Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,
विधायक सिसोदिया ने गाँवो का दौरा कर देखा नुकसानी को,कलेक्टर से की चर्चा
 मंदसौर जनसारंगी।
 ओलावृष्टि के कारण फैसले बर्बाद हो गई, ऐसे में फसल नुकसानी का आंकलन तत्काल होना चाहिये ताकि किसानों के नुकसान की भरपाई हो सके। लेकिन मंदसौर विधानसभा के ग्राम ताजखेड़ी में जब विधायक यशपालसिंह सिसोदिया फसलों की नुकसानी देखकर किसानों के दर्द में शामिल होने के लिये पहुँचे तो चौकाने वाली बात सामने आई। कस्बे के पटवारी सुनील कैथवास के साले की शादी है इसलिये अपने प्रतिनिधि बतौर विकल्प बीमा कंपनी के अधिकारी को नुकसानी का आंकलन करने के लिये भेज दिया लेकिन इसकी जानकारी तहसीलदार से लेकर कलेक्टर तक किसी को नहीं है।और तो और मौके पर पहुँचे बीमा कंपनी के अधिकारी दीपक बोरासी ने किसी भी ग्रामीण से चर्चा तक नहीं की जिसके कारण ग्रामीणों को यह भी पता नहीं लग रहा की उनकी फसल का सर्वे हुआ या नहीं।
 वरिष्ठ विधायक यशपालसिंह सिसोदिया ने बताया की ओलावृष्टि,बारिश और  तेज हवाओं के कारण फसलों के क्षतिग्रस्त होने का समाचार सुनकर जब ग्राम ताजखेड़ी पहुँचा तो ग्राम वासियों ने बताया कि पटवारी  सुनील कैथवास ने अभी तक खेतों का सर्वे नहीं किया। इस पर तत्काल गांव के पटवारी शसुनील कैथवास पर दूरभाष से चर्चा की तो उन्होंने बताया कि मेरे साले की शादी होने के कारण मैं आज गांव में नहीं हूं तथा मैंने विकल्प के रूप में बीमा कंपनी के शदीपक बोरासी को गांव के खेतों की फसल नुकसानि का निरीक्षण करने को कहा है। मै एक दिन बाद आकर नुकसानी का आंकलन करुगा।पटवारी श्री कैथवास के क्षेत्र में नहीं होने के कारण किसान और बीमा कंपनी के श्री बोरासी के मध्य कोई संवाद भी नहीं हो पाया जिससे किसानों को उनकी फसल के क्षतिग्रस्त होने का सही आंकलन नहीं होने का अंदेशा भी लग रहा है।जबकि गांव में लगभग 60% से अधिक फसलों का नुकसान हो चुका है।आज फसलों को नुकसान को लेकर विधायक श्री सिसोदिया ने कलेक्टर मंदसौर धनराजू एस.से दूरभाष पर चर्चा की और मंदसौर विधानसभा क्षेत्र में अफीम, गेहूं, ईसबगोल, चना आदि फसल को लेकर हुए व्यापक नुकसानी का आंकलन राजस्व विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों से शीघ्र कराया जाने के लिये कहा। कलेक्टर ने श्री सिसोदिया को अवगत कराया कि उन्होंने निर्देश जारी कर दिए हैं लेकिन यदि क्षतिग्रस्त नुकसान वाले खेतों में राजस्व अमला,पटवारी या अन्य कोई अधिकारी मौके पर नहीं पहुंच रहे हो तो उन गांव के नाम, किसानों के नाम से मुझे अवगत कराएं ताकि राजस्व विभाग को दुरुस्त किया जा सके। इस संदर्भ में गांव के किसानों से आग्रह किया कि यदि उनकी सूचना के बावजूद भी खेतों पर पटवारी या राजस्व अमले के जिम्मेदार अधिकारी आंकलन करने नहीं पहुंच रहे हो तो वे अपने नाम गांव का नाम तथा पटवारी के नाम से मुझे अवगत कराएं ताकि में कलेक्टर को इस आशय की जानकारी दे सकूं। मंदसौर विधायक श्री यशपाल सिंह बताया कि क्षेत्र में हाल ही में हुई व्यापक ओलावृष्टि तेज हवा एवं अचानक वर्षा से कृषकों को भारी नुकसान हुआ है राज्य सरकार यथोचित लाभ किसानों को देने की कार्रवाई करें।
 श्री सिसोदिया ने किसानों की फसलों को हुए नुकसान को लेकर राजस्व अधिकारियों के इस बयान पर और इस सुझाव पर आपत्ति दर्ज की है कि किसान बीमा कंपनियों से संपर्क करें। बीमा कंपनी को जो करना है वह करेंगे लेकिन राज्य सरकार के राजस्व अमले की यह जिम्मेदारी बनती है कि वे क्षतिग्रस्त फसलों का खेत खेत जा कर अवलोकन निरीक्षण करें तथा वास्तविक नुकसान की जानकारी जिला प्रशासन के माध्यम से राज्य शासन तक पहुंचाएं ताकि किसानों को राहत दी जा सके।
 इस दौरान विधायक सिसोदिया के साथ भाजपा दलौदा मंडल अध्यक्ष चंद्रशेखर मंडलोई , भाजपा के वरिष्ठ नेता  भगवान सिंह सिसौदिया भी मौजूद थे।
Chania