Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,

300 अधिकारियों के दल ने 6 फर्मों के 18 ठिकानों पर एक साथ की कार्यवाही
विकास संग निशा नाम से बाराती बनकर आये थे, बाद में पता लगा इन्कम टैक्स की है टीम
कई व्यापारी दुकानें बंद कर हुए गायब, तीनों जिलों में मची सनसनी

मंदसौर/जावरा/नीमच । बुधवार की सुबह-सुबह मालवा के मंदसौर, नीमच और रतलाम जिले के जावरा में आयकर विभाग ने बड़ी कार्यवाही को अंजाम दिया । विकास संग निशा नाम से बाराती बनकर बसों और अन्य वाहनों में सवार होकर अधिकारी मंदसौर, नीमच, जावरा और दलौदा पहुॅचे और सुबह 6 बजे एक साथ तीनों जिलो की 6 फर्मों के 18 ठिकानों पर सर्वे की कार्यवाही को शुरु किया । बसों और गाड़ियों पर जिस तरह विवाह के स्टीकर लगे थे उन्हें देखकर सुबह सवेरे घुमने निकलने वालों को लगा की कोई बड़ी बारात आई हुई है लेकिन थोड़ी ही देर में माजरा पुरा साफ हो गया । जैसे ही पता लगा की आयकर विभाग ने बड़ी कार्यवाही को अंजाम दिया है तो तीनों जिलो के बड़े व्यापारियों में हड़कंप मच गया । मंदसौर और नीमच की कृषि उपज मण्डीयों में तो कई व्यापारी दुकान और गोदाम खोलने के लिये ही नही आये । सुबह -सवेरे शुरु हुई सर्वे की कार्यवाही देर रात तक चलती रही । हालांकि इस कार्यवाही में क्या निकलकर आया इसका खुलासा अधिकारियों ने अभी नही किया ।
जानकारी के अनुसार मंदसौर में असिस्टेंट डायरेक्टर धर्मेंद्र श्रीवास्तव इंदौर और इनसे भी बड़े दो अधिकारियों की अगुवाई में करीब 70 अधिकारियों की टीम अलग-अलग बसों और छोटी गाड़ियों में सवार होकर सुबह करीब 6 बजे मंदसौर पहुँची । सभी गाड़ियों पर विकास संग निशा मेरिज के स्टीकर लगे हुऐ थे । मंदसौर में सबसे पहले टीम गणेश वाटिका के पास स्थित अमृत रिफाईनरी के मालिक मनोहर गर्ग, प्रहलाद गर्ग और योगेश गर्ग के बंगलो पर पहुँची और इसके साथ ही अमृत रिफाईनरी की महू-नीमच रोड़ पर स्थित फेक्ट­ी, इण्डस्ट­्रीज ऐरिये में स्थित दो बंद फेक्ट­ीयों तथा इनके धानमण्डी स्थित पुराने मकान व उसके पास स्थित बंद आईल मील पर भी पहुॅची और सर्वे की कार्यवाही शुरु की । इसके अलावा मंदसौर में कृषि उपज मण्डी स्थित मोहक ट­ेडिंग कंपनी, पशुपतिनाथ ट­ेडर्स तथा एक अन्य व्यापारी के गोदाम पर भी आयकर की टीम पहुॅची और सर्वे की कार्यवाही शुरु की । मंदसौर जिले के दलौदा स्थित रुचि सोया पर भी अधिकारियों ने सर्वे शुरु किया । रतलाम जिले के जावरा में रतलाम नाका पर स्थित अम्बिका सॉल्वेक्स तथा नीमच में धानुका इण्डस्ट­ीज के पॉच ठिकानों पर कार्यवाही की । टीम सबसे पहले राजस्थान के निम्बाहेड़ा में मुनिम के यहां पहुॅची और उसके साथ-साथ तेल कारोबारी कैलाश धानुका के स्कीम नंबर 36, जमुनिया सहित सभी ठिकानों पर कार्यवाही की । इसके अलावा धानुका के खास कर्मचारियों के घरों पर भी कार्यवाही हुई । इसके अलावा माहेश्वरी वेयर हाउस पर भी टीम पहुॅची और सर्वे की कार्यवाही शुरु की ।
मंदसौर में अमृत रिफाईनरी के बंगलो पर कार्यवाही के साथ ही महू नीमच रोड़ स्थित फेक्ट­ी पर भी सर्वे की  कार्यवाही शुरु हुई । इसके साथ ही औद्योगिक क्षेत्र स्थित इनकी दो और फेक्ट­ीयों बजरंग आईल मील और उसी के सामने स्थित एक और फेक्ट­ी पर भी कार्यवाही की हालांकि दोनो फेक्ट­ीयॉ बंद थी जिसे इन्होने किराये पर दे रखा है । जिस व्यक्ति को किराये पर दी है उस व्यापारी की सोयाबीन और अन्य माल यहां रखा हुआ था जिसे भी जांच में लिया गया । देर रात तक निरंतर चल रही कार्यवाही के दौरान टीम ने कई अहम दस्तावेज अपने कब्जे में लिये । आयकर सुत्रों की माने तो टीम सभी ठिकानों पर कार्यवाही के दौरान सभी दस्तावेज एकत्र कर अपने कब्जे में ले रही है जिन्हें बाद में एक जगह इकठ्ठा कर खंगाला जायेगा । हालांकि देर रात के बाद भी लगातार चल रही कार्यवाही में कितनी अघोषित आय मिली है इसके बारे में अधिकारियों ने किसी भी तरह का कोई खुलासा नही किया ।
- कृषि मण्डी में तीन फर्मों पर कार्यवाही
अमृत रिफाईनरी के साथ-साथ कृषि उपज मण्डी में स्थित मोहक ट­ेडिंग कंपनी, पशुपतिनाथ ट­ेडर्स सहित तीन जगहों पर कार्यवाही हुई । हालांकि तीनों जगह टीम सुबह ही पहुॅच गई थी । दो गोदामों पर तत्काल कार्यवाही शुरु हो गई जबकि एक गोदाम बंद  होने से शाम को ही कार्यवाही शुरु हो पाई ।
- रुची सोया को लिया था लीज पर
सुत्रों की माने तो अमृत रिफाईनरी के संचालक अपने कारोबार को तेजी से फैला रहे थे । अभी हाल ही में उन्होने दलौदा स्थित रुची सोया को भी लीज पर लिया था और लगभग बंद होने की कगार पर आ चुके प्लांट को पुर्नजीवन दे दिया था । लीज पर लेने के बाद से लगातार प्लांट चलने लगा था ।  
- पहली बार 100 गाड़ियॉ, 300 से ज्यादा अधिकारी पहुॅचे
मालवा के मंदसौर,नीमच और रतलाम जिले में यह पहला मौका है जिसमें 100 से ज्यादा गाड़ियों में सवार होकर 300 से ज्यादा अधिकारी, कर्मचारी पहुॅचे है और वे भी बारात की शक्ल में तीनो जिलों के इतिहास में आज तक आयकर अधिकारियों की टीम  एक साथ मंदसौर नही पहुॅची । सुत्रों के अनुसार टीम में करीब 30 जिला आयकर अधिकारी स्तर के अधिकारी शामिल थे इसके अलावा असिस्टेंट डायरेक्टर और डायरेक्टर स्तर के अधिकारी इसकी अगुवाई कर रहे थे, जिनके साथ सैकड़ो की तादात में अन्य अधिकारी कर्मचारी मौजूद थे ।  
- न कोई बाहर आया, न कोई अंदर गया
जानकारों की माने तो सुबह 6 बजे जैसे ही कार्यवाही शुरु हुई आयकर की टीम ने सबसे पहले घर में मौजूद सभी लोगो के मोबाईल अपने कब्जे में लिये । सभी जगह के फोन बंद किये, किसी को भी एक दूसरे से बात नही करने दी गई और अपनी कार्यवाही को शुरु किया । इस दोरान न तो कोई घर या फेक्ट­ी से बाहर निकल सकता था और ना ही अंदर जा सकता था । यहां तक की कार्यवाही में जूटे अधिकारियों व कर्मचारियों के लिये भोजन के पैकेट भी कार्यवाही स्थल पर ही पहुॅचाये गये । लेकिन इन्हें देने के लिये भी किसी को अंदर नही जाने दिया गया केवल आयकर विभाग की टीम से जुडे अधिकृत व्यक्तियों ने ही गेट से भोजन के पैकेट एकत्र किये ।
अमृत के कारोबार से ही जुड़े है सभी ठिकानें
अपुष्ट  किन्तु भरोसेमंद सुत्रों की माने तो आयकर विभाग ने मंदसौर, नीमच और रतलाम जिले में जहां जहां भी कार्यवाही की है उन सभी ठिकानों के कारोबार भी मंदसौर की अमृत रिफाईनरी और इनके संचालकों से ही जुडे हुऐ है । कृषि उपज मण्डी की जिन तीन फर्मो पर कार्यवाही हुई है वे भी इन्हीं के लिये खरीददारी करते थे । इसके अलावा भी अन्य फर्मो का लेनदेन भी इनसे ही बना हुआ था । जानकारों का तो यहां तक भी कहना है कि कंपनी के संचालकों ने पुरा का पुरा कारोबार अलग-अलग संस्थान प्रदर्शित कर इंटर ट­ांजेक्शन कर फैला रखा था जिसके माध्यम से अघोषित आय अर्जित की जा रही थी । सुत्रों का तो यहां तक कहना है कि कमोडिटी में भी कंपनी के कर्ताधर्ता कारोबार कर रहे थे, इन कारोबारो की पुख्ता खबर आयकर की टीम को मिली और इसके बाद इस तरह की अब तक की सबसे बड़ी कार्यवाही को अंजाम दिया गया ।
पहली बार 100 गाड़ियॉ, 300 से ज्यादा अधिकारी पहुॅचे
मालवा के मंदसौर,नीमच और रतलाम जिले में यह पहला मौका है जिसमें 100 से ज्यादा गाड़ियों में सवार होकर 300 से ज्यादा अधिकारी, कर्मचारी पहुॅचे है और वे भी बारात की शक्ल में तीनो जिलों के इतिहास में आज तक आयकर अधिकारियों की टीम  एक साथ मंदसौर नही पहुॅची । सुत्रों के अनुसार टीम में करीब 30 जिला आयकर अधिकारी स्तर के अधिकारी शामिल थे इसके अलावा असिस्टेंट डायरेक्टर और डायरेक्टर स्तर के अधिकारी इसकी अगुवाई कर रहे थे, जिनके साथ सैकड़ो की तादात में अन्य अधिकारी कर्मचारी मौजूद थे ।

Chania