Monday, May 17th, 2021 Login Here
कोरोना के गंभीर रोगियों का उपचार सर्वसुविधायुक्त बड़े अस्पतालों में होना जरूरी पुलिस और डाक्टर की पकड़ में कोरोना से सुरक्षित आम आदमी लेकिन लापरवाह लोग बन रहे मुश्किल मंदसौर के मनोज ने कर दिया 200 रूपऐ में आॅक्सी फ्लो मीटर का निर्माण वायरल विडियों ने मंदसौर की दादी को बना दिया स्टाॅर मंदसौर जिला चिकित्सालय में अक्षय तृतीया से सीटी स्कैन मशीन से जांच होना हुई प्रारंभ वित्त मंत्री श्री देवड़ा के निर्देश पर गृह मंत्रालय ने मल्हारगढ़ ब्लॉक कोविड-19 आपदा प्रबंधक मैनेजमेंट कमेटी का गठन कलेक्टर द्वारा किया गया *शामगढ़ में 85 वर्ष के बूढे व्यक्ति का घर से मृत अवस्था मे मिला शव* खुशियों की दास्तां /मल्हारगढ़ कोविड केयर सेंटर से आज 3 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर गए प्रशासन ने मीटिंग बुलाकर ईद घर पर ही मनाने हेतु समझाइश दी । अपने अपने मोहल्ले मैं सख्ती से कर्फ्यू का पालन करवाना और दवाई वितरण करवाना हम सबकी जवाबदेही है: श्री पँवार *जिले में रक्त स्त्रोतम संस्थान द्वारा कराया गया पहला प्लाज्मा डोनेशन जनसारंगी --प्रसंगवश./ सर्वसमावेशी समाज के संस्थापक भगवान परशुराम. दो लाख खर्च होने के बाद भी नहीं बनी खाद, पिट बन गऐ डस्टबिन हॉटस्पॉट में बेखौफ चल रहीं सब्जी मंडी, लोगों की जमा हो रहीं भीड़ महामारी से निपटने आर्थिक सहयोग में आगे आ रहे नागरिक

मन्दसौर निप्र । पुलिस थाना शहर कोतवाली मन्दसौर के एक प्रकरण में सत्र न्यायाधीश  श्री तारकेश्वर सिंह द्वारा आरोपी शाकिर उर्फ शकूर राणा पिता चाँद खाँ मुसलमान निवासी मर्दादीन मोहल्ला किला रोड़ मन्दसौर को धारा 307  भादवि के तहत् पाँच वर्ष सश्रम कारावास एवं पाँच हजार रुपये अर्थदण्ड एवं  आयुध अधिनियम के तहत् एक वर्ष के सश्रम कारावास व एक हजार रूपये अर्थदण्ड तथा अर्थदण्ड न अदा करने पर एक वर्ष एवं दो माह के अतिरिक्त कारावास से दण्डित किये जाने का आदेश दिया है।   
लोक अभियोजक  विकास कुमार बोहोरा (जैन) के अनुसार दिनांक 31.03.2018 को रात नौ बजे के लगभग फरियादी अख्तर उर्फ भूरिया घण्टाघर पर खड़ा था, उसी समय अभियुक्त वकील और शकूर राणा ने पुरानी रंजिश के चलते फरियादी अख्तर उर्फ भूमिया पर चाकू से हमला कर जान से मारने का प्रयास किया। जिसकी सूचना थाना शहर कोतवाली पर प्राप्त होने पर शहर कोतवाली द्वारा अपराध क्रमांक 174-18 धारा 307, 341, 34 भादवि एवं 25 आयुध अधिनियम  के तहत् पंजीबध्द किया गया। अनुसंधान पूर्णकर चालान न्यायालय में प्रस्तुत किया।   
अभियोजन ने अपनी ओर से साक्षियों के कथन कराये। न्यायालय ने अभियोजन द्वारा प्रस्तुत साक्षियों के कथनों एवं प्रकरण में समग्र साक्ष्य के विवेचन तथा अभियोजन के तर्को से सहमत होकर यह निष्कर्ष निकाला कि आरोपी शाकिर उर्फ शकूर राणा पिता चाँद खाँ मुसलमान निवासी मर्दादीन मोहल्ला किला रोड़ मन्दसौर का अपराध  आयुध अधिनियम के तहत् दोषसिध्द पाये जाने से सश्रम कारावास व अर्थदण्ड से दण्डित किया है।  प्रकरण में शासन की ओर से सफल पैरवी लोक अभियोजक  विकास कुमार बोहोरा द्वारा की गई।

Chania