Sunday, August 1st, 2021 Login Here
छापामार कार्रवाहीं में यूरिया की कालाबाजारी करते पकड़े गऐ व्यापारी जहरीले जाम से बही के चैकीदार की भी मौत, एसआईटी पहुंची जांच के लिए एम्बुलेंस स्टेण्ड पर जमाया निजी टैक्सियों ने कब्जा, पुलिस ने हटवाया मंडी में हम्मालों ने कर दी हड़ताल, चर्चा के बाद काम पर लोटे मंगलवार को बादल हुए साफ, ठण्डक रहीं बरकरार जहरीली शराब कांड, एक के बाद एक तीन और मौतों के बाद आंकड़ा पहंुचा 10 पर सावन का पहला सोमवार, शिवमय हुआ पशुपति का शहर लगातार बारिश से शिवना लबालब, शिव के अभिषेक से दूर रह गई मैय्या अब मंदसौर के आसमान पर उडान भर तैयार होंगें पायलट जहरीली शराब से एक और की मौत, चार गंभीर में से एक रेफर महिनों के बजाय सालों में पूरे हुए सेतु में घटिया निर्माण का टांका फिर भी कार्रवाहीं नहीं शराब पीने के बाद तीन की मौत , चार घायल समर्थ गुरु से जुड़े जीवन मे अज्ञानता होगी दूर -आचार्यश्री आस्था के पुष्प से गुरू को नमन, आज से प्रारम्भ होगी शिवशंकर की आराधना साठ साल बाद गांधीसागर झील का लाभ किसानों को, डेढ़ लाख हेक्टेयर में सिंचाई

चुनाव होते ही फिर बड़ा आंकडा, त्यौहार के समय सर्तक रहने की जरूरत
मंदसौर जनसारंगी।
पिछले एक महिने में कोरोना के आंकड़ों में जिस तरह से कमी आई है उससे लग रहा है कि लोगों के मन से कोरोना का डर खत्म हो गया है जबकि कोरोना अभी गया नहीं है। हालांकि पूरे चुनाव के दौरान 15 दिनों में केवलतीन मर्तबा ही कोरोना पॉजीटिव मरीजों की संख्या 10 के आंकडे को पार कर चूकी है लेकिन 3  नवम्बर को मतदान होते ही 5 नवम्बर को कोरोना पॉजीटिव का आंकड़ा 21 आया है ऐसे में लोगों को सर्तक रहने की जरूरत है क्योंकि अगले सप्ताह दीपावली महापर्व है लेकिन बाजार में उमड़ रहीं भीड़ और उसमें भी बिना मास्क लगाए घूम रहे लोगों को देखकर लग रहा है कि शायद लोग अब भी जागरूक होने का तैयार नहीं है।
शनिवार से यातायात पुलिस ने भले ही शहर का यातायात रूट चार्ट लागु कर दिया। बड़े वाहनों को भीड-भाड वालें इलाकों में प्रवेश देना बंद कर दिया लेकिन बाजार में भीड़ बरकरार है और उसमें भी कोरोना की सावधानी बरतने वालों की संख्या ऊंगलियों पर गिने जाने जैसी है। अधिकांश लोग ना तो सौश्यल डिस्टैसिंग का पालन कर रहे है और ना ही मास्क लगाकर घूम रहे हैं। लापरवाहीं बरतने वालों  में वृध्द से लेकर महिला,पुरूष, युवा और यहां तक की बच्चें भी शामिल है। जबकी  विदेशों में कोरोना के मामलें लगातार बढ़ रहे है अधिकांश देश फिर से लॉक डाउन लागू कर चूके है।भारत में भी आने वाले दिनों में कोरोना बढ़ने की आशंका स्वास्थ्य विभाग जता रहा है। ऐसे में कोरोना का संकट अभी टला है। लेकिन लोगों की सावधानी खत्म हो गई है। क्योंकि चुनाव के दरम्यिान कोरोना के मरीजों में कमी आई थी। 21  अक्टूबर से 5 नवम्बर के बीच केवल 3 बार ही दस से ज्यादा मरीज मिले थे उसमें भी अधिकतम 15 ही मरीज थे लेकिन चुनाव का मतदान होने के दूसरे दिन ही कोरोना मरीजों की संख्या बड़कर 21 हो गई है। जबकि कोरोना की शुरूआत यानी लॉक डाउन से लेकर नवम्बर के पहले सप्ताह तक 43 हजार 898 लोगों की सैंपलिंग की गई इसमें 2076 पॉजीटिव पाए गए तथा 23 लोगों की मौत हो गई। अभी 53 एक्टिव केस है और 2 हजार लोग कोरोना को हराकर अपने घर जा चूके है। कोरोना मरीजों की संख्या कम होने के साथ ही प्रशासन ने भी चालानी कार्रवाई को बंद कर दिया जिसके चलते बाजार में भारी भीड़ उमडने के बाद भी लोग समझने को तैयार नहीं है। बिना मास्क लगाए घूम रहे लोग कोरोना को बुलावा दे रहे है। ऐसे में अब प्रशासन को कोरोना से बचने की सावधानी बरतने के लिए सख्ती जरूरी दिख रहीं है ताकी कुछ हद तक लोग कोरोना से बचने के लिए सावधानी बरते।
डेंगू का खतरा भी बड़ रहा
बात करें डेंगू की तो इस बार यह भी मानने को तैयार नहीं है। आंकड़ो पर गौर करे तो जिले में जनवरी से 15 सितंबर तक मात्र 3 डेंगू के मरीज थे। पौने दो माह में 53 नए मरीज सामने आए हैं। इस तरह जिले में डेंगू के कुल मरीज 56 हो गए हैं। पिछले तीन साल का आंकड़ा देखें तो ये अब तक के सर्वाधिक मरीज हैं। इससे पहले 2018 में सबसे अधिक 32 मरीज सामने थे। इस साल नवंबर माह तक आंकड़ा 56 तक पहुंच गया। अभी भी डेढ़ माह बाकी है। ऐसे में आंकड़ा 100 पार जाने की संभावना जताई जा रही है। संक्रमण तेज होने पर कलेक्टर मनोज पुष्प ने विभागों की बैठक लेकर रोकथाम के निर्देश जारी किए।
चिकनगुनिया, मलेरिया नियंत्रण के लिए भी योजना
कलेक्टर मनोज पुष्प की अध्यक्षता में मलेरिया के साथ ही डेंगू एवं चिकनगुनिया के नियंत्रण के संबंध में सुशासन भवन स्थित सभाकक्ष में बैठक हुई। कलेःटर ने निर्देश दिए कि रोकथाम के लिए पूरे जिले में व्यापक रूप से अभियान चलाएं। जितने भी कर्मचारी इस अभियान में लगेंगे उनकी सतत मॉनिटरिंग की जाए तथा उसकी रिपोर्ट जल्द बनाकर प्रस्तुत करें। जिला मलेरिया अधिकारी करणसिंह भूरिया ने बताया कि डेंगू रोकथाम के लिए सतत प्रयास किए जा रहे हैं। निरंतर लार्वा सर्वे के साथ ही स्वास्थ्य सर्वे दवाई छिडक़ाव व फॉगिंग का काम चल रहा है। नपा स्वास्थ्य अधिकारी केजी उपाध्याय ने बताया कि मलेरिया व डेंगू रोकथाम के लिए टीमों का गठन कर दिया है। शुक्रवार को नपा कार्यालय में छिडक़ाव किया गया।

दिनांक    पॉजीटिव संख्या
5 नवम्बर     21
4 नवम्बर     02
3 नवम्बर    06
2 नवम्बर    02
1 नवम्बर    04
31 अक्टॅूबर    04
30 अक्टूबर    03
29 अक्टूबर    04
28 अक्टूबर    01
27 अक्टूबर    02
26 अक्टूबर    02
25 अक्टूबर    05
24 अक्टूबर    07
23 अक्टूबर    15
22 अक्टूबर    10
21 अक्टूबर    12
Chania