Friday, June 18th, 2021 Login Here
दो दिन में चार लोगों ने कर ली आत्महत्या/ एक ही दिन में तीन ने मौत को गले लगाया 200 वैक्सीन लगना थी लेकिन 100 ही लगी, ग्रामिणों ने किया हंगामा कलेक्टर ने किया मिनी गोवा यानी कंवला के हर संभव विकास का वादा आरक्षक की मानवता/ घायल को अस्पताल पहुंचाया और घटनास्थल से मिले दस हजार भी लोटाऐ राजाधिराज के पट खुलते ही आराध्य के दर्शन कर हर्षित हुए श्रृद्धालु कोरोना के सक्रिय संक्रमित 24 बचें लेकिन फिर मिला ब्लेक फंगस का संदिग्ध मरीज वैक्सीन लगवाने के बाद मंदसौर के राजाराम ने किया शरीर पर स्टील चिपकने का दावा धर्मातंरण की सूचना के बाद पुलिस और प्रशासन ने खंगाली जेल बारिश से पहले हर बार नोटिस लेकिन सालों से नपा सूची से नाम ही नहीं हट रहे नेहरू बस स्टेण्ड हुआ विरान, उत्कृष्ट स्कूल मैदान में हुआ बसों का बसेरा छोटी पुलिया पर खड़े युवकों से 50 ग्राम स्मैक बरामद चैकिंग में हाथ लगी वाहन चोरों की गैंग, दो आरोपियों से तीन बाईक बरामद आज से राजाधिराज के दरबार में श्रृद्धालुओं को प्रवेश खुले शॉपिंग मॉल, जिम और रेस्टोरेंट, 62 दिन बाद लौटी रौनक कोरोना में सैकड़ों लोगों को खोने के बाद भी हवा की कीमत समझ नहीं आ रही

मंदसौर निप्र। शहर के जमीदार कॉलोनी क्षेत्र में रहने वाले राधेश्याम कुमावत (देतवार)की अहमदाबाद में उपचार के दौरान मौत हो गई, उन्हें सर्दी-जुखाम हुआ था जिसके बाद उन्हें मंदसौर-उदयपुर उपचार के लिए भर्ती कराया गया था, वहां भी स्वास्थ्य में कोई सुधार नही हुआ तो परिजन उन्हें उपचार के लिए अहमदाबाद लेकर पहुंचे थे, शुक्रवार को दोपहर में उनकी मौत हो गई । मिली जानकारी के अनुसार जमीदार कॉलोनी में रहने वाले राधेश्याम पिता नारायण कुमावत ठेकेदारी का कार्य करते थे, लगभग 12 दिन पहले उन्हें साधारण सर्दी-जुखाम हुआ था जिसके बाद परिजनों ने उन्हें शहर के निजी अस्पताल में उपचार के लिए दिखाया था लेकिन उनके स्वास्थ्य में कोई सुधार नही हुआ, जिसके बाद परिजन श्री कुमावत को उदयपुर के गीताजंली अस्पताल में लेकर पहुंचे थे, यहां भी उपचार के बाद भी श्री कुमावत को कोई राहत नही मिली जिसके बाद परिजन उन्हें अहमदाबाद उपचार के लिए लेकर पहुंचे थे। हालाकि श्री कुमावत की मौत स्वाईन फ्लू से हुई इसकी अधिकृत पुष्टि नही हो पाई है, श्री कुमावत का शव लेकर जब परिजन मंदसौर पहुंचेगे उसके बाद ही उनसे चर्चा करने पर इसकी जानकारी हो पाएगी । बताया जाता है कि इससे पूर्व भी जिलें में अब तक आधा दर्जन से अधिक मौत स्वाईन फ्लू से हो चुकी है, हालाकि जिम्मेदार मौत का आंकड़ा कम बता रहे है, लेकिन स्वाईन फ्लू पॉजीटिव   मरीज जिले में इस वर्ष मिले है यह बात स्वास्थ्य विभाग मान रहा है ।




Chania