Monday, February 26th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी

पूरे दिन झमाझम बरसात
मंदसौर निप्र। लगातार बारिश का दौर थम नही रहा सोमवार की रात से चालु हुई भारी बारिश मंगलवार को भी रूक-रूक कर चलती रही, लगातार हुई बारिश के कारण एक बार फिर भगवान पशुपतिनाथ के चार मुखों का शिवना मैय्या के जल ने जलाभिषेक किया । गांधी सागर बांध के भी चार गेट खोले गए। मंदसौर शहर में अब तक करीब 57इंच बारिश हो चुकी है जिसके चलते पुरा जिला पानी से तर-बतर हो गया, कई जगह फसलों की स्थिति भी खराब होने लगी, नदी-नालें उफान पर है ।
प्रदेश के अन्य जिलों के साथ ही मंदसौर में भारी बारिश के अलर्ट के चलते सोमवार रात करीब 9.30 बजे से प्रारंभ हुई भारी बारिश पुरी रात चलती रही, लगातार हुई बारिश के चलते सुबह करीब 10.30 बजे कालाभाटा बांध के सभी गेट खोले गए जिससे पशुपतिनाथ मंदिर के निकट शिवना मैय्या का जल तेजी से बढ़ने लगा और देखते ही देखते शिवना के जल ने भगवान पशुूपतिनाथ मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश किया और चारमुखों को जलमग्न कर दिया । भगवान के गर्भगृह में जिस समय शिवना मैय्या ने प्रवेश किया उसी समय भगवान के राजभोग का भी निर्धारित समय था ऐसे में मंदिर के पुजारी ने गर्भगृह में पानी होने के बावजुद भगवान को राजभोग का नैवेद्य लगाया और भोग आरती की हालांकि करीब पौन घंटा गर्भगृह में पानी रहने के बाद तेजी से उतरने लगा और 12.30 बजे तक मंदिर से काफी नीचे तक पानी पहुंच गया था । सुबह शहर में धुप भी निकल आई थी लेकिन दोपहर में एक बार फिर झमाझम बारिश का दौर शुरू हो गया । तेज बारिश के चलते बस स्टेण्ड सहित कई क्षेत्रों में पानी भर गया । मंदसौर के साथ ही आसपास के क्षेत्रों में भी लगातार बारिश हो रही है ऐसे में चम्बल नदी का जल स्तर भी तेजी से बढ़ रहा है । मंगलवार की सुबह करीब 5 बजे पानी की लगातार आवक के चलते गांधी सागर बांध के दो छोटे गेट खोले गए जिससे करीब एक लाख क्यूसेक लीटर पानी छोड़े जाने का अनुमान है ।
सीतामऊ मार्ग अवरूध्द
लगातार बारिश के कारण शिवना नदी में तेजी से बढ़े जलस्तर के कारण मंदसौर-सीतामऊ मार्ग भी अवरूध्द हो गया, यात्री बसों एवं अन्य वाहनों को मेनपुरिया की और से घुमकर सीतामऊ की और जाना पड़ा ।
आवागमन बंद नाहरगढ से बिल्लोद के बीच राहगीर परेशान
नाहरगढ । नाहरगढ   से बिल्लोद के बीच शिवना नदी की छोटी पुलिया पर रविवार व  सोमवार से आवागमन बंद चालू के साथ मंगलवार दिन रात पानी का जलस्तर बढ रहा है । बुधवार को शाम आगे की आवक के आधार पर ही आवागमन चल सकेगा । सीधा सड़क मार्ग बंद से अंचलवासी व क्षेत्रवासी परेशान होते रहे । शासन व प्रशासन की ओर सभी आमजन की निगाहे लगी हुई है ।



Chania