Friday, May 7th, 2021 Login Here
रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित, चार महिने में नहीं बन पाया सवा दो सौ मीटर का नाला दूकान का शटर बंद लेकिन अंदर मिले ग्राहक हर दिन आॅक्सीजन आने का दावा लेकिन खत्म नहीं हो रहीं मारा-मारी *रजिस्ट्री की गाइड लाइन 30 जून तक यथावत* MP में 1 मई से शुरू नहीं होगा वैक्सीनेशन पार्ट-3:2.5 लाख डोज की पहली खेप 3 मई तक मिली तो 18+ लोगों को 5 मई से लगेगा टीका, 19 हजार लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन सोमली नदी को पार कर मंदसौर की तरफ आगे बढा चंबल का पानी

 जिस मंदसौर के किसान आंदोलन वाले मुद्दे को लेकर पूरे प्रदेश में कांग्रेस ने विजयीश्री प्राप्त की उसी मंदसौर संसदीय क्षेत्र की 8 में से 7 सीटों पर भाजपा चुनाव जीत गई बावजुद इसके मंदसौर जिलें की कांग्रेस ने गुटीय राजनीति कम नही हो रही, हालत यह है कि शुक्रवार को चर्चा के लिए पूर्व सांसद मिनाक्षी नटराजन ने बैठक बुलाई जिसमें मल्हारगढ़ क्षेत्र के दो कांग्रेस नेताओं के समर्थक आपस में जमकर भीड़ लिये उनके बीच मारपीट तक हो गई हालाकि बाद में नटराजन ने समझाईश देकर मामलें को शांत कर दिया ।
शुक्रवार को पूर्व सांसद मिनाक्षी नटराजन मंदसौर पहुंची जिला कांग्रेस गांधी भवन पर उन्होने जिलें भर के कार्यकर्ताओं से चुनाव की हार को लेकर और आगामी चुनावों की रणनीति को लेकर चर्चा प्रारंभ की । चर्चा चल ही रही थी कि अचानक बैठक में हाहाकार मच गया पता लगा कि मल्हारगढ़ क्षेत्र से चुनाव लड़ चुके श्यामलाल जोकचंद और हाल ही में चुनाव लड़कर हारे परशुराम सिसौदिया के समर्थक आपस में भीड़ लिए उनका आरोप था कि भीतरघात के चलते कांग्रेस को पराजय का मुंह देखना पड़ा । बताया जाता है कि इस बैठक के दौरान जोकचंद के समर्थक अजय नगरिया को परशुराम सिसौदिया के समर्थक ने पीट दिया हालाकि नगरिया ने बाद मे कहा कि मुझे पीछे से आकर किसी ने मारा है इसलिए में उसे नही जानता जबकि प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार घटना के बाद पूर्व सांसद नटराजन ने दोनों पक्षों से चर्चा की और उन्हें समझाकर मामलें को शांत कर दिया ।

Chania