Friday, March 1st, 2024 Login Here
स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क गुजरात मॉडल से मप्र सरकार रोकेगी चेक पोस्ट पर अवैध वसूली अधिक आवक के चलते मंडी में बढ़ी अव्यवस्था, दिनभर बंद रही नीलामी शाम को शुरु हुई, आधे घंटे बाद फिर बंद, व्यापारी, किसान व हम्मालों का विरोध जारी नीमच से सिंगोली रावतभाटा होते हुए कोटा रेल मार्ग के फाइनल सर्वे की स्वीकृति, 5 करोड़ से अधिक की राशि स्वीकृत 500 जवानों की 45 टीमों ने की अपराधियों की धरपकड़, एक रात में 156 अपराधियों को पकडा मध्यप्रदेश की 29 सीटों पर पैनल तैयार,मंदसौर संसदीय क्षेत्र से देवीलाल धाकड, यशपालसिंह सिसोदिया, मदनलाल राठौर और सुधीर गुप्ता का नाम दुर्घटनाओं की जांच वैज्ञानिक तरीके से करने के निर्देश लेकिन पुरातन परम्परा अभी भी कायम अव्वल होने का दावा करने वाली नपा में सफाई व्यवस्था बदहाल

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल की नई टीम तैयार हो गई है। इसके साथ ही टीम का कार्य विभाजन भी कर दिया गया है। गुरुवार को पीएम मोदी के अलावा मंत्रिमंडल में 57 मंत्रियों द्वारा शपथ ली गई थी। वहीं शुक्रवार को सभी मंत्रियों का कार्य विभाजन कर दिया गया है। मंत्रिमंडल में 24 कैबिनेट मंत्री बनाए गए थे, वहीं 9 राज्य मंत्रियों को स्वतंत्र प्रभार दिया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परमाणु ऊर्जा, अंतरिक्ष, पॉलिसी इश्यू सहित अन्य विभाग वे सभी विभाग जो किसी मंत्री को नहीं दिए गए अपने पास रखे हैं। देखें कि किस मंत्री के हिस्से में कौन सा विभाग आया।

कैबिनेट मंत्रियों को मिले ये विभाग

1. राजनाथ सिंह - रक्षा मंत्रालय

2. अमित शाह - गृह मंत्रालय

3. नितिन गडकरी - परिवहन मंत्रालय

4. डीवी सदानंद गौड़ा - रासायनिक मंत्रालय

5. निर्मला सीतारमण - वित्त मंत्रालय

6. रामविलास पासवान - खाद्य एवं आपूर्ति मंत्रालय

7. नरेंद्र सिंह तोमर - कृषि मंत्रालय

8. रविशंकर प्रसाद - न्याय एवं विधि मंत्रालय

9. हरसिमरत कौर बादल - खाद्य एवं प्रसंस्करण मंत्रालय

10. तनवीर चंद गेहलोत - सामाजिक न्याय विभाग

11. एस जयशंकर - विदेश मंत्रालय

12. रमेश पोखरियाल 'निशंक' - मानव संसाधन मंत्रालय

13. अर्जुन मुंडा - अनुसूचित जनजाति मंत्रालय

14. स्मृति इरानी - महिला एवं बाल विकास मंत्रालय

15. डॉ. हर्षवर्धन - स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय

16. प्रकाश जावड़ेकर - ऊर्जा, वन, सूचना प्रसारण मंत्रालय

17. पीयूष गोयल - रेलवे मंत्रालय

18. धर्मेंद्र प्रधान - पेट्रोलियम मंत्रालय

19. मुख्तार अब्बास नकवी - अल्पसंख्यक मंत्रालय

20. प्रल्हाद जोशी - संसदीय कार्य मंत्रालय

21. महेंद्र नाथ पांडेय - कौशल विकास मंत्रालय

22. अरविंद सावंत - भारी उद्योग मंत्रालय

23. गिरिराज सिंह - पशु पालन मंत्रालय

24. गजेंद्र शेखावत - जलशक्ति मंत्रालय

राज्य मंत्रियों(स्वतंत्र प्रभार) को मिले ये विभाग

25. संतोष गंगवार - श्रम एवं रोजगार मंत्रालय

26. राव इंद्रजीत सिंह - योजना मंत्रालय, सांख्यिकी मंत्रालय

27. श्रीपद नाइक - आयुष मंत्रालय

28. डॉ. जितेंद्र सिंह - पीएमओ, उत्तर-पूर्वी विकास मंत्रालय,

29. किरण रिजिजू - खेल एवं युवा मामलों का मंत्रालय

30. प्रह्लाद सिंह पटेल - पर्यटन, संस्कृति मंत्रालय

31. राज कुमार सिंह - ऊर्जा मंत्रालय, अक्षय ऊर्जा

32. हरदीप सिंह पुरी - आवास एवं शहरी मामलों का मंत्रालय

33. मनसुख मंडाविया - जहाजरानी, रसायन एवं उर्वर मंत्रालय

राज्य मंत्रियों को मिली ये जिम्मेदारी

34. फग्गनसिंह कुलस्ते - इस्पात मंत्रालय

35. अश्विनी कुमार चौबे - स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय

36. अर्जुन मेघवाल - संसदीय कार्य, भारी उद्योग मंत्रालय

37. वी के सिंह - परिवहन मंत्रालय

38. कृष्ण पाल - सामाजिक न्याय मंत्रालय

39. दानवे रावसाहेब - खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्रालय

40. जी किशन रेड्डी - गृह मंत्रालय

41. पुरुषोत्तम रुपाला - कृषि मंत्रालय

42. रामदास अठावले - सामाजिक न्याय मंत्रालय

43. साध्वी निरंजन ज्योति - ग्रामीण विकास मंत्रालय

44. बाबुल सुप्रियो - वन, पर्यावरण मंत्रालय

45. संजीव कुमार बलयान - पशु पालन मंत्रालय

46. संजय धोत्रे - मानव संसाधन, आईटी मंत्रालय

47. अनुराग ठाकुर - वित्त मंत्रालय

48. सुरेश आंगड़ी - रेलवे मंत्रालय

49. नित्यानंद राय - गृह मंत्रालय

50. रतन लाल कटारिया - जलशक्ति, सामाजिक न्याय मंत्रालय

51. वी मुरलीधरन - विदेश, संसदीय कार्य मंत्रालय

52. रेणुका सिंह - जनजाति मंत्रालय

53. सोम प्रकाश - वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय

54. रामेश्वर तेली - खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय

55. प्रताप चंद्र सारंगी - लघु,मध्यम उद्योग, पशुपालन मंत्रालय

56. कैलाश चौधरी - कृषि मंत्रालय

57. देवाश्री चौधरी - महिला एवं बाल विकास मंत्रालय

कैबिनेट में भाजपा के 53 मंत्री

कैबिनेट में 53 मंत्री भाजपा के हैं और सहयोगी दलों के मंत्रियों की संख्या 4 है। इनमें जदयू और अपना दल शामिल नहीं हैं। 19 नए चेहरों को जगह मिली। उत्तर प्रदेश से सबसे ज्यादा 8 सांसदों को मंत्री बनाया गया। सुषमा स्वराज, मेनका गांधी, राज्यवर्धन राठौर, महेश शर्मा और सुरेश प्रभु को इस बार मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया।

राहुल को हराने वाली स्मृति कैबिनेट में सबसे युवा
43 वर्षीय स्मृति ईरानी कैबिनेट में सबसे युवा हैं। लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान (72) सबसे उम्रदराज हैं। इस बार 6 महिलाओं निर्मला सीतारमण, हरसिमरत कौर बादल, स्मृति ईरानी, साध्वी निरंजन ज्योति, रेणुका सिंह सरुता और देबश्री चौधरी को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया। पिछली सरकार में 9 महिलाएं मंत्री थीं।

गिरिराज, रिजिजू और शेखावत का प्रमोशन
अरुणाचल पश्चिम सीट से दो बार के सांसद किरेन रिजिजू का दर्जा राज्यमंत्री से बढ़ाकर इस बार राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार कर दिया गया। गिरिराज सिंह को भी कैबिनेट मंत्री की शपथ दिलाई गई, पिछली बार उन्हें राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार का दर्जा मिला था। गजेंद्र सिंह शेखावत को भी कैबिनेट मंत्री बनाया गया, पिछली बार वे राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार थे। महेंद्र नाथ पांडेय कैबिनेट बने, वे भी पिछली बार राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार थे।

जयशंकर पहले विदेश मंत्री, जो विदेश सचिव रहे
एस जयशंकर पहले विदेश मंत्री हैं, जो विदेश सचिव रह चुके हैं। जनवरी 2015 से जनवरी 2018 तक वे इस पद पर थे। 16 महीने पहले वे रिटायर हुए। उनसे पहले एमसी चागला और नटवर सिंह ऐसे विदेश मंत्री थे, जो विदेश सेवा में रह चुके थे। एमसी चागला 1966-67 के बीच विदेश मंत्री थे। वे यूएस, क्यूबा, मैक्सिको और आयरलैंड में भारतीय राजदूत रहे। वे ब्रिटेन में हाई कमिश्नर भी रहे। नटवर सिंह 1953 से 1984 तक विदेश सेवा में रहे। मई 2004 से दिसंबर 2005 तक वे मनमोहन सरकार में विदेश मंत्री रहे।
Chania