Friday, June 18th, 2021 Login Here
दो दिन में चार लोगों ने कर ली आत्महत्या/ एक ही दिन में तीन ने मौत को गले लगाया 200 वैक्सीन लगना थी लेकिन 100 ही लगी, ग्रामिणों ने किया हंगामा कलेक्टर ने किया मिनी गोवा यानी कंवला के हर संभव विकास का वादा आरक्षक की मानवता/ घायल को अस्पताल पहुंचाया और घटनास्थल से मिले दस हजार भी लोटाऐ राजाधिराज के पट खुलते ही आराध्य के दर्शन कर हर्षित हुए श्रृद्धालु कोरोना के सक्रिय संक्रमित 24 बचें लेकिन फिर मिला ब्लेक फंगस का संदिग्ध मरीज वैक्सीन लगवाने के बाद मंदसौर के राजाराम ने किया शरीर पर स्टील चिपकने का दावा धर्मातंरण की सूचना के बाद पुलिस और प्रशासन ने खंगाली जेल बारिश से पहले हर बार नोटिस लेकिन सालों से नपा सूची से नाम ही नहीं हट रहे नेहरू बस स्टेण्ड हुआ विरान, उत्कृष्ट स्कूल मैदान में हुआ बसों का बसेरा छोटी पुलिया पर खड़े युवकों से 50 ग्राम स्मैक बरामद चैकिंग में हाथ लगी वाहन चोरों की गैंग, दो आरोपियों से तीन बाईक बरामद आज से राजाधिराज के दरबार में श्रृद्धालुओं को प्रवेश खुले शॉपिंग मॉल, जिम और रेस्टोरेंट, 62 दिन बाद लौटी रौनक कोरोना में सैकड़ों लोगों को खोने के बाद भी हवा की कीमत समझ नहीं आ रही


प्रदेश में भाजपा की सरकार बावजूद इसके भाजपा की सरकार में गृह मंत्री रहे कैलाश चावला ने मंदसौर की पुलिस पर सवालियां निशान खड़े किए है। दरअसल गुरूवार को मंदसौर के कृष्णा कम्पाउंड में रहने वाली वृ़द्धा रोशनबाई के साथ दोपहर में चैन खिंचने की घटना हुई थी लेकिन मंदसौर की शहर कोतवाली पुलिस ने सात घंटे तक आरोपियों को पकड़ना तो दूर वृद्धा की रिर्पोट तक दर्ज नहीं की। ऐसे में प्रदेश सरकार के पूर्व गृह मंत्री कैलाश चावला ने सौशल मिडिया पर नाराजगी जताते हुए पोस्ट लिखा जिसमें उन्होंने कहा कि मन्दसौर में कृष्णा कम्पाउंड निवासी महिला रोशनबाई की चैन स्नेचिंग की घटना की रिपोर्ट जिला मुख्यालय पर 7 घण्टे तक न लिखा जाना सिटी कोतवाली के पुलिस अधिकारियों को घोर लापरवाही ओर कानूनी प्रावधानों का जानबुझकर उल्ललंघन कहा जाना चाहिए।जानकारी के अनुसार 3 बजे घटित घटना घटित होने के बाद भी महिला की रिपोर्ट रात 10 बजे तक नही लिखी गई यह आपत्तिजनक व्यहवार है सिटी कोतवाली में इस तरह का व्यवहार आये दिनो होने की शिकायत प्राप्त होती है  लोगो को परेशान किये जाने के कारण सर्व विदित है। पुलिस अधीक्षक मन्दसौर से यह अपेक्षा की जाती है की सिटी कोतवाली में फरियादी की सुनवाई एवं उसके साथ ठीक व्यवहार हो यह सुनिश्चित करे तथा इस घटना की रिपार्ट लिखने में विलम्ब करने के दोषी अधिकारियो के विरुद्ध कठोर कार्यवाही कर ताकि जनता का विश्वास पुलिस के प्रति बना रहे।
उधर पूर्व गृह मंत्री के बयान के बाद पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चैधरी ने कहा कि लापरवाहीं जैसा कुछ नहीं है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई थी और जांच शुरू कर दी थी इसी में समय लगा।

Chania