Friday, June 18th, 2021 Login Here
दो दिन में चार लोगों ने कर ली आत्महत्या/ एक ही दिन में तीन ने मौत को गले लगाया 200 वैक्सीन लगना थी लेकिन 100 ही लगी, ग्रामिणों ने किया हंगामा कलेक्टर ने किया मिनी गोवा यानी कंवला के हर संभव विकास का वादा आरक्षक की मानवता/ घायल को अस्पताल पहुंचाया और घटनास्थल से मिले दस हजार भी लोटाऐ राजाधिराज के पट खुलते ही आराध्य के दर्शन कर हर्षित हुए श्रृद्धालु कोरोना के सक्रिय संक्रमित 24 बचें लेकिन फिर मिला ब्लेक फंगस का संदिग्ध मरीज वैक्सीन लगवाने के बाद मंदसौर के राजाराम ने किया शरीर पर स्टील चिपकने का दावा धर्मातंरण की सूचना के बाद पुलिस और प्रशासन ने खंगाली जेल बारिश से पहले हर बार नोटिस लेकिन सालों से नपा सूची से नाम ही नहीं हट रहे नेहरू बस स्टेण्ड हुआ विरान, उत्कृष्ट स्कूल मैदान में हुआ बसों का बसेरा छोटी पुलिया पर खड़े युवकों से 50 ग्राम स्मैक बरामद चैकिंग में हाथ लगी वाहन चोरों की गैंग, दो आरोपियों से तीन बाईक बरामद आज से राजाधिराज के दरबार में श्रृद्धालुओं को प्रवेश खुले शॉपिंग मॉल, जिम और रेस्टोरेंट, 62 दिन बाद लौटी रौनक कोरोना में सैकड़ों लोगों को खोने के बाद भी हवा की कीमत समझ नहीं आ रही

सुवासरा/मदसौर निप्र। सुवासरा क्षेत्र के विधायक लाख कितने ही दावे कांग्रेस से अपने प्रेम के करे था....हूं...और रहूंगा जैसे जुमलो का इस्तेमाल करें लेकिन फिर भी उनका दर्द आखिरकार झलक ही जाता है । प्रदेश में सरकार भी विधायक के दल कांग्रेस की है बावजुद वे अपनी ही सरकार में बेगाने हो रहे है । पहले उनके भाजपा में शामिल होने की चर्चाएें चली लेकिन बाद मे उन्होने पत्रकारवार्ता कर सफाई दी लेकिन अब उन्होने अपनी ही सरकार के खिलाफ कलेक्ट­ेट के सामने धरने पर बैठने का ऐलान कर दिया है हालाकि धरने की घोषणा होते ही कलेक्टर ने भी एक फरमान जारी कर दिया और साफ कह दिया कि किसी को भी धरना प्रदर्शन, रैली इत्यादि करना हो तो 24 घंटे पूर्व अनुमति लेनी आवश्यक है क्योंकि आचार संहिता लगी हुई है ।
सोमवार को सुवासरा क्षेत्र के विधायक हरदीपसिंह डंग ने कलेक्ट­ेट के सामने धरने पर बैठने की घोषणा की उन्होने कहा कि वर्तमान समय में नागरिक आपूर्ति केन्द्र द्वारा नवीन उपार्जन केन्द्र स्थापित करने में तथा सम्मिलित ग्रामों के नाम जोड़ने में गलती की गई है जिसके कारण किसानों को अपनी फसल बिक्री में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, खाद्य विभाग के अधिकारियो द्वारा क्षेत्र के उपार्जन केन्द्रों में गांव के नाम जोड़ने से पहले किसी भी जनप्रतिनिधि से किसी प्रकार की जानकारी नही चाही गई जबकि विभागीय अधिकारियों को यह पता भी नही है कि कौन सा गांव किस उपार्जन केन्द्र के नजदीक है । कई उपार्जन केन्द्रों को बहुत दुरी पर स्थित गांवों को सम्मिलित कर दिया गया जबकि वास्तविक स्थिति यह है कि अति निकटतम स्थल पर उपार्जन केन्द्र स्थापित किया जाना है इतना ही नही ग्राम खजुरीनाग में उपार्जन केन्द्र स्थापित किए जाने के बाद भी खजुरीनाग के किसानों को दूसरे उपार्जन केन्द्र पर अपनी फसल बिक्री करनी पड़ रही है विभाग की लापरवाही के कारण किसानों को समय पर एसएमएस भी नही मिल पा रहे है और तो और कर्मचारियों द्वारा किसानों में भय का वातावरण निर्मित कर दिया कि यदि वह अपनी फसल उपार्जन केन्द्र पर बिक्री करते है तो उनके रूपये कर्जे की बकाया राशि में काट लिए जाएंगे जबकि शासन द्वारा कर्ज में रूपये जमा करने की बात से नकारा जा रहा है । श्री डंग ने कहा कि क्षेत्र में बिते दिनों हुई ओलावृष्टि की मुआवजा राशि की जानकारी नही भेजने के कारण अभी तक नही मिल पाई है इसके साथ ही विगत दिनों नारकोटिक्स विभाग द्वारा अफीम फसल को नष्ट करने के लिए जो वसूली की गई उसकी भी जांच की जानी चाहिए । डंग ने घोषणा करते हुए कहा कि किसानों की मांगो को लेकर आज 9 अप्रेल 2019 मंगलवार को कलेक्ट­ेट भवन पर एक दिवसीय धरना दिया जाएगा यदि फिर भी समस्या का निराकरण नही किया गया तो आचार संहिता को ध्यान में रखते हुए किसानों की समस्या के समाधान हेतु ठोस कदम उठाऐ जाएंगे ।
पत्र के माध्यम से किसानों की समस्याओं से कलेक्टर को अवगत कराया था आम जन की लड़ाई गांधीगिरी से लड़ुंगा, दलगत राजनीति से ऊपर उठकर किसानों के साथ हूं उनके दर्द को समझता हूं इसीलिए आज एक दिवसीय धरना अधिकारियों की किसान विरोधी शैली के विरोध में दे रहा हूं हालाकि अभी अनुमति नही मिली है लेकिन मैं अकेला ही मंदसौर आऊंगा और धरना दूंगा ।
हरदीपसिंह डंग, विधायक सुवासरा
पहले लेना होगी अनुमति
सुवासरा विधायक हरदीपसिंह डंग द्वारा धरना दिऐ जाने की घोषणा के बाद कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी धनराजु एस ने भी एक आदेश पारित किया 8 अप्रेल 2019 को आदेश क्रमांक 412/निर्वाचन /2019 जारी करते हुए कहा कि लोकहित को दृष्टिगत रखते हुए लोकसभा निर्वाचन 2019 के दौरान कानून एवं व्यवस्था सामान्य बनाए रखने के लिए दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत प्रदत्तम शक्तियों का प्रयोग करते हुए प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया है । जारी आदेशानुसार कोई भी व्यक्ति अथवा संप्रदाय या समूह संबंधित अनुविभागीय दंडाधिकारी/सहायक रिटर्निग ऑॅफीसर/संबंधित कार्य पालिक दंडाधिकारी से 24 घंटे पूर्व वैधानिक अनुमति प्राप्त किए बगैर किसी भी स्थान पर आमसभा, धरना, रैली या बंद का आयोजन नही करेगा। यह आदेश सर्वसाधारण को संबोधित है और चूंकि इसकी तामिली प्रत्येक व्यक्ति पर सम्यगकरूपेण करना और उसकी सुनवाई संभव नहीं है। दण्डय प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144(2) के अंतर्गत यह आदेश एकपक्षीय रूप से पारित किया जाता है। यह आदेश 27 मई 2019 तक की अवधि के लिए प्रभावशील रहेगा।
Chania