Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,

सभी जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक शनिवार को होगी, स्थानीय परिस्थितियों के हिसाब से बाजार बंद करने या कर्फ्यू को लेकर कलेक्टर लेंगे निर्णय। मास्क नहीं पहनने वालों को देना होगा जुर्माना
भोपाल।  भोपाल ,इंदौर,ग्वालियर,विदिशा और रतलाम शनिवार 21 नवंबर की रात 10 बजे से सुबह छह बजे तक रात्रिकालीन कर्फ्यू रहेगा।जब तक कोरोना के केस कम नहीं होते हैं,तब तक यह कर्फ्यू जारी रहेगा। इस दौरान भारी वाहनों की आवाजाही जारी रहेगी।फैक्ट्री में काम करने वाले वर्कर आ जा सकेंगे। कक्षा 1 से 8 तक स्कूल बंद रहेंगे। नवमीं से 12 वीं तक के छात्र मार्गदर्शन के लिए स्कूल जा सकेंगे। कॉलेज बंद रहेंगे। सिनेमाघर अभी भी पहले की तरह ही 50 फीसद की क्षमता के साथ खुलेंगे।
ये फैसला मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को कोरोना की समीक्षा की बैठक में लिया। मुख्यमंत्री ने कहा,लॉकडाउन नहीं लगाया जा सहा है। लेकिन हर जिले में छोटे कंटेनमेंट क्षेत्र बनाकर गंभीर स्थिति वाले क्षेत्रों में सावधानी बढ़ाई जा सकती है। इस बारे में निर्णय जिला आपदा प्रबंधन समूह के साथ चर्चा के बाद ही लिया जाएगा। भोपाल-इंदौर में तेजी से कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से कलेक्टर और कमिश्नरों से फीडबैक लिया।
उन्होंने कहा कि कोरोना संकट का देश और प्रदेश की अर्थव्यवस्था पर बुरा प्रभाव पड़ा है। धीरे-धीरे छूट का दायरा बढ़ाकर आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाया गया है। अब इन्हें फिर बंद करके आर्थिक गतिविधियों को प्रभावित नहीं किया जा सकता है, इसलिए दोबारा लॉकडाउन नहीं किया जाएगा। न तो परिवहन पर कोई रोक लगाई जाएगी और न ही औद्योगिक इकाइयों पर कोई बंधन रहेगा। हालांकि, यह भी देखना होगा कि कोरोना फिर से पैर न पसार सके। इसके लिए सख्ती के साथ सावधानियां बरतनी होंगी। असावधानियां बढ़ी हैं।
होंगी आपदा प्रबंधन समूह की बैठकें
मुख्यमंत्री ने कलेक्टरों को निर्देश दिए कि शनिवार को जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक की जाएं। इसमें स्थिति की समीक्षा करने के साथ 22 नवंबर तक विवाह और सामाजिक कार्यक्रमों में उपस्थिति की अधिकतम सीमा तय करने के साथ कंटेनमेंट जोन बनाने के प्रस्ताव शासन को भेजेंगे। कंटेनमेंट जोने को छोड़कर कभी भी लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा।
मास्क की अनिवार्यता को लेकर होगी सख्ती
बैठक में मुख्यमंत्री ने बताया कि जब तक कोरोना की दवा नहीं आ जाती है तब तक मास्क ही वैक्सीन है। संक्रमण से बचाव के लिए यह सबसे कारगर उपाय है। इसको लेकर लापरवाही बरतने पर जुर्माना लगाया जाएगा। कलेक्टर इसको लेकर अभियान चलाएं।
भोपाल और जबलपुर में कर्फ्यू की फैली अफवाह
उधर, विभिन्न् वाटसएप ग्रुप पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें वे भोपाल और जबलपुर में कोरोना संक्रमण बढ़ने की वजह से कर्फ्यू लगाने की बात कह रहे हैं। तेजी से वायरल हुआ यह वीडियो 24 मार्च का था, जब भोपाल और जबलपुर में कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया गया था। मुख्यमंत्री के अधिकारिक ट्वीट पर इसका खंडन करते हुए वर्तमान परिपेक्ष्य में इसे पूरी तरह अप्रासंगिक बताया।
कोरोना संक्रमण के आंकड़े भयावह हैं
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने कोरोना संक्रमण बढ़ने पर चिंता जाहिर करते हुए सरकार से जनता के स्वास्थ्य व सुरक्षा को लेकर तत्काल आवश्यक कदम उठाने की मांग की। उन्होंने ट्वीट कर कहा कोरोना संक्रमण के आंकड़े एक बार फिर भयावह हो रहे हैं। जांच से लेकर अस्पतालों में बिस्तर और इलाज की समुचित व्यवस्था की जाए। कोरोना गाइडलाइन व नियमों के पालन के लिए सभी जरूरी निर्णय लिए जाएं।
 93 फीसद है स्वस्थ होने की दर
बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी जिले में ऑक्सीजन की कमी न हो और जांच भी पूरी क्षमता के साथ हो। अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश एक्टिव रोगियों की संख्या के मामले में देश में 15वें स्थान पर है। कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर 93 फीसद है। 15 हजार जांच प्रतिदिन हो रही है।
मुख्यमंत्री की अपील,मास्क जरूर लगाएं
इस सप्ताह कोरोना संक्रमित केसों की संख्या बढ़ी है। कोरोना हम सबको संकट में डाल देगा।मेरी आपसे प्रार्थना है कि कोरोना से बचने के लिए मुह पर मास्क जरूर लगाएं। मास्क लगाने में ढिलाई बरती तो जुर्माना लगेगा। सुरक्षित शारीरिक दूरी का पालन जरूर करें । बाजार में भीड़ न हो,दुकानदार इस बात का ध्यान रखें। सावधानी में ही सुरक्षा है।
शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री मप्र
Chania