Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,

मंदसौर के एक पेंटर ने मास्क पर बनाए 44 शहिद कोरोना योद्धाओ के पोर्ट्रेट । मप्र से लेकर दुनिया के पहले कोरोना शहीद को उकेरा है मास्क पर । अपने इस अद्भुत मास्क के लिए पेंटर राहुल लोहार ने जीते है कई अवार्ड , इस यूनिक मास्क को आज लाया गया मीडिया के सामने । आर्टिस्ट ने कहा ये मेरी ओर से कोरोना योद्धाओ को श्रद्धांजलि है । 
कोरोना की जंग में जहाँ हमारे देश ने पूरी ताकत से जंग लड़ी है तो वही देश के आम नागरिको ने भी अपने अपने स्तर पर कोरोना योद्धाओ के मान सम्मान में अपनी भावनाओं की अभिव्यक्ति की है । मप्र मन्दसौर जिले के छोटे से गाँव कुचड़ोद के रहने वाले राहुल लोहार ने एक मास्क पर 44 पोर्ट्रेट देश विदेश के उन डॉक्टरों के बनाए है जो कोरोना की जंग में शहीद हो गए है । वुहान में सबसे पहले शहिद होने वाले डॉक्टर से लेकर अन्य कई डॉक्टरों के चित्रों को एक ही मास्क पर बड़ी खूबसूरती से उकेरा गया है । 
मन्दसौर जिले के छोटे से गांव कुछड़ोद के रहने वाले 30 वर्षीय राहुल लोहार बचपन से पेंटिंग बनाने के शौकीन है ।कोरोना काल मे मास्क जो लेकर कई लोगो ने अलग अलग डिजाईन के मास्क बनाए , जिनमे अलग अलग प्रिंट , फोटो ,संदेश आदि से लोगो को जागरूक करने की कोशिश की है । लेकिन कुछड़ोद के राहुल लोहार के मास्क की बात कुछ अलग ही है । राहुल ने लगातार 12 घण्टे की मेहनत से इस मास्क को बनाया है , जिसमे ईको फ्रेंडली वाटर कलर का इस्तेमाल हुआ है । काफी बारीकी से मिनिएचर पोर्ट्रेट बनाए गए है । राहुल लोहार का यह मास्क जब इंटरनेट के माध्यम से लोगो तक पहुंचा तो इसकी जमकर तारीफ तो की है साथ ही साथ सर्टिफिकेट भी दिए हैं । राहुल लोहार एक मध्यम वर्गीय परिवार से है और बचपन से ही पेंटिंग बनाने के शौकीन है । कोरोना काल मे उन्हें भी ये खयाल आया कि कोरोना योद्धाओ के सम्मान या उन्हें श्रद्धांजलि स्वरूप कुछ करना चाहिए , राहुल की इस भावना को आकार मिला एक अनूठे मास्क को बनाने की प्लानिंग से , राहुल लोहार ने एक 5x8 इंच का मास्क लिया और लगातार 12 घण्टे काम करके अनूठा मास्क तैयार किया जिस पर देश विदेश के 44 डॉक्टरों के मिनिएचर पोर्ट्रेट बने थे जो कोरोना योद्धा के रूप में शहीद हो गए थे । 
राहुल को इस अनूठे मास्क के लिए कई जगहों से प्रशंसा के प्रमाण पत्र भी मिले है। 
राहुल ने लॉक डाउन के समय एक कोविड पेंटिंग भी बनाई थी । जिसके लिए उसे लॉक डाउन में कही भी केनवास नही मिला तो उसने अपने ट्रेक्टर के हुड को काटकर उसी पर पेंटिंग बना दी थी । 
राहुल के पिता देवीलाल का कहना है कि उनके बेटे को बचपन से ही पेंटिंग बनाने का शौक था , वे समय समय पर राहुल के लिए पेंटिंग की हर चीज लाकर देते थे , राहुल ने मास्क पर जो 44 पोर्ट्रेट बनाए है वो 10 - 12 घण्टे में बनाए है । उन्हें अपने बेटे के इस काम से बड़ी खुशी है ।
Chania