Friday, May 7th, 2021 Login Here
रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित, चार महिने में नहीं बन पाया सवा दो सौ मीटर का नाला दूकान का शटर बंद लेकिन अंदर मिले ग्राहक हर दिन आॅक्सीजन आने का दावा लेकिन खत्म नहीं हो रहीं मारा-मारी *रजिस्ट्री की गाइड लाइन 30 जून तक यथावत* MP में 1 मई से शुरू नहीं होगा वैक्सीनेशन पार्ट-3:2.5 लाख डोज की पहली खेप 3 मई तक मिली तो 18+ लोगों को 5 मई से लगेगा टीका, 19 हजार लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन सोमली नदी को पार कर मंदसौर की तरफ आगे बढा चंबल का पानी

घटना स्थल देखा, आरोपी मनीष बैरागी से पुछताछ के लिए न्यायालय से मांगेगे अनुमति
मंदसौर निप्र। नगरपालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की हत्या की जांच के लिए राज्य शासन द्वारा गठित की गई पांच सदस्यीय एसआईटी टीम सोमवार को मंदसौर पहुंची और पूरे दिन भर में अपनी पड़ताल करते हुए घटना स्थल का बारिकी से अवलोकन किया, घटना के चश्मदीदों सहित करीब दस से ज्यादा लोगों से पुछताछ की है । मंदसौर पुलिस से सारे दस्तावेज अपने कब्जे में लिए । टीम हत्याकाण्ड के अारोपी मनीष बैरागी से पुछताछ के लिए न्यायालय से अनुमति मांगेगी और उससे पुछताछ करेगी ।
जानकारी के अनुसार एसआईटी आईजी श्रीनिवास वर्मा की अगुवाई में मंदसौर पहुंची जिसमें राजीव मिश्रा, पवन मिश्रा, श्रीमती ज्योति शर्मा तथा मुख्तियार कुरैशी शामिल है । टीम ने सबसे पहले मंदसौर पुलिस द्वारा की गई जांच और पूरे हत्याकाण्ड से जुड़े दस्तावेजों को अपने कब्जे में लिया और इसी के साथ इस पूरे मामलें की जांच शुरू करते हुए घटना स्थल का बारिकी से एक बार फिर अवलोकन किया और आसपास के पूरे इलाके को देखा टीम ने घटना को लेकर लोकेन्द्र कुमावत, लक्की कुमावत, सचिन मित्तल, गोलू शाह, गज्जु सम्राट, रूचिन कागला से चर्चा की इसके साथ ही स्व. श्री बंधवार के पुत्र नरेन्द्र और अन्य परिजनों से भी विस्तार से चर्चा की और घटना से जुड़े तथ्यों को खंगालने की कोशिश की ।
टीम ने जिला पुलिस कप्तान तुषारकान्त विद्यार्थी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुन्दरसिंह कनेश, यशोधर्मन नगर टीआई विनोदसिंह कुशवाह और शहर पुलिस से भी अलग-अलग पूरे मामलें को लेकर चर्चा की । बताया जाता है कि टीम अभी दो-तीन दिन मंदसौर में ही रूक कर इस पूरे घटनाक्रम की जांच करेगी सारे तथ्यों को खंगालने के बाद आरोपी मनीष बैरागी से भी पुछताछ की जाएगी इसके लिए टीम न्यायालय से अनुमति मांगेगी और अनुमति मिलने के बाद उससे पुछताछ की जाएगी । हालाकि पूरे दिन भर की जांच को लेकर एसआईटी की टीम ने अधिकृत रूप से कुछ नही कहा लेकिन सूत्रों की माने तो एसआईटी ने हर बारिक से बारिक चीज को खंगालने की कोशिश की है ।
बंधवार के पुत्र ने लगाये सनसनीखेज आरोप
एसआईटी से चर्चा के बाद स्व. बंधवार के पुत्र नरेन्द्र बंधवार ने सनसनीखेज आरोपो के बारे में खुलासा किया । उन्होने एसआईटी की जांच पर भरोसा रखते हुए कहा कि हमें उम्मीद है कि एसआईटी निष्पक्ष जांच करेगी और न्याय दिलायेगी । क्योंकि पुलिस की जांच के दौरान हमने दो लोगो के नाम बताये थे लेकिन पुलिस ने अभी तक उन दोनो के बारे में कोई जांच पड़ताल नही की है इससे लगता है कि उन दोनो को कोई बड़े नेता बचा रहे है । हालांकि जांच का हिस्सा कहते हुए बंधवार ने उनके नामों का खुलासा नही किया लेकिन इतना जरुर कहा कि इन दोनो नामों के बारे में एसआईटी को भी अवगत कराया है । इसके अलावा घटना के पहले से लेकर घटना तक के कोई भी सीसीटीवी फूटेज पुलिस ने अभी तक उपलब्ध नही कराये है यह भी संदेहासपद है । घटना के 10 मिनिट बाद जो जनचर्चाएं शुरु हुई थी, पुलिस ने भी वही कहानी बतायी है । इसलिये पुरा मामला संदेहास्पद है । एसआईटी की जांच में सही तथ्य सामने आने की उम्मीद है ।  
- जांच शुरु की है, कब तक चलेगी इसके बारे में अभी कुछ नही कहा जा सकता, लेकिन इतना जरुर है कि हमारी जांच पुलिस से भिन्न है । पुलिस की जांच से हमारा कोई लेना-देना नही है । हम स्वतंत्र रुप से जांच करेगे घटना के हर बारीक से बारीक बिंदू पर पड़ताल करेगे ।
श्रीनिवास वर्मा आईजी एवं एसआईटी प्रमुख
- एसआईटी की टीम मंदसौर आई है मुझसे भी चर्चा हुई है । इस जांच में मंदसौर पुलिस शामिल नही है टीम अपने स्तर पर ही पुरी पड़ताल कर रही है ।
तुषारकान्त विद्यार्थी, एसपी

Chania