Friday, May 7th, 2021 Login Here
रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित, चार महिने में नहीं बन पाया सवा दो सौ मीटर का नाला दूकान का शटर बंद लेकिन अंदर मिले ग्राहक हर दिन आॅक्सीजन आने का दावा लेकिन खत्म नहीं हो रहीं मारा-मारी *रजिस्ट्री की गाइड लाइन 30 जून तक यथावत* MP में 1 मई से शुरू नहीं होगा वैक्सीनेशन पार्ट-3:2.5 लाख डोज की पहली खेप 3 मई तक मिली तो 18+ लोगों को 5 मई से लगेगा टीका, 19 हजार लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन सोमली नदी को पार कर मंदसौर की तरफ आगे बढा चंबल का पानी

कर रखा था अवैध भंडारण,कलेक्टर-एसपी भी पहुंचे मौके पर
नाहरगढ़ जनसारंगी।
जिस चावल को गरीब की थाली में पहुंच कर उसके पेट की आग को शांत करना था वहीं चावल एक गौदाम से अवैध भंडारण के रूप मेंपकडाया।देर शाम तक चले तोल के बाद  198  क्विटल चावल निकला जिसके बाद अमले ने  जहां से चावल आने की संभावना थी उस राशन की दूकान का ेसील कर दिया। इतनी बड़ी मात्रा में सरकारी चावल पकड़े जाने के बाद रात में कलेक्टर मनोज पुष्प और पुलिस अधीक्षक सिद्दार्थ चौधरी भी मौके पर पहुंचे। पांच महिने में  एक बार फिर सार्वजनिक वितरण प्रणाली के चावल पकड़े गऐ है इससे पहले मंदसौर के औघोगिक क्षेत्र में एक गौदाम पर और उसके बाद धानमंडी क्षेत्र से भी   गरीब की थाली का चावल बड़ी मात्रा में पकड़ा गया था लेकिन यह चावल कहां से आकर व्यापारियों की दूकान और गौदाम तक पहुंच रहा है इसका खुलासा नहीं हो पाया है।
लॉक डाउन के दौरान किसी भी गरीब को भूखा नहीं रहना पडे इसके लिए सरकार ने पीडीएस (सार्वजनिक वितरण प्रणाली ) के तहत हर व्यक्ति को चावल उपलब्ध कराया था लेकिन यह चावल गरीब की थाली तक पहुंचने से पहले ही व्यापारियोेंके गौदाम और दूकानों तक पहुंच रहा है।मंगलवार की सुबह प्रशासनिक अमले ने नाहरगढ़ में स्थित एक गौदाम पर छापामार कार्रवाई कर 198 क्विंटल सरकारी चावल पकड़े। बताया जाता है कि सीतामऊ  तहसील के नाहरगढ़  स्थित हनुमान मंदिर के पास राहुल धनोतिया के गोदाम पर सरकारी चांवल होने की जानकारी एसडीएम बिहारीसिंह को मिली। इसके बाद एसडीएम बिहारीसिंह और नायब तहसीलदार वैभव जैन प्रशासनिक टीम के साथ गोदाम पर पहुंचे।  यहां तलाशी लेने पर गोदाम में बड़ी मात्रा में चावल मिला। यह चावल राशन दुकानों पर बंटने के लिए शासन द्वारा भेजा गया था । इस कार्रवाही के दौरान प्रशासन ने जिस राशन की दूकान से चावल आने की संभावना जताई जा रहीं थी उसे भी सील किया।
बडी मात्रा में सरकारी चावल मिलने की खबर से हडकं प मच गया। सुबह शुरू हुई छापामार कार्रवाई के बाद देर शाम तक चावल का तोल चलता रहा। एसडीएम बिहारीसिंह, नायब तहसीलदार वैभव जैन भी मौके पर पहुंचे इसके साथ ही आपूर्ति विभाग के नारायणसिह चंद्रावत व रविन्द्र सिंह राठौर भी मौके पर ही मौजूद थे, करीब 20 चोकीदार और 12 पटवारी चावल की तुलाई में जूटे हुए थे।मौके पर खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग का अमला भी पहुंच गया था। अनुमान के मुताबिक करीब सौ क्विंटल से ज्यादा चावल पकडा गया है। हालांकि चावल कहां से आया था इसकी जानकारी अब तक नहीं है। लेकिन इतना तय है कि यह चावल गरीबों को राशन की दूकान के माध्यम से बंटना था लेकिन यह बजाय गरीबों के घरों तक पहुंचने के कालाबाजारियों के गौदाम तक पहुंच गया।
पहले पकडा था व्यापारी के गौदाम से 500 क्विंटल ओर पिकप से 37 क्विंटल
मंदसौर में करीब पांच महिने पहले खाद्य विभाग ने औघेगिक क्षेत्र स्थित एक गौदाम से 500 क्विंटल चावल पकडा था इसके एक महिने बाद यातायात विभाग ने पिकप से 37 क्विंटल चावल पकडा था लेकिन इन दोनो ही मामलों में अब तक यह साफ नहीं हो पाया है कि यह चावल कहा से आया था। क्योंकि यह चावल भी सरकारी राशन की दूकानों के माध्यम से गरीबों तक बंटना थे लेकिन बजाय गरीब की थाली तक पहुंचने के व्यापारियों के गौदाम तक पहुंच गए थें । मंदसौर जिले में पांच महिने में इतनी बडी मात्रा में सरकारी चावल व्यापारियों के यहां से मिल रहे है बावजूद इसके अभी तक इस मामलें में गहन जांच नहीं हो पाई है कि आखिर यह चावल कहां से पहुंच रहा है। उधर खाद्य विभाग लगातार दावा कर रहा है कि उनका स्टॉक बराबर है जितना चावल गरीबों को दिया गया है इसके अलावा जितना चावल होना चाहिऐ वह बराबर गौदामों में रखा है ऐसे में सवाल उठ रहा है  कि जब खाद्य विभाग उनका स्टॉक बराबर होने का दावा कर रहा है तो फिर आखिर चावल आ कहा से रहा है।

प्रकरण दर्ज कराऐगें
क्विंटलों चावल होने की संभावना है । एसडीएम, नायब तहसीलदार और  खाद्य अधिकारी मौके पर कार्रवाही कर रहे है। जिस राशन की दूकान से आने की संभावना बताई जा रहीं है उसे भी सील किया गया है। पूरे मामलें की जांच चल रहीं है इसके बाद इसमें प्रकरण भी दर्ज कराया जाऐगा।
मनोज पुष्प,कलेक्टर
Chania