Monday, May 17th, 2021 Login Here
कोरोना के गंभीर रोगियों का उपचार सर्वसुविधायुक्त बड़े अस्पतालों में होना जरूरी पुलिस और डाक्टर की पकड़ में कोरोना से सुरक्षित आम आदमी लेकिन लापरवाह लोग बन रहे मुश्किल मंदसौर के मनोज ने कर दिया 200 रूपऐ में आॅक्सी फ्लो मीटर का निर्माण वायरल विडियों ने मंदसौर की दादी को बना दिया स्टाॅर मंदसौर जिला चिकित्सालय में अक्षय तृतीया से सीटी स्कैन मशीन से जांच होना हुई प्रारंभ वित्त मंत्री श्री देवड़ा के निर्देश पर गृह मंत्रालय ने मल्हारगढ़ ब्लॉक कोविड-19 आपदा प्रबंधक मैनेजमेंट कमेटी का गठन कलेक्टर द्वारा किया गया *शामगढ़ में 85 वर्ष के बूढे व्यक्ति का घर से मृत अवस्था मे मिला शव* खुशियों की दास्तां /मल्हारगढ़ कोविड केयर सेंटर से आज 3 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर गए प्रशासन ने मीटिंग बुलाकर ईद घर पर ही मनाने हेतु समझाइश दी । अपने अपने मोहल्ले मैं सख्ती से कर्फ्यू का पालन करवाना और दवाई वितरण करवाना हम सबकी जवाबदेही है: श्री पँवार *जिले में रक्त स्त्रोतम संस्थान द्वारा कराया गया पहला प्लाज्मा डोनेशन जनसारंगी --प्रसंगवश./ सर्वसमावेशी समाज के संस्थापक भगवान परशुराम. दो लाख खर्च होने के बाद भी नहीं बनी खाद, पिट बन गऐ डस्टबिन हॉटस्पॉट में बेखौफ चल रहीं सब्जी मंडी, लोगों की जमा हो रहीं भीड़ महामारी से निपटने आर्थिक सहयोग में आगे आ रहे नागरिक

मंदसौर निप्र। सरकार किसानों की कृषि उपज समर्थन मूल्य पर खरीद तो रहीं है लेकिन सरकार का कमाल ऐसा कि किसान को अपनी फसल बेचने के लिये अपने गांव से 130 किमी दूर जाना पड़ेगा ऐसे में जिस किसान की फसल 5-7 बोरी है उसे जितना मुनाफा मिलेगा उससे ज्यादा तो उसका भाड़ा लग जायेगा। बावजूद इसके  किसानों की इस कठिनाई को कोई सूनने के लिये तैयार नहीं है। किसानों की इस पीढा पर मंदसौर विधायक यशपालसिंह सिसोदिया ने टवीट् र के जरिये प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का ध्यान आकर्षित किया और तंज भी कसा कि पुत्र का मोह छोड़ कर धरती पुत्र किसानों की सुध लिजिए। तुलाई केन्द्रों की इस विसंगती को लेकर बिते दिनों सुवासरा से कांग्रेस विधायक तो धरना आंदोलन तक की चेतावनी दे चूके है। बावजूद इसके कई क्षेत्रों में अब तक अधिकारियों ने ध्यान ही नहीं दिया जिसका खामियाजा किसानों को भूगतना पड़ रहा है।
किसानों की इस पीढ़ा पर विधायक यशपालसिंह सिसोदिया ने ट्वीटर के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का ध्यान आकर्षित किया और कहा कि मुख्यमंत्रीजी पुत्र मोह छोड़कर धरती पुत्र किसानों की सुध लिजिये। उन्होंने किसान की पीढा को विस्तार से बताते हुए कहा कि मंदसौर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम नंदावता के रहने वाले भंवरलाल जिसका कोड़ 9758693988 है। उसने अपने खेत में चना, मसूर और सरसो को बोया लेकिन उसकी फसल केवल दस बोरी है । उसने अपनी फसल को तुलवाने के लिये प्राथमिक कृषि साख सहकारी संस्था नंदावता में पंजीयन करवाया लेकिन उसे तुलाई के लिये अपने गांव से करीब 110 किमी दूर सुवासरा विधानसभा  क्षेत्र के बर्डिया गुर्जर तक जाना पड़ेगा जबकी नंदावता से दस किमी दूर ग्राम गरोड़ा में भी वेयर हाऊस है जहां उसे अपनी गेहूॅ की फसल को तुलवाना है लेकिन जरा सी फसल को तुलवाने के लिये उसे 110 किमी की दूरी तय करनी पड़ेगी। ऐसे में फसल से उसे जितना मुनाफा मिलेगा उससे ज्यादा का खर्चा तो ट­ेक्टर के डीजल और मानव श्रम में ही हो जायेगा उसे अपनी फसल को तुलवाने के लिये 110 किमी जाकर वापस अपने गांव आने के लिये इतनी ही दूरी तय करनी पडेगी। बावजूद इसके किसी भी जिम्मेदार का ध्यान किसान की इस तकलीफ पर नहीं है।
उल्लेखनिय है कि बिते दिनों सुवासरा क्षेत्र के विधायक हरदीपसिंह डंग भी इस मुद्दे को लेकर अपनी सरकार और  उसके मुख्यमंत्री की कार्यप्रणाली को लेकर सवाल उठा चूके है उन्होने अधिकारियों पर भी आरोप लगाकर कलेक्ट­ेड के सामने धरना देने की चेतावनी दी थी बाद में अधिकारियों ने आश्वासन देकर उन्हें मना लिया था। बावजूद इसके किसान अभी भी परेशान है।

Chania