Sunday, March 3rd, 2024 Login Here
मंदसौर संसदीय क्षेत्र से सुधीर गुप्ता को मिला टिकीट सेवा कार्यो में उत्कृष्ट कार्य को लेकर रेडक्रॉस सोसायटी जिला शाखा मंदसौर को मिला अवार्ड बांछड़ा डेरों पर पुलिस की दबिश, भारी मात्रा में अवैध शराब जप्त प्रतिवेदन पेश नहीं करने पर नपा सीएमओं के खिलाफ पांच हजार का जमानती वारंट जारी सूदखोरों से परेशान होकर की आत्महत्या, पिता के मृत्युभोज के लिए लिया था पैसा मंत्री सारंग ने की वन-टू-वन चर्चा, कहा 6 लाख वोट से भाजपा को जिताने का संकल्प ले लोकसभा चुनाव - भाजपा के 155 उम्मीदवारों की सूची आज घोषित होने की संभावना स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क


प्रदेश में भाजपा की सरकार बावजूद इसके भाजपा की सरकार में गृह मंत्री रहे कैलाश चावला ने मंदसौर की पुलिस पर सवालियां निशान खड़े किए है। दरअसल गुरूवार को मंदसौर के कृष्णा कम्पाउंड में रहने वाली वृ़द्धा रोशनबाई के साथ दोपहर में चैन खिंचने की घटना हुई थी लेकिन मंदसौर की शहर कोतवाली पुलिस ने सात घंटे तक आरोपियों को पकड़ना तो दूर वृद्धा की रिर्पोट तक दर्ज नहीं की। ऐसे में प्रदेश सरकार के पूर्व गृह मंत्री कैलाश चावला ने सौशल मिडिया पर नाराजगी जताते हुए पोस्ट लिखा जिसमें उन्होंने कहा कि मन्दसौर में कृष्णा कम्पाउंड निवासी महिला रोशनबाई की चैन स्नेचिंग की घटना की रिपोर्ट जिला मुख्यालय पर 7 घण्टे तक न लिखा जाना सिटी कोतवाली के पुलिस अधिकारियों को घोर लापरवाही ओर कानूनी प्रावधानों का जानबुझकर उल्ललंघन कहा जाना चाहिए।जानकारी के अनुसार 3 बजे घटित घटना घटित होने के बाद भी महिला की रिपोर्ट रात 10 बजे तक नही लिखी गई यह आपत्तिजनक व्यहवार है सिटी कोतवाली में इस तरह का व्यवहार आये दिनो होने की शिकायत प्राप्त होती है  लोगो को परेशान किये जाने के कारण सर्व विदित है। पुलिस अधीक्षक मन्दसौर से यह अपेक्षा की जाती है की सिटी कोतवाली में फरियादी की सुनवाई एवं उसके साथ ठीक व्यवहार हो यह सुनिश्चित करे तथा इस घटना की रिपार्ट लिखने में विलम्ब करने के दोषी अधिकारियो के विरुद्ध कठोर कार्यवाही कर ताकि जनता का विश्वास पुलिस के प्रति बना रहे।
उधर पूर्व गृह मंत्री के बयान के बाद पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चैधरी ने कहा कि लापरवाहीं जैसा कुछ नहीं है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई थी और जांच शुरू कर दी थी इसी में समय लगा।

Chania