Friday, May 7th, 2021 Login Here
रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित, चार महिने में नहीं बन पाया सवा दो सौ मीटर का नाला दूकान का शटर बंद लेकिन अंदर मिले ग्राहक हर दिन आॅक्सीजन आने का दावा लेकिन खत्म नहीं हो रहीं मारा-मारी *रजिस्ट्री की गाइड लाइन 30 जून तक यथावत* MP में 1 मई से शुरू नहीं होगा वैक्सीनेशन पार्ट-3:2.5 लाख डोज की पहली खेप 3 मई तक मिली तो 18+ लोगों को 5 मई से लगेगा टीका, 19 हजार लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन सोमली नदी को पार कर मंदसौर की तरफ आगे बढा चंबल का पानी

मंदसौर। जिला अस्पताल में मरीज से मिलने जा रहे एक दिव्यांग युवक का गेट पास को लेकर महिला गार्ड से विवाद हो गया। दिव्यांग युवक ने गार्ड पर अभद्रता करने का आरोप लगाया। बाद में दिव्यांग संगठन के 50 से अधिक दिव्यांग ने अस्पताल पहुंचकर साथी के साथ हुए अभद्रता एवं गेट पास का शुल्क मांगे जाने का विरोध किया। दिव्यांगों ने अपनी तीन पहिया सायकलों एवं अन्य वाहनों को जिला अस्पताल के गेट पर खड़े कर करीब एक घंटे तक नारेबाजी की। बाद में शहर पुलिस यहां पहुंची। पुलिस की मौजूदगी में दिव्यांग संगठनों के पदाधिकारियों एवं अस्पताल की सिक्युरिटी ठेकेदार के मैनेजर के बीच चर्चा हुई, मैनेजर ने मौखिक रूप से कहा कि अब दिव्यांगो से गेट पास का शुल्क नहीं लिया जाएगा। इस दौरान संगठन ने सिक्युरिटी स्टॉफ को भी बदलने की मांग की। सिविल सर्जन एके मिश्रा ने बताया कि दिव्यांगों से गेट पास का शुल्क लिया जाए या नहीं इस संबंध में रोगी कल्याण समिति की बैठक में प्रस्ताव रखा जाएगा।
जिला अस्पताल दिव्यांग संगठन द्वारा मंगलवार सुबह 10.30 से 11.30 तक हंगामा किया। दिव्यांग ऋषि राज पंवार मंगलवार सुबह जिला अस्पताल में भर्ती अपने किसी परिचित से मिलने पहुंचा था। उसके पास पांच रूपए का गेट पास नहीं होने के कारण अस्पताल में गेट पर महिला सुरक्षाकर्मी ने उसे रोक लिया। इस दौरान पंवार ने कहा कि दिव्यांगों का गेट पास नहीं लगता है। इसी बात को लेकर उनके बीच बहस हो गई। करीब दस मिनट तक इनके बीच विवाद चलता रहा। बाद में दिव्यांग ऋषि राज ने दिव्यांग संगठन को अपने साथ अभद्रता की जानकारी दी। कुछ ही देर में दशपुर दिव्यांग संगठन के जिला अध्यक्ष दिलीप राठौर, रवि गोयल, सेराज खां, संतोष कुमावत, अशोक कुमावत, जगदीश ओस्तवाल सहित करीब 30 से अधिक साथी पहुंच गए। सभी ने जिला अस्पताल में गेट के बाहर अपने वाहन खड़े कर हंगामा शुरू किया। करीब एक घंटे तक नारेबाजी की। सिक्युरिटी स्टॉफ को हटाने की मांग भी की गई। बाद में शहर कोतवाली पुलिस यहां पहुंची, दिव्यांगों को समझाईश दी। दिव्यांग संगठन ने सिक्युरिटी ठेकेदार के मैनेजर के आश्वासन के बाद हंगामा खत्म हुआ।
इनका कहना -  
- दिव्यांग संगठन ने दिव्यांगों से गेट पास नहीं लिए जाने की मांग की है। यह मामला संज्ञान में आया है। इस पर विचार किया जाएगा। अस्पताल में मरीजों से मिलने का समय निश्चित है, उसका सभी को पालन करना चाहिए। चिकित्सकों के राउंड के समय किसी को अंदर प्रवेश नहीं दिया जाता है। दिव्यांगों से गेट पास के रूपए लेना या नहीं है रोगी कल्याण समिति की बैठक में यह प्रस्ताव रखा जाएगा।
एके मिश्रा, सिविल सर्जन, जिला अस्पताल, मंदसौर
 - जिला अस्पताल में दिव्यांगों के गेट पास एवं वाहन स्टैंड पर राशि नहीं लगती है। इसके बावजूद पैसे लिए जा रहे है। मंगलवार सुबह हमारे साथी ऋषि राज पंवार अस्पताल में भर्ती अपने परिचित से मिलने जा रहे थे। उनसे पांच रूपए का गेट पास मांगा गया और महिला सुरक्षाकर्मी द्वारा अभद्रता की गई। हमने स्टॉफ बदलने एवं दिव्यांगों से गेट व वाहन स्टैंड पर रूपए नहीं लिए जाने की मांग की है। सिक्युरिटी ठेकेदार के मैनेजर ने कहा है कि अब गेट पास के लिए दिव्यांगों से गेट पास के रूपए नहीं लिए जाएंगे।
दिलीप राठौर, अध्यक्ष, दशपुर दिव्यांग संगठन, मंदसौर

Chania