Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,

      मंदसौर जनसारंगी । 
      कोरोना मरीजों के उपचार के लिए विधायक निधी दिए जाने की मांग का विधायक यशपालसिंह सिसोदिया ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान को ट्वीट किया जिसके बाद सरकार ने विधायकों को अपनी निधि से कोरोना से लड़ने के लिए जरूरी उपकरणों के लिए राशि खर्च करने का अधिकार दे दिया है। यानी वेंटिलेटर, पीपीई किट, मास्क, ग्लोब्ज, सेनेटाइजर विधायक की अनुशंसा पर खरीदे जा सकेंगे। इस संबंध में योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग ने सभी कलेक्टरों को निर्देश जारी कर दिए हैं।
      दरअसल मंदसौर के वरिष्ठ विधायक यशपालसिंह सिसोदिया ने शुक्रवार को प्रदेश के सीएम को ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने कहा था कि गरीब मरीजों के हित में विधायक स्वेच्छा अनुदान की राशि कोविड भर्ती मरीजों की सीटी स्कैन, रेमडेसीविर इंजेक्शन के लिए अनुशंसित करने का संशोधन किया जाना चाहिऐ। विधायक को निधी के  प्राप्त 1 करोड़ 85 लाख में से 1 करोड़ रुपए इस निमित्त अनुशंसित करने की भी  अनुमति दी जाऐ क्योकि विधायक यदि हम हजार रुपए रोज भी गरीब मरीजों को अनुशंसित करेंगे तो आने वाले 6 माह तक 1 करोड़ रुपए की राशि आवंटित हो सकती है। विधायक भर्ती मरीज का पर्चा, सीटी स्कैन और रेमडेसीवियर का  बिल देख कर ही अनुशंसित करेंगे। इसके बाद शाम होते-होते प्रदेश सरकार के मुखिया शिवराजसिंह चैहान ने इस पर निर्णय कर लिया और आदेश भी जारी कर दिए जिसमें कहा गया है कि विधायकों को अपने विधान सभा क्षेत्र में विकास कार्यों के लिए मिलने वाली राशि का उपयोग कोरोना के बचाव व इलाज के लिए जरूरी उपकरणों व अन्य व्यवस्थाओं पर खर्च करने का अधिकार रहेगा। लेकिन यह अनुमति सिर्फ वर्ष 2021-22 के लिए ही दी गई है। खास बात यह है कि विधायक इस मद में केवल एक बार ही राशि का उपयोग कर सकेंगे। बता दें कि हर विधायक को हर साल विधायक निधि में 1 करोड़ 85 लाख रुपए आंवटित किए जाते हैं। यदि हर विधायक 1-1 करोड़ रुपए भी उपकरण खरीदने में खर्च करता है तो 230 करोड़ रुपए कोरोना से लड़ने में सरकार को आर्थिक रूप से बड़ी मदद होगी।
      इन उपकरणों पर खर्च होगी विधायक निधि
      इंफ्रारेड थर्मामीटर, पीपीई किट, टेस्टिंग किट, आईसीयू वेंटिलेटर, आइसोलेशन या क्वारेंटाइन वार्ड में उपयोग में आने वाली सामग्री, फेस मास्क, ग्लोब्ज, सेनेटाइजर और कोविड वार्ड में उपयुक्त होने वाले उन्य उपकरण।

Chania