Friday, June 18th, 2021 Login Here
दो दिन में चार लोगों ने कर ली आत्महत्या/ एक ही दिन में तीन ने मौत को गले लगाया 200 वैक्सीन लगना थी लेकिन 100 ही लगी, ग्रामिणों ने किया हंगामा कलेक्टर ने किया मिनी गोवा यानी कंवला के हर संभव विकास का वादा आरक्षक की मानवता/ घायल को अस्पताल पहुंचाया और घटनास्थल से मिले दस हजार भी लोटाऐ राजाधिराज के पट खुलते ही आराध्य के दर्शन कर हर्षित हुए श्रृद्धालु कोरोना के सक्रिय संक्रमित 24 बचें लेकिन फिर मिला ब्लेक फंगस का संदिग्ध मरीज वैक्सीन लगवाने के बाद मंदसौर के राजाराम ने किया शरीर पर स्टील चिपकने का दावा धर्मातंरण की सूचना के बाद पुलिस और प्रशासन ने खंगाली जेल बारिश से पहले हर बार नोटिस लेकिन सालों से नपा सूची से नाम ही नहीं हट रहे नेहरू बस स्टेण्ड हुआ विरान, उत्कृष्ट स्कूल मैदान में हुआ बसों का बसेरा छोटी पुलिया पर खड़े युवकों से 50 ग्राम स्मैक बरामद चैकिंग में हाथ लगी वाहन चोरों की गैंग, दो आरोपियों से तीन बाईक बरामद आज से राजाधिराज के दरबार में श्रृद्धालुओं को प्रवेश खुले शॉपिंग मॉल, जिम और रेस्टोरेंट, 62 दिन बाद लौटी रौनक कोरोना में सैकड़ों लोगों को खोने के बाद भी हवा की कीमत समझ नहीं आ रही

पूरे दिन झमाझम बरसात
मंदसौर निप्र। लगातार बारिश का दौर थम नही रहा सोमवार की रात से चालु हुई भारी बारिश मंगलवार को भी रूक-रूक कर चलती रही, लगातार हुई बारिश के कारण एक बार फिर भगवान पशुपतिनाथ के चार मुखों का शिवना मैय्या के जल ने जलाभिषेक किया । गांधी सागर बांध के भी चार गेट खोले गए। मंदसौर शहर में अब तक करीब 57इंच बारिश हो चुकी है जिसके चलते पुरा जिला पानी से तर-बतर हो गया, कई जगह फसलों की स्थिति भी खराब होने लगी, नदी-नालें उफान पर है ।
प्रदेश के अन्य जिलों के साथ ही मंदसौर में भारी बारिश के अलर्ट के चलते सोमवार रात करीब 9.30 बजे से प्रारंभ हुई भारी बारिश पुरी रात चलती रही, लगातार हुई बारिश के चलते सुबह करीब 10.30 बजे कालाभाटा बांध के सभी गेट खोले गए जिससे पशुपतिनाथ मंदिर के निकट शिवना मैय्या का जल तेजी से बढ़ने लगा और देखते ही देखते शिवना के जल ने भगवान पशुूपतिनाथ मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश किया और चारमुखों को जलमग्न कर दिया । भगवान के गर्भगृह में जिस समय शिवना मैय्या ने प्रवेश किया उसी समय भगवान के राजभोग का भी निर्धारित समय था ऐसे में मंदिर के पुजारी ने गर्भगृह में पानी होने के बावजुद भगवान को राजभोग का नैवेद्य लगाया और भोग आरती की हालांकि करीब पौन घंटा गर्भगृह में पानी रहने के बाद तेजी से उतरने लगा और 12.30 बजे तक मंदिर से काफी नीचे तक पानी पहुंच गया था । सुबह शहर में धुप भी निकल आई थी लेकिन दोपहर में एक बार फिर झमाझम बारिश का दौर शुरू हो गया । तेज बारिश के चलते बस स्टेण्ड सहित कई क्षेत्रों में पानी भर गया । मंदसौर के साथ ही आसपास के क्षेत्रों में भी लगातार बारिश हो रही है ऐसे में चम्बल नदी का जल स्तर भी तेजी से बढ़ रहा है । मंगलवार की सुबह करीब 5 बजे पानी की लगातार आवक के चलते गांधी सागर बांध के दो छोटे गेट खोले गए जिससे करीब एक लाख क्यूसेक लीटर पानी छोड़े जाने का अनुमान है ।
सीतामऊ मार्ग अवरूध्द
लगातार बारिश के कारण शिवना नदी में तेजी से बढ़े जलस्तर के कारण मंदसौर-सीतामऊ मार्ग भी अवरूध्द हो गया, यात्री बसों एवं अन्य वाहनों को मेनपुरिया की और से घुमकर सीतामऊ की और जाना पड़ा ।
आवागमन बंद नाहरगढ से बिल्लोद के बीच राहगीर परेशान
नाहरगढ । नाहरगढ   से बिल्लोद के बीच शिवना नदी की छोटी पुलिया पर रविवार व  सोमवार से आवागमन बंद चालू के साथ मंगलवार दिन रात पानी का जलस्तर बढ रहा है । बुधवार को शाम आगे की आवक के आधार पर ही आवागमन चल सकेगा । सीधा सड़क मार्ग बंद से अंचलवासी व क्षेत्रवासी परेशान होते रहे । शासन व प्रशासन की ओर सभी आमजन की निगाहे लगी हुई है ।



Chania