Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,

आदतन अपराधी के कब्जे से ग्राम दौलतपुरा में मुक्त कराई गई जमीन
मंदसौर जनसारंगी।

माफिया का सफाया अभियान के तहत बुधवार को एक बार फिर प्रशासन और पुलिस की टीम ने ग्राम दौलतपुरा में सरकार की भूमि पर सरकारी जेसीबी चलाकर उसे अतिक्रमण से मुक्त कराया। उक्त भूमि पर आदतन अपराधी ने पिछले छह सालों से कब्जा कर रखा था ऐसे में आज प्रशासनिक मशीनरी से उसे नेस्तनाबूत कर दिया। अतिक्रमणकर्ता ने शासकीय भूमि पर अतिक्रमण कर पक्का निर्माण कर उसे किराऐ पर दे दिया था।
जानकारी के अनुसार ग्राम बुलगढ़ी के आदतन अपराधी भूरेखा के रेवास देवडा मार्ग स्थित एमआईटी कॉलेज के पास में किए गए अतिक्रमण पर सरकारी जेसीबी चली। प्रशासनिक अमले के साथ पुलिस ने पहुंचकर अतिक्रमण को हटाया। भूरे खां द्वारा दौलतपुरा मुख्य मार्ग पर स्थित तीन हजार स्क्वायर फिट सरकारी जमीन पर करीब पांच छह साल से अतिक्रमण किया था। जिसमें पांच दुकानें तैयार कर किराये पर दे दी गई। इसके अलावा एक दुकान निर्माणाधीन थी। साथ ही दुकानों के पिछे भी कुछ निर्माण किया गया था। इसको लेकर कई बार भूरे खां को नोटिस भी दिए गए। नोटिस का संतोषप्रद जवाब नहीं मिलने के बाद आज प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंचा। भूरे खां के अतिक्रमण को हटाया गया। उल्लेखनीय है कि भूरे खां के खिलाफ प्राणा घातक हमला, चोरी, बलवा, मारपीट, हफ्ता वसूली सहित अन्य कई गंभीर आरोप थानों में दर्ज है। वर्ष 1987 से लेकर वर्ष 2019 तक भूरा खां के खिलाफ कुल १८ अपराध पुलिस ने दर्ज किए है।
उल्लेखनिय है कि माफिया का सफाया अभियान के तहत प्रशासन और पुलिस मिलकर लगातार माफियाओं के खिलाफ कार्रवाहीं कर रहे है और उनके कब्जे की सरकारी भूमियों को भी अतिक्रमण मुक्त करा रहे है। इससे पहले भी करोड़ों रूपऐ की बेशकीमती भूमियों को भी अतिक्रमण से मुक्त कराया गया है। पुलिस और प्रशासन की इस कार्रवाहीं से अपराधियों में भय भी व्याप्त हो रहा है।

Chania