Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,



भाजपा प्रत्याशी डंग वाहे गुरू और कांग्रेस प्रत्याशी पाटीदार बालाजी के दरबार में पहुंचे
सुवासरा/शामगढ़ जनसारंगी।

प्रदेश की 28 सीटों के साथ ही मंदसौर जिले की सुवासरा विधानसभा सीट पर भी मंगलवार को मतदान हुआ जिसमें रिकार्ड वोटिंग हुई। जिसमें शाम 6 बजे तक 82.61 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। कुल 2 लाख 60 हजार 554 मतदाताओं में से 2 लाख 15 हजार 256 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया इसमें से 1 लाख 33 हजार पुरूषों में से 1 लाख 14 हजार 115 पुरूषों तथा 1 लाख 27 हजार 148 महिलाओं में से 1 लाख 1 हजार 138 महिलाओं ने मतदान किया। यानी 85.54 प्रतिशत पुरूष और 79.54 महिलाओं ने मतदान किया।  उपचुनाव को लेकर मतदाताओं से उत्साह से भाग लिया।  और सभी उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला ईवीएम में कैद कर दिया। अब 10 नवम्बर को मंदसौर के शासकीय स्नात्कोत्तर महाविघालय में मतगणना होगी और इसी दिन परिणाम घोषित कर दिए जायेगे। उधर मतदान शुरू होते ही सुबह से ही मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं की लंबी कतारे लगी हुई है। 7बजे एक साथ सभी मतदान केन्द्रों पर मतदान शुरू हुआ और सुबह 9 बजे तक साढ़े 13 प्रतिशत और दोपहर 3 बजे तक  70.97 प्रतिशत तथा शाम 5 बजे क 79.97 प्रतिशत मतदान हो चूका था। पहली बार मतदान करने वालों से लेकर महिला, पुरूषों और शतायू मतदाताओं ने भी उत्साह से मतदान केन्द्र पहुंचकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया। चुनाव आयोग ने विधानसभा में 303 मुख्य मतदान केन्द्र तथा 85 सहायक मतदान केन्द्र बनाए थे सभी जगह मतदान पूरी तरह से शांतिपूर्ण रहा। रतलाम रैंज के डीआईजी सुशांत सक्सैना, कलेक्टर एवं निर्वाचन अधिकारी मनोज पुष्प, पुलिस अधीक्षक सिद्दार्थ चौधरी लगातार एक-एक पौलिंग बुथ पर घूम कर व्यवस्थाओं का जायजा लेते रहे। मतदान शुरू होने से पहले भाजपा प्रत्याशी हरदीपसिंह डंग  ने गुरू द्वारे पहुंचकर वाहे गुरू का आर्शीवाद लिया तथा कांग्रेस प्रत्याशी राकेश पाटीदार ने बालाजी की शरण पहुंचकर आर्शीवाद लिया।
मंगलवार की सुबह 7 बजे सभी मतदान केन्द्रों पर एक साथ मतदान शुरू हुआ  सभी मतदान केंद्रों पर कोविड-19 के नियमों का पालन करवाते हुए जो भी मतदाता आ रहे थे उनके साबुन से हाथ धुलाए, उनको मास्क तथा गलब्स दिया  और पूरी तरह सेनेटाइज करने के बाद मतदान केन्द्र में प्रवेश दिया गया। इन सभी व्यवस्थाओं को देखकर मतदाता बहुत खुश थे और  खुशी-खुशी मतदान कर रहे थे। आज मतदान केन्द्रों पर जिस तरह से कतारे लग रहीं थी उससे साफ था विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र को मजबूत करने में कोई भी वर्ग आज के समय में पीछे नहीं है। लोकतंत्र को मजबूत करने में महिला हो या पुरुष या हो दिव्यांग या हो थर्ड जेंडर कोई भी पीछे नहीं है। सब चाहते हैं कि देश का लोकतंत्र बहुत ही मजबूत बने। इसका उदाहरण आज इन्होंने मतदान केंद्रों पर लंबी लाइन में लगकर अपनी बारी का इंतजार करके जाहीर कर दिया। लोकतंत्र की गाड़ी के दूसरे पहिए ने अपनी जिम्मेदारी निभायी मतदान में सहभागिता के मामले में वे महिलाएं भी पुरुषों से पीछे नही रहीं। कई मतदान केंद्रों में तो महिला मतदाताओं की कतार पुरुष मतदाताओं की कतार से भी लम्बी। हर आयु वर्ग की महिलाओं, शहरी व ग्रामीण, युवा मतदाता सभी श्रेणियों में महिला मतदाताओं की उपस्थिति दिखी। प्रात: 7 बजे से ही मतदान केंद्रों में लम्बी कतारें दिख रही।

बूजुर्गो ने भी उत्साह से किया मतदान
उपचुनाव में पहली बार मतदान करने वालों से लेकर शतायू मतदाताओं तक ने उत्साह से मतदान किया। शामगढ़ में  75 वर्षिय बुजुर्ग केशरीमल खाती पटेल उम्र  निवासी वार्ड नम्बर 01 ने आज शनि मंदिर के पास स्थित छात्रावास के सामने शासकीय बालक माध्यमिक विद्यालय में स्थित मतदान केंद्र पर मतदान किया।उनके साथ ही कई वृध्द मतदाताओं ने भी उत्साह के साथ मतदान किया। बुजूर्गो की मदद के लिए मतदान केन्द्र पर तैनात पुलिस कर्मी भी बराबर सहयोग कर रहे थे जिसके कारण बुजूगों को और आसानी हो गई थी। पुलिसकर्मी मतदान केंद्र के बाहर से ही  हाथ पकड़ लेती है तथा मतदान कक्ष तक ले जाती हैं, इस वजह से मतदान करने में बहुत आसानी होती है। मतदान करने के बाद ससम्मान तरीके से फोर्स हमें मतदान कक्ष से बाहर तक छोड़ती है। मतदान कक्ष में बैठने के लिए सोफे, कुर्सियां की व्यवस्था की गई है। अगर प्यास लगती है, तो इसके लिए शुध्द पेयजल की भी व्यवस्था की जा रहा है। वही छाव के लिए टेंट की व्यवस्था है एवं गर्मी लगे इसके लिए बेहतर पंखे की व्यवस्था भी की गई है।

दिव्यांगों ने  व्हील चेयर के सहारे सुगमता से किया मतदान

मतदान के प्रति दिव्यांग मतदाताओं में भी उत्साह बरकरार था। चुनाव से पहले ही मतदान दलों ने दिव्यांग मतदाताओं को चिन्हित कर लिया था उनके लिए व्हील चेयर की व्यवस्था की गई ताकी उन्हें मतदान करने जाने में किसी तरह की दिक्कत नहीं आए। दिव्यांग मतदाता कालू सिंह एवं  लाल सिंह कांटिया स्थित मतदान केन्द्र पर पहुंचे जहां उन्होंने पूरी व्हील चेयर की सहायता से सहजता से मतदान कर दिया । श्री कालू का कहना है कि मतदान केंद्र पर व्हील चेयर की सुविधाएं मिली वहां पर सहायता करने के लिए सहायक मिले। जिससे हम आसानी से मतदान कर सके।

बैठने की व्यवस्था से लेकर बच्चों के खेलकूद की भी थी व्यवस्था
आदर्श मतदान केंद्रों की माध्यम से मतदाताओं की मतदान के प्रति रूचि बड़ी थी, यहां मतदाताओं को कतारों में खड़ा नहीं होना पडा बल्कि उनके बैठने के लिए सौफे लगाए गये थे, धूप से बचने के लिए टेंट लगा था  पानी की व्यवस्था की गई हैं। जिसे देखकर मतदाता खुश दिखाई दे रहे थे । सुवासरा विधानसभा ं में 11 आदर्श मतदान केन्द्र स्थापित किये गये थे। इन मतदान केन्द्रों पर मतदाताओ के लिए टेंट में कुर्सियां, पेयजल, शौचालय व्यवस्था के साथ साथ बच्चों के लिए खेलकूद व्यवस्था भी की गयी।
व्यवस्थाऐ देखकर खुश हो गई कुसुम
 सुवासरा विधानसभा के मतदान क्रमांक 271 पर जब कुसुम अपने बच्चे के साथ मतदान करने पहुंची तो वहां पर आंचल घर की व्यवस्थाओं को देखकर बहुत ही प्रसन्न हुई। जब उनसे बात की तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। वे इतनी खुश थी कि कुछ बताने से पहले ही मुस्कुरा रही थी। आंचल घर में उनके बच्चे को रखने के लिए आंगनवाड़ी सहायिका, खिलौने, झूला घर, पालना सभी प्रकार की व्यवस्था थी। जिससे उनको मतदान करने में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ा। यह बताती है कि हमने पहले भी मतदान किए, लेकिन उनमें इस प्रकार की सुविधाएं कभी नहीं मिली।     

परशुराम को थाने पर बिठाया, सेठिया को जाने के लिए कहा
शांतिपूर्ण तरीके से मतदान संपन्न हुआ। किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए पुलिस और अतिरिक्त फोर्स पहले ही तैनात था। कांग्रेस नेता और मल्हारगढ विस चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रहे परशुराम सिसौदिया द्वारा आचार संहिता उल्लंघन की बात सामने आई। इसके बाद अधिकारियों ने इसे गंभीरता से लिया। बाद में परशुराम सिसौदिया को थाने लाया गया। हालांकि समाचार लिखे जाने तक कोई मामला दर्ज नहीं किया गया था।वहीं भाजपा के गरोठ मंडल अध्यक्ष राजेश सेठिया भी शामगढ़ में वार्ड 6 कन्याशाला आदर्श मतदान केंद्र पर देखे गऐ हालांकि वहां उनकी ससुराल बताई जा रहीं है लेकिन पुलिस ने उन्हें समझाईश दी ओर क्षेत्र से बाहर जाने के लिए कहा।

मतदाताओं का उत्साह बढाने में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने निभाई भूमिका
 लोकतंत्र के महापर्व को हर्ष उल्लास एवं उत्साह से मनाने की बात कहे तो सभी मतदाताओं के जहन में एक बात आती है आखिर इतना उत्साह दिखा कहाँ से, और इस सवाल का जवाब देने में उन्हें तनिक भी संदेह एवं समय नही लगा, जवाब था ऑंगनवाड़ी दीदी की वजह से। जिला प्रशासन के मतदाता जागरूकता अभियान में सक्रिय भूमिका निभाकर घर घर जाकर मतदान करने का संदेश देना आमंत्रण देना सभी दायित्वों में पूरे मनोयोग से प्रयास करने के बाद मतदान दिवस के दिन इन ऑंगनवाड़ी एवं सहायिका दीदियों ने मतदाताओं को सहज मतदान की सुविधा प्रदान करने में कोई कसर बाकी नही रखी। गर्भवती महिलाओं कि चिन्हांकन कर उन्हें सकुशल मतदान केंद्र लाना, नन्हें बच्चों की झुलाघर में देखभाल करना ताकि उनकी माताएँ निश्चिन्त होकर मतदान कर सकें। दिव्यांग मतदाताओं की सहायता करना इसके साथ ही पेयजल की व्यवस्था करने में पूरी निष्ठा के साथ लगी हुई इन महिलाओं के प्रयास की जिला प्रशासन के साथ मतदाताओं ने सराहना की।

चुनाव होते ही कॉलेज में लगा मेला
मंदसौर जनसारंगी।
सुवासरा विधानसभा में शाम 6 बजते ही मतदान थम गया। इसके बाद पहले से ही मतदान केन्द्र की कतार में मतदाताओं को ही वोट डालने की अनुमति दी गई । मतदान समाप्त होने के बाद ईवीएम मशीने सील कर उन्हें मंदसौर मतगणना स्थल शासकीय स्नात्कोत्तर महाविघालय में लाना शुरू हो गया था जिसके कारण महाविघालय में मेले जैसे माहौल बन गया था। इससे पहले यातायात पुलिस ने भी पुख्ता व्यवस्थाऐ की थी। शााम साढ़े 5 बजे से श्रीकोल्ड से महाविघालय और उससे आगे जैन कॉलेज तक पूरी तरह  नो व्हीकल झोन बना दिया गया था। जिसके कारण श्री कोल्ड से महाविघालय की तरफ जाने वालें वाहनों को किटियानी, जैन कॉलेज तिरोहे की तरफ से जाने दिया गया। आने वाले वाहनों को भी इसी मार्ग से प्रवेश दिया गया। केवल चुनाव में उपयोग आने वाले वाहनों को ही नो इंट­ी झोन में प्रवेश दिया गया।

बिना विवाद, शांतिपूर्ण हुआ चुनाव
सुवासरा में सबसे ज्यादा मतदान हुआ हैं। कोरोना ने चुनाव को ज्यादा चुनौतीपूर्ण बना दिया था लेकिन चुनाव आयोग के मार्गदर्शन में इसे बखूबी निभाया हैं।मंदसौर की पूरी टीम, जनप्रतिनिधी, मीडिया के सहयोग से बहुत अच्छा चुनाव हुआ है बिना किसी विवाद के पूरी तरह से शांतिपूर्ण मतदान हुआ है। मतदान सम्पन्न होते ही ईवीएम को पूरी सुरक्षा के साथ स्ट­ांग रूम तक लेकर आ रहे है देर रात तक सिलिंग का काम पूरा होगा।
मनोज पुष्प, कलेक्टर
थ्रीलेयर होगी स्ट­ांग रूम की सुरक्षा
कोविड के दौरान उपचुनाव चुनौतीपूर्ण कार्य था किन्तु प्रशासन ने जनता के सहयोग से बेहतरीन व्यवस्थाए की गई। मतदान केन्द्र पर प्रत्येक मतदाता की स् क्रीनिंग भी की गई किसी का भी तापमान भी बढा हुआ पाया गया हैं। इससे साफ है कि कोरोना भी नियंत्रण में हैं। शांतिपूर्ण चुनाव के लिए जनता और पुलिस टीम  का सहयोग सराहनिय है। स्ट­ांग रूम की थ्रीलेयर सुरक्षा की है इसके अलावा सीसीटीवी कैमरों से भी निगरानी रखी जा रहीं हैं।
सिद्दार्थ चौधरी, पुलिस अधीक्षक

बंपर मतदान ने सबकों चौकाया
मंदसौर जनसारंगी।
सुवासरा उपचुनाव में मतदान ने एक नया रिकार्ड बनाया है । 82.61 प्रतिशत मतदान  को इतिहास का सबसे ज्यादा मतदान बताया जा रहा है। इससे पहले 2008 के विधानसभा चुनाव में 76.2 प्रतिशत,2013 में 80.06 प्रतिशत और 2018 में 81.48 प्रतिशत मतदान हुआ था। उपचुनाव में पिछली बार से करीब डेढ़ प्रतिशत अधिक हुआ है। अब इस बम्पर मतदान के बाद भाजपा और कांग्रेस दोनो की ही धडकने  बडा दी है। बडा सवाल यह उठ रहा है कि बडा हुआ मतदान किसके पक्ष में जाएगा? रिर्काड मतदान मतदाताओं का आक्रोश है या फिर उत्साह इसकों लेकर राजनीति के पंडित कयास लगा रहे है।
सुबह 7 बजे जैसे ही मतदान शुरू हुआ हर घंटे मतदान का प्रतिशत बडता रहा। सुबह 9 बजे तक 13.69 प्रतिशत मतदान हो गया था जबकी दोपहर 3 बजे तक 79.97 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाल दिए थे और शाम 6 बजे तक यह आंकडा 82.61 प्रतिशत को छूं गया।
ऐसे बड़ा मतदान
समय        मतदान प्रतिशत
सुबह 9 बजे    13.69
सुबह 11 बजे    35.38
दोपहर 1 बजे    55.91
दोपहर 3 बजे    70.97
शाम 5 बजे        79.97
शाम 6 बजे        82.61




Chania