Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,

मंदसौर से खरीदा था मावा, पहले भी पकड़ा जा चूका है दुषित मावा
कलेक्टर पहुंचे अधिकारियों की टीम के साथ मौके पर
टकरावत  जनसारंगी पंकज जैन ।

मन्नत के लड्डु खाते ही ग्राम डोडिया मीणा में कई लोग बीमार हो गए । बिमार होने वालों की संख्या 25 से ज्यादा बताई जा रहीं है इनमें बच्चें भी शामिल है। समारोह में बड़ी संख्या में लोग जूटे थे, मावे के बने ल ड्डु खाते ही  लोगों का घबराहहटा और उल्टी की शिकायत होने लगी लेकिन जिन लोगों ने लड्डु नहीं खाऐ थे केवल दाल,बाटी और चावल खाएं थे वे पूरी तरह से स्वस्थ्य है। उधर घटना को लेकर क्षेत्रिय विधायक एवं प्रदेश के वित्त मंत्री जगदीश देवडा ने कलेक्टर से जानकारी लेकर आवश्यक निदर्ेश दिए जिसके बाद शाम को कलेक्टर मनोज पुष्प भी ग्राम डोडिया मीणा पहुंचे  और पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली।
जानकारी के मुताबिक ग्राम डोडिया मीणा में समरथ पिता बद्रीलाल मीणा के पुत्र के मुण्डन और परिवार की युवती का गौना(विदाई) का आयोजन था जिसमें रिश्तेदार और गांव के लोग शामिल हुए थे। सुबह भोजन में दाल, बाटी, मावे के लड्डु और चावल बने थे। सभी ने भोजन किया लेकिन जिन लोगों ने मावे के लड्डु खाऐ वे भोजन करने के थोड़ी ही देर बाद बीमार हो गए। बताया जाता है कि लड्डू खाने वाले लोगों का जी मचलाने लगा और उल्टीयां होने लगी। थोडी ही देर में बीमार होने वाले लोगों की संख्या करीब 40 हो गई जबकी 40 से 50 लोग ऐसे थे जिन्होंने लड्डु नहीं खाए थे लेकिन दाल, बाटी और चावल खाऐ थे वे पूरी तरह से स्वस्थ्य है। ऐसे में आशंका है कि मावे से बने लड्डु ही दूषित थे जिसको खाने से लोग बीमार हो गए।
उधर लोगों के बीमार होते ही ग्राम पंचायत के सचिव बलवंतसिंह ने कंट­ोल रूम पर सूचना दी जिसके बाद शाम करीब 6 बजे स्वास्थ्य विभाग की टीम ग्राम मुंदडी पहुंची इससे पहले गांव और आसपास के निजी चिकित्सक बीमारों का उपचार कर रहे थे। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सभी का परीक्षण किया जिन्हें ज्यादा दिक्कत थी उन्हें जिला चिक्तिसालय भेज दिया गया बाकी का स्थानीय स्तर पर ही उपचार किया गया। बताया जा रहा है कि आयोजन में लड्डु बनाने के लिए आयोजकों ने मंदसौर के कालाखेत स्थित मावे की दूकान से कल शाम को मावा खरीदा था। उधर खाद्य विभाग  की और से जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी बीएल जामोद टीम के साथ मौके पर पहुंचे और भोजन सामग्री का सेम्पल लिया जिसे जांच के लिए लेब भेजा जाऐगा।
पहले भी पकड़ा जा चूका है क्विटंलों दुषित मावा
मंदसौर में लॉक डाउन के दौरान क्विंटलों में दुषित मावा पकडा जा चूका है। प्रशासन की छापामार कार्रवाई में औघोगिक क्षेत्र से करीब 600 किलो मावा जप्त किया गया था जिसे उस समय महीनों पूराना बताया जा रहा था। यह मावा भी कालाखेत स्थित व्यापारियों का ही बताया जा रहा था। कोल्ड स्टोरेज में रखे इतनी बड़ी मात्रा में मावे के बारे में आशंका जताई जा रहीं थी कि इसे बाजार में ही खपाया जाता लेकिन इससे पहले ही प्रशासन की टीम ने मावे की धरपकड़ कर ली थी ।
इतनी बड़ी मात्रा में मावा पकड़े जाने के बाद हर किसी को अनुमान भी यहीं था कि प्रशासन की टीम ने इतनी बड़ी मात्रा में मावा जप्त किया है तो कार्रवाई भी कड़ी होगी लेकिन ढाक के वहीं तीन पात..। मावा पकड़े गए करीब तीन माह का समय बीत गया लेकिन आज तक कार्रवाई के नाम पर क्या हुआ किसी को पता नहीं लगा। और अब एक बार फिर से इसी दूकान से डोडिया मीणा के आयोजन ने मावा खरीदा जिसे खाने से 40 लोग बीमार हो गए।
कोविड नियमों को ताक पर रखकर हुआ आयोजन, किसी ने नही रुकवाया
जिले में कोरोना लगातार बढ़ रहा है । एक्टिव मरीज 100 से ज्यादा हो चुके है जिसके चलते पिछले दिनों जिला आपदा प्रबंधन समिति ने मांगलिक आयोजनों में 100-200 लोगो के ही सम्मिलित होने का नियम बनाया है लेकिन बताया जा रहा है डोडिया मीणा में जो आयोजन हो रहा था उसमें 100-200 नही बल्कि हजार का आंकड़ा पहुॅच रहा था । करीब 500 से 700 लोगो का तो स्थानीय स्तर पर उपचार ही किया गया है । इसका अंदाजा इसी बात से ही लगाया जा सकता है कि सुबह भोजन करने के बाद लोगो की तबीयत बिगड़ना शुरु हुई और रात तक उनका उपचार किया जा रहा था । डॉक्टर नरेन्द्र मालवीय उपचार कर रहे थे गंभीर बिमारों को जिला अस्प्ताल भेजा गया था । ऐसे में अब सवाल उठ रहा है कि कोरोना में जब इतने बड़े अायोजना ें पर प्रतिबंध है तो आखिर किसकी अनुमति से इतना बड़ा आयोजन किया गया और यदि अनुमति नही थी तो आखिर क्यों जिम्मेदारों ने इसे समय रहते रुकवाने की कोशिश नही की ।
मंत्री देवडा ने की कलेक्टर से चर्चा
उधर डोडिया मीणा में मन्नत के कार्यक्रम में भोजन करने के बाद लोगों की तबियत बिगड़ने की जानकारी क्षेत्रिय विधायक और प्रदेश के वित्त एवं वाणिज्यकर मंत्री जगदीश देवडा को मिली तो उन्होंने तत्काल कलेक्टर मनोज पुष्प से चर्चा की और आवश्यक निर्देश दिए। इस सम्बन्ध में सौशल मीडिया के माध्यम से श्री देवडा ने बताया कि  स्वास्थ्य विभाग की टीम एवं अन्य अधिकारियों का दल मौके पर है। मै लगातार सबके सम्पर्क में हूं। स्थिति नियंत्रित है ओर सभी को पर्याप्त उपचार मुहैया करवाया जा रहा है।
स्थिति नियंत्रण में है सोर्स की तलाश
पेट दर्द और उल्टी की शिकायत के बाद जिन्हें ज्यादा दिक्कत थी उन्हें जिला चिकित्सालय और सामान्य का स्थानीय स्तर पर ही उपचार किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की टीम अरनिया और डोडिया मीणा दोनों जगह पर हैं सभी का उपचार हो रहा है स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है ।बीमार कैसे हुए इसके सोर्स की तलाश की जा रही है।
 मनोज पुष्प, कलेःटर

Chania