान पर खड़ी रहीं। मूर्ति विसर्जन हमेशा परंपरा अनुसार किया जा रहा है। चल समारोह के स्वागत के लिए 100 से अधिक संस्थाएं जलपान व स्वल्पाहार की व्यवस्था करती हैं।

Chania