Monday, May 17th, 2021 Login Here
कोरोना के गंभीर रोगियों का उपचार सर्वसुविधायुक्त बड़े अस्पतालों में होना जरूरी पुलिस और डाक्टर की पकड़ में कोरोना से सुरक्षित आम आदमी लेकिन लापरवाह लोग बन रहे मुश्किल मंदसौर के मनोज ने कर दिया 200 रूपऐ में आॅक्सी फ्लो मीटर का निर्माण वायरल विडियों ने मंदसौर की दादी को बना दिया स्टाॅर मंदसौर जिला चिकित्सालय में अक्षय तृतीया से सीटी स्कैन मशीन से जांच होना हुई प्रारंभ वित्त मंत्री श्री देवड़ा के निर्देश पर गृह मंत्रालय ने मल्हारगढ़ ब्लॉक कोविड-19 आपदा प्रबंधक मैनेजमेंट कमेटी का गठन कलेक्टर द्वारा किया गया *शामगढ़ में 85 वर्ष के बूढे व्यक्ति का घर से मृत अवस्था मे मिला शव* खुशियों की दास्तां /मल्हारगढ़ कोविड केयर सेंटर से आज 3 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर गए प्रशासन ने मीटिंग बुलाकर ईद घर पर ही मनाने हेतु समझाइश दी । अपने अपने मोहल्ले मैं सख्ती से कर्फ्यू का पालन करवाना और दवाई वितरण करवाना हम सबकी जवाबदेही है: श्री पँवार *जिले में रक्त स्त्रोतम संस्थान द्वारा कराया गया पहला प्लाज्मा डोनेशन जनसारंगी --प्रसंगवश./ सर्वसमावेशी समाज के संस्थापक भगवान परशुराम. दो लाख खर्च होने के बाद भी नहीं बनी खाद, पिट बन गऐ डस्टबिन हॉटस्पॉट में बेखौफ चल रहीं सब्जी मंडी, लोगों की जमा हो रहीं भीड़ महामारी से निपटने आर्थिक सहयोग में आगे आ रहे नागरिक

पहली टेस्टिग होंगी, पांच दिन बाद जनता के घर में हर दिन नलों से पहुंचेगा पानी
कलेक्टर ने किया निरीक्षण

मंदसौर जनसारंगी।
मंदसौर के लिए राहत भरी खबर आई है अब शहरवासियों को पेयजल के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। तकरीबन छह साल पहले 53 करोड़ रूपए की लागत से शुरू हुई चंबल-शिवना के समागम की योजना अब साकार होने जा रहा है। काम पूरा होने के बाद आज रविवार को पहली बार इसकी टेस्टिग होगी इसके सफल रहने पर पांच दिनों में रोजाना चंबल का पानी शिवना में मिलने लगेंगा और हर दिन नगर वासियों को पेयजल नलों के माध्यम से मिलेगा। इसको लेकर शनिवार को कलेक्टर मनोज पुष्प सहित अन्य अधिकारियों ने रामघाट पहुंचकर निरीक्षण भी किया। टेस्टिंग के दौरान 53 किलो मीटर लंबी पाईप लाईन का लीकेज और साफ सफाई संबंधित अन्य कार्य भी किया जाएगा। अगर सबकुछ ठीक रहा तो चार पांच दिनों में चंबल का पानी फिल्टर प्लांट तक नियमित रूप से पहुंचने लगेगा। प्रशासन की मंशा है कि चंबल के पानी के मंदसौर पहुंचने के बाद लोगों को चैबीस घंटे पानी उपलब्ध कराया जाए।
 शहर की डेढ़ लाख आबादी के लिए जलसंकट के स्थाई हल करने के लिए अमृत मिशन में बनी 53 करोड़ की चंबल योजना करीब छह साल पहले शुरु हुई थी। लेटलतीफी के कारण योजना की लागत भी डेढ़ करोड़ रुपए तक बढ़ गई है। इसके बाद भी तकनीकी कारण आड़े आते रहें, जो चंबल का पानी मंदसौर तक लाने में रोड़ा बने रहें। लेकिन पिछले दिनों जैसे ही नगर पालिका का कार्यकाल समाप्त हुआ और इस पर प्रशासक के रूप में कलेक्टर मनोज पुष्प काबिज हुए उन्होंनें चंबल योजना को पूरा करने के लिए टाईम लिमिट तय कर दी और विधायक यशपालसिंह सिसोदिया भी इस योजना को पूरा कराने के लिए मैदान में उतर आऐ। योजना को पूरा करने में सबसे बड़ी बाधा विघुत लाईन बन रही थी कि 33 केवी की लाईन को जिन किसानों खेतों के उपर से गुजरना था वे किसान तैयार नहीं थे। विधायक श्री सिसोदिया ने उन सभी किसानों से चर्चा की और आखिरकार उन्हें राजी कर लिया इसके बाद उन्होंने भोपाल स्तर पर भी प्रयास आरम्भ किए और मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान से 33 केवी विघुत ट्रांसफार्मर उपलब्ध कराऐ जाने की मांग की इस पर श्री चैहान ने भी निर्देश दिए और तत्काल ट्रांसफार्मर, कटआउट समेत सभी जरूरी उपकरण कोलवी पहुंच गए और तेजी से योजना को पूरा करने का काम शुरू हो गया। बिते दिनों कोलवी में परीक्षण कर पाईप में जमी गाद, आदि को साफ किया गया । अब इसका फायनल टेस्टिग किया जाना है जिसमें पहली बार चंबल का पानी शिवना नदी तक पहुंचेगा और यहां से फिल्टर प्लाट के माध्यम से नलों में होकर आम लोगों के घरों तक पहुंचना है।  
योजना का काम देर से आए दुरूस्त आऐ वाली कहावत को चरितार्थ करते हुए आखिर आज मंदसौर पहुंच रहा है। इसी को लेकर कलेक्टर मनोज पुष्प ने रामघाट फिल्टर प्लांट पहुंचकर निरीक्षण भी किया। निरीक्षण का उद्देश्य कल होने वाली फाईनल टेस्टिंग था। कलेक्टर मनोज पुष्प ने बताया कि 53 किमी लंबी पाईप लाईन क्षेत्र में है। जिसकी साफ सफाई और लीकेज की जांच भी की जाएगी। उम्मीद है कि चार पांच दिनों में पानी फिल्टर प्लांट तक पहुंच जाएगा। चैबीस घंटे लोगों को पानी उपलब्ध कराने का प्रयास प्रशासन का होगा। उल्लेखनिय है कि अभी शहर की डेढ़ लाख जनता को सालभर पेयजल उपलब्ध कराने के लिए नपा शिवना पर बने रामघाट व कालाभाटा बांध पर निर्भर है। गर्मी में पानी सूख जाने पर पेयजल संकट की स्थिति निर्मित होती है। समस्या का स्थायी समाधान करने के लिए अमृत योजना में ग्राम कोलवी से चंबल का पानी रामघाट तक लाने की 52 करोड़ की योजना स्वीकृत की। अनुबंध के अनुसार योजना करीब दो साल पहले पूरी होना थी।
एक नजर
1 करोड़ लीटर पानी नए उद्योग आने पर होगी रोज की आवश्यकता
30-40 लाख लीटर रोज मिल रहा है अभी पानी
1.5 करोड़ लीटर पानी एक दिन छोडकर मिल रहा है
3 करोड़ लीटर पानी भविष्य में जरूरत
4 करोड़ लीटर पानी रोज चंबल से आएगा

Chania