Friday, June 18th, 2021 Login Here
दो दिन में चार लोगों ने कर ली आत्महत्या/ एक ही दिन में तीन ने मौत को गले लगाया 200 वैक्सीन लगना थी लेकिन 100 ही लगी, ग्रामिणों ने किया हंगामा कलेक्टर ने किया मिनी गोवा यानी कंवला के हर संभव विकास का वादा आरक्षक की मानवता/ घायल को अस्पताल पहुंचाया और घटनास्थल से मिले दस हजार भी लोटाऐ राजाधिराज के पट खुलते ही आराध्य के दर्शन कर हर्षित हुए श्रृद्धालु कोरोना के सक्रिय संक्रमित 24 बचें लेकिन फिर मिला ब्लेक फंगस का संदिग्ध मरीज वैक्सीन लगवाने के बाद मंदसौर के राजाराम ने किया शरीर पर स्टील चिपकने का दावा धर्मातंरण की सूचना के बाद पुलिस और प्रशासन ने खंगाली जेल बारिश से पहले हर बार नोटिस लेकिन सालों से नपा सूची से नाम ही नहीं हट रहे नेहरू बस स्टेण्ड हुआ विरान, उत्कृष्ट स्कूल मैदान में हुआ बसों का बसेरा छोटी पुलिया पर खड़े युवकों से 50 ग्राम स्मैक बरामद चैकिंग में हाथ लगी वाहन चोरों की गैंग, दो आरोपियों से तीन बाईक बरामद आज से राजाधिराज के दरबार में श्रृद्धालुओं को प्रवेश खुले शॉपिंग मॉल, जिम और रेस्टोरेंट, 62 दिन बाद लौटी रौनक कोरोना में सैकड़ों लोगों को खोने के बाद भी हवा की कीमत समझ नहीं आ रही

शामगढ़ में हुए हत्याकांड का 48 घंटे में ही पुलिस ने किया खुलासा
मंदसौर जनसारंगी।
अच्छा घर बनाने के लिए बेटे ने माॅ के हिस्से की जमीन को बेचना चाहा, उसका सौदा भी चार लाख रूपए में तय कर दिया लेकिन इसके लिए माॅ राजी नहीं हुई तो बेटे ने कुल्हाड़ी से अपनी ही माॅ की हत्या कर दी और घटना को लूट के लिए हत्या बताने के उद्देश्य से घर का सामान अस्त-व्यस्त कर दिया और खेत पर जाकर सो गया। शव मिलते ही पुलिस ने जांच शुरू की और 48 घंटे में ही पूरे हत्याकांड का पर्दाफाश कर आरोपी बेटे को गिरफ्तार कर लिया।
यह जानकारी देते हुए शामगढ़ थाना प्रभारी गोपाल सूर्यवंशी ने बताया कि 2 मई को ग्राम असावती मे मुन्नीबाई पति रतनलाल सौंधिया राजपुत का शव उसके घर में ही मिला था। प्रारम्भिक तौर पर ही मामला हत्या का लग रहा था जिसके चलते पुलिस ने हत्या की धारा 302 भादवी में प्रकरण दर्ज जांच शुरू की इसी दौरान पुलिस को पता चला की पिछले कुछ समय से परिवार मे जमीन के बंटवारे व बेचने को लेकर विवाद चल रहा था। इसी तथ्य के आधार पर पुलिस ने अपनी जांच को आगे बढाया तो पता लगा कि घटना दिनांक से दो दिन पूर्व मृतिका मुन्नाबाई के पुत्र चंदरसिंह ने अपनी माँ की हिस्से की एक बीघा जमीन का सौदा चार लाख रुपये मे किया था जिसको लेकर मां बेटे मे अन बन चल रही थी बेटा चंदरसिंह चाहता था कि सौदे के रुपये से अच्छा घर बनाया जाये जिससे उसकी शादी हो सके । क्योंकि अच्छा घर नही होने से उसके लिए कोई रिश्ता नही आ रहा था ।परन्तु माँ इसके लिए तैयार नही थी। इस महत्वपूर्ण तथ्य के सामने आते ही पुलिस ने चन्दरसिंह पिता रतनसिंह को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबुल कर लिया ।
आरोपी चंदरसिंह ने पुलिस को बताया कि  घटना की रात्री मे उसके एवं उसकी माँ के बीच बहस हुई थी कि जमीन को बेचकर अच्छा मकान बनाया जाये जिससे मेरी शादी हो जाये। लेकिन बची हुई जमीन को बेचने में भी उसकी माँ अडंगा लगा रही थी,जबकि वह चाहता था कि बची हुई जमीन को बेचकर आराम का जीवन व्यतीत किया जाये ।जिसके लिए उसकी माँ तैयार नही हुई ।इस बात से नाराज होकर गुस्से में वह  खेत पर सोने के लिए चला गया था और यहीं उसने अपनी माॅ की हत्या करने साजिश को रचा, उ सने सोचा कि जब तक उसकी माँ जिन्दा है उसकी शादी नही होगी। इसी के चलते सुबह साढे चार बजे करीबन अंधेरे का फायदा उठाकर घर जाकर घर के पीछे की तरफ से अंदर जाकर पहले से घर मे सोई हुई माँ को घर मे पहले से ही रखी कुल्हाडी से सिर पर तीन वार कर मौत के घाट उतार दिया और घटना को दूसरा मोड देने एवं पुलिस को गुमराह करने के उद्देश्य से घर का सामान अस्त व्यस्त कर दिया और वापस खेत पर जाकर सो गया जिससे किसी को भी उस पर शक ना हो और फिर सुबह आकर सब के सामने नाटक किया की माँ अंदर से दरवाजा नही खोल रही व चैकीदार व आसपास की भीड को इकट्टा कर पुलिस को अपनी माँ की हत्या किसी अज्ञात बदमाश के द्वारा की जाने की झूठी जानकारी देकर गुमराह करने की कोशिश की गई

Chania