Sunday, August 1st, 2021 Login Here
छापामार कार्रवाहीं में यूरिया की कालाबाजारी करते पकड़े गऐ व्यापारी जहरीले जाम से बही के चैकीदार की भी मौत, एसआईटी पहुंची जांच के लिए एम्बुलेंस स्टेण्ड पर जमाया निजी टैक्सियों ने कब्जा, पुलिस ने हटवाया मंडी में हम्मालों ने कर दी हड़ताल, चर्चा के बाद काम पर लोटे मंगलवार को बादल हुए साफ, ठण्डक रहीं बरकरार जहरीली शराब कांड, एक के बाद एक तीन और मौतों के बाद आंकड़ा पहंुचा 10 पर सावन का पहला सोमवार, शिवमय हुआ पशुपति का शहर लगातार बारिश से शिवना लबालब, शिव के अभिषेक से दूर रह गई मैय्या अब मंदसौर के आसमान पर उडान भर तैयार होंगें पायलट जहरीली शराब से एक और की मौत, चार गंभीर में से एक रेफर महिनों के बजाय सालों में पूरे हुए सेतु में घटिया निर्माण का टांका फिर भी कार्रवाहीं नहीं शराब पीने के बाद तीन की मौत , चार घायल समर्थ गुरु से जुड़े जीवन मे अज्ञानता होगी दूर -आचार्यश्री आस्था के पुष्प से गुरू को नमन, आज से प्रारम्भ होगी शिवशंकर की आराधना साठ साल बाद गांधीसागर झील का लाभ किसानों को, डेढ़ लाख हेक्टेयर में सिंचाई

पंचनामे के कागजों में दबकर रह गया पेडों की बली चढाने का मामला
मंदसौर जनसारंगी।
अभी हाल ही में कोरोना संक्रमण  के दौरान ऑक्सीजन की कमी के कारण कई लोगों की जानें चली गई। बावजूद इसके लोगों को हवा की कीमत समझ नहीं आ रही है। जबकी अभी जोर-शोर मनाऐ गये पर्यावरण दिवस को एक सप्ताह भी नहीं बिता है जब लोग पर्यावरण को बचाने की कसमें खा रहे थे लेकिन जब सीमेंट क्रांकिट के जंगल बनाने के लिए हरे-भरे पेड़ों की बली चढाई गई तो कोई भी दमदारी से रूकवाने के लिए आगे नहीं आया। नपा के जिम्मेदार भी मौके पर पहुंचे लेकिन कार्रवाहीं केवल पंचनामे के कागजों में दबकर रह गई लेकिन इसके बाद भी दोषियों पर कार्रवाहीं की मांग के लिए आवाज तक नहीं उठ रहीं है।
कोरोना ने यह साबित किया है कि पर्यावरण को बचाने की आवश्यकता है बावजूद इसके लगातार पेड़ों की कटाई जारी है। जंगल हो या शहर या फिर गांव, सभी जगहों पर पेड़ों की कटाई की जा रही है। अधिकारियों की लापरवाही भी पेड़ों के हत्यारों का आत्मविश्वास बढ़ा रही है। दरअसल पदमावती रिसोर्ट के पास हरे भरे पेड़ों की बलि  दे दी गई वह भी सिर्फ पार्किंग बनाने के लिए। इसके बाद सीएमओ पीके सुमन मौके पर पहुंचे, लेकिन सिर्फ पंचनामा तक ही कार्रवाई सीमित रह गई। कलेक्टर मनोज पुष्प ने भी मामले में संज्ञान नहीं लिया।
जबकि सोमवार को पदमावती नगर स्थित जैन मंदिर के पास बगीचे में लगे पेड़ों को दो युवकों ने काट दिया। दोनों यहां पार्किंग बनाना चाह रहे थे। इस पर आसपास के लोगों ने विरोध भी किया, लेकिन युवकों ने किसी की नहीं सुनी और विरोध करने वालों ने भी इतना दम नहीं दिखाया, नगरपालिका को इस संबंध में सूचना दी गई। नपा सीएमओ पीके सुमन मौके पर पहुंचे। लेकिन जब तक सीएमओ पहुंचे पेड़ों को काट दिया गया था। दोनों युवकों ने सीएमओ से भी बदतमीजी करते हुए दबंगई दिखाई। यहां नपा की टीम से खासी बहस हुई। इसके बाद नपा सीएमओ पंचनामा बनाकर वापिस लौट गए। अब सबसे बड़ी बात यह है कि सिर्फ पंचनामा बनाने तक ही सीएमओ की कार्रवाई सीमित रह गई। इसमें आगे युवकों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। स्थिति यह है कि प्रशासनिक अधिकारियों ने भी इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया। जबकि बताया जाता है कि दस साल से रहवासी इन पेड़ों की देखरेख कर रहे थे। इसी का परिणाम था कि पेड़ हरे भरे होकर बड़े हुए थे। लेकिन सिर्फ पार्किंग बनाने के लिए पेड़ों को काट दिया गया लेकिन दोषियों पर जिम्मेदारों ने कोई कार्रवाहीं नहीं कीं।

Chania