Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,

 भोपाल। लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस प्रत्याशियों की लिस्ट अटकी हुई है। हालांकि पहली लिस्ट जारी करने के लिए पर्याप्त नाम तय हो चुके हैं परंतु ज्योतिरादित्य सिंधिया नहीं चाहते कि पहली लिस्ट में उनका नाम ना हो, इसलिए पूरी लिस्ट अटका रखी है। सूत्रों का दावा है कि मध्यप्रदेश की 29 सीटों में से 17 के नाम फाइनल हो चुके हैं।
कांग्रेस प्रत्याशियों के चयन को 20 मार्च तक अंतिम रूप दे सकती है। स्क्रीनिंग कमेटी और केंद्रीय चुनाव समिति की 20 और 21 मार्च को दिल्ली में बैठक है, जिसमें प्रत्याशियों के नाम पर मुहर लग जाएगी। सूत्रों की मानें तो अभी तक स्क्रीनिंग कमेटी ने 17 सीटों पर नाम तय किए हैं, लेकिन 20 मार्च को होने वाली कमेटी की बैठक में एक बार फिर सभी 29 सीटों पर चर्चा होगी और उसी दिन तय नाम को अंतिम रूप दिया जाएगा।
राजा-महाराजा का टंटा क्या है
ज्योतिरादित्य सिंधिया इस बार अपने पिता की ग्वालियर सीट वापस हासिल करना चाहते हैं परंतु वो भाजपा की लिस्ट का इंतजार कर रहे हैं। यदि भाजपा ने यहां से कोई वजनदार नाम घोषित किया तो ज्योतिरादित्य सिंधिया अपनी गुना सीट से ही लड़ेंगे। दिग्विजय सिंह के लिए राजगढ़ सीट सबसे आसान है, लेकिन उन पर दवाब बनाया जा रहा है कि वो इंदौर या भोपाल से चुनाव लड़ें। भाजपा ने यदि भोपाल से बाबूलाल गौर को टिकट दे दिया तो दिग्विजय सिंह के लिए मुश्किल होगी। इसलिए वो भी भाजपा की लिस्ट का इंतजार कर रहे हैं। यह मसला अब तक तय नहीं हो पाया और उम्मीद है कि इंदौर, भोपाल व राजगढ़ का फैसला सबसे लास्ट में होगा। दो नेताओं के फेर में कुल 5 सीटें अटकी हुईं हैं।
इन सीटों पर नाम तय माने जा रहे हैं-
छिंदवाड़ा - नकुलनाथ,
रतलाम-झाबुआ - कांतिलाल भूरिया,
खंडवा - अरुण यादव
सीधी - अजय सिंह के नाम लगभग फाइनल हैं
मुरैना - रामनिवास रावत
भिंड - रामनारायम हिंडोनिया
सागर - प्रभुसिंह ठाकुर
टीकमगढ़ - संजय कसगर
दमोह - रामकृष्ण कुसमरिया
सतना - राजेंद्र सिंह
रीवा - सिद्धार्थराज तिवारी
बालाघाट - विश्वेश्वर भगत संभावित
Chania