Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,

वैसे तो खाकी पर दाग़ लगने की खबरें अक्सर आप सुनते होंगे। लेकिन होशंगाबाद से जो तस्वीर सामने आई है, उसे देखकर आपका मन भी खाकी को सैल्यूट करने को करेगा।ऐसा इसलिए, क्योंकि ट्रेन से गिरे एक शख्स को अस्पताल पहुंचाने के लिए पुलिस जवान ने किसी का इंतजार नहीं किया, बल्कि घायल शख्स को वो अपने कंधे पर डेढ़ किलोमीटर तक लेकर चला और वक्त रहते अस्पताल पहुंचाया।
ये वाकया सिवनी-मालवा के शिवपुर थाना के पीपल गांव का है। डायल 100 को भोपाल से ये जानकारी मिली थी कि एक शख्स चलती ट्रेन से गिर गया है। इसके बाद आरक्षक पूनम बिल्लोरे और गाड़ी का ड्राइवर राहुल साकल्ले बिना वक्त गंवाए घटना स्थल पर पहुंचे।
लेकिन मौके पर पहुंचकर उनके होश उड़ गए, क्योंकि पटरी के आस-पास सड़क नहीं थी। ऐसे में डायल 100 की गाड़ी घटनास्थल पर नहीं पहुंच पाती। ऐसे में आरक्षक ने इंसानियत और फर्ज की ऐसी मिसाल पेश कि जिसे देखकर हर किसी का मन उसे सैल्यूट करने को करेगा।
आरक्षक बिना वक्त गंवाए उस जगह पर पहुंचा, जहां घायल शख्स गिरा हुआ था। आनन-फानन में पुलिस जवान ने घायल शख्स को अपने कंधे पर उठाया और गाड़ी तक पहुंचाने के लिए दौड़ लगा दी। इस दौरान पीछे से धड़धडा़ती हुई ट्रेन भी गुजरी। लेकिन हौसला इतना मजबूत कि बिना रूके, बिना थके वो दौड़ता गया और डेढ़ किलोमीटर तय करते हुए गाड़ी तक पहुंचा।
जिसके बाद घायल शख्स को अस्पताल पहुंचाया गया। घायल शख्स की पहचान अजीत पिता शिवशंकर 20 साल के रूप में हुई है। उसे गंभीर हालत में सिवनी मालवा अस्पताल में भर्ती कराया गया। प्रारंभिक उपचार के बाद भोपाल के लिए रैफर कर दिया गया है।
Chania