Sunday, August 1st, 2021 Login Here
छापामार कार्रवाहीं में यूरिया की कालाबाजारी करते पकड़े गऐ व्यापारी जहरीले जाम से बही के चैकीदार की भी मौत, एसआईटी पहुंची जांच के लिए एम्बुलेंस स्टेण्ड पर जमाया निजी टैक्सियों ने कब्जा, पुलिस ने हटवाया मंडी में हम्मालों ने कर दी हड़ताल, चर्चा के बाद काम पर लोटे मंगलवार को बादल हुए साफ, ठण्डक रहीं बरकरार जहरीली शराब कांड, एक के बाद एक तीन और मौतों के बाद आंकड़ा पहंुचा 10 पर सावन का पहला सोमवार, शिवमय हुआ पशुपति का शहर लगातार बारिश से शिवना लबालब, शिव के अभिषेक से दूर रह गई मैय्या अब मंदसौर के आसमान पर उडान भर तैयार होंगें पायलट जहरीली शराब से एक और की मौत, चार गंभीर में से एक रेफर महिनों के बजाय सालों में पूरे हुए सेतु में घटिया निर्माण का टांका फिर भी कार्रवाहीं नहीं शराब पीने के बाद तीन की मौत , चार घायल समर्थ गुरु से जुड़े जीवन मे अज्ञानता होगी दूर -आचार्यश्री आस्था के पुष्प से गुरू को नमन, आज से प्रारम्भ होगी शिवशंकर की आराधना साठ साल बाद गांधीसागर झील का लाभ किसानों को, डेढ़ लाख हेक्टेयर में सिंचाई
50 एक्सपर्ट रख रहे है सोश्यल मिडिया की गतिविधियों पर निगाह
मंदसौर निप्र। अयोध्या विवाद मामलें में सुप्रीम कोर्ट के द्वारा फैसला सुनाए जाने के दूसरे दिन रविवार को भी जिलें भर में शांति एवं सदभाव का वातावरण बना रहा । कहीं कोई अप्रिय घटना घटित नही हुई । पुलिस के द्वारा चप्पे-चप्पे पर नजर बनाएें रखी वहीं प्रत्येक थाना क्षेत्र में पुलिस एवं प्रशासन ने संयुक्त रूप से फ्लेग निकाला । पुलिस के द्वारा तकनीक का पूर्ण रूप से सहारा लेते हुए ड­ोन कैमरो एवं सीसीटीवी कैमरो के माध्यम से भी एक्सपर्ट के द्वारा प्रत्येक गतिविधि पर नजरें रखी जा रही है । इधर सायबर सेल में भी 50 एक्सपर्ट अधिकारियों की टीम कलेक्टर तथा एसपी के मार्गदर्शन में कार्य रही है तथा सोश्यल मिडिया पर सक्रिय प्रत्येक वाट्सअप ग्रुप एवं फेसबुक  की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है । रविवार को मुस्लिम समाज के द्वारा भी शांति तथा सौहार्दपूर्ण वातावरण में आपसी भाईचारे के साथ ईदमिलादुन्नबी का त्यौहार हर्षोल्लास के साथ मनाया गया ।
उल्लेखनीय है कि वर्षो से चले आ रहे अयोध्या रामलला विवाद मामलें में सुप्रीम कोर्ट के द्वारा शनिवार को अंतिम फैसला सुनाया गया, कोर्ट के द्वारा लगातार सुनवाई की गई जिसके बाद फैसला सुरक्षित रखा गया था वहीं फैसला सुनाए जाने की संभावित तारीख भी घोषित की थी । फैसले की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आती गई जिलें का प्रशासन एवं पुलिस भी सक्रिय होता गया और शासन तथा वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशों के अनुसार पुलिस एवं प्रशासन ने अपनी तैयारियां पूर्ण कर ली थी । शुक्रवार को रात करीब 9 बजे के आसपास जैसे ही अधिकृत जानकारी मिली की शनिवार को इस मामलें में फैसला सुनाया जाएगा जिसके बाद पुलिस और ज्यादा सक्रिय हो गई थी और अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देते हुए चप्पे-चप्पे को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया ताकि परिन्दा भी पर ना मार सके अौर जिलें की शांति व्यवस्था कायम रह सके । फैसले के अगले दिन रविवार को भी पुलिस तथा प्रशासन पूर्ण रूप से मुस्तैद रहा । जिला मुख्यालय सहित विभिन्न थाना क्षेत्रों में फ्लेग मार्च प्रशासन एवं पुलिस ने संयुक्त रूप से निकाला तथा असामाजिक तत्वों को आगाह करते हुए संदेश दिया कि छोटा से छोटा भी कोई उत्पात या शांति भंग करने का प्रयास किया तो पुलिस पूर्ण रूप से अलर्ट है तथा बदमाशों को कतई बख्शा नही जाएगा । शनिवार की तरह ही रविवार को भी सीसीटीवी कैमरे तथा ड­ोन कैमरो के माध्यम से गली, मोहल्लों एवं चौराहो पर प्रशासन ने अपनी पेनी नजर रखी । रविवार का अवकाश होने के चलते बाजार सुनसान रहे आवश्यक कार्यो के लिए ही लोग बाजार में निकले वहीं आवश्यक वस्तुओं की दुकानें ही खुली हुई पाई गई । इधर प्रशासन ने शनिवार को ही ऐसी होटल एवं दुकानों को चिन्हित किया था जहां आवश्यकता से अधिक लोग एकत्र होते है उन्हें पहले ही ताकिद किया गया था कि वह अपने व्यवसाय को या तो बंद रखे या फिर सीमित स्थिति में ही कार्य करें ।

Chania