Monday, February 26th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी

    अक्टूबर 2018 में 3.38% थी, फरवरी से लगातार बढ़ रही
    जून में खाद्य वस्तुओं के दाम बढ़ने की वजह से खुदरा महंगाई दर में इजाफा हुआ

नई दिल्ली. खुदरा (रिटेल) महंगाई दर जून में बढ़कर 3.18% दर्ज हुई है। यह पिछले 8 महीने में सबसे ज्यादा है। इससे पहले अक्टूबर 2018 में 3.38% थी। फरवरी से इसमें लगातार इजाफा हो रहा है। मई में यह दर 3.05% रही थी। खाने-पीने की वस्तुओं के दाम बढ़ने की वजह से जून में खुदरा महंगाई दर में इजाफा हुआ।

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय के आंकड़ों के मुताबिक जून में खाद्य महंगाई दर 2.17% रही। मई में यह 1.83% थी। प्रोटीन युक्त खाद्य वस्तुओं जैसे दालें, अंडा और मांस-मछली की कीमतों में ज्यादा बढ़ोतरी हुई है।
श्रेणी     मई में महंगाई दर     जून में महंगाई दर
खाद्य        1.83%     2.17%
मांस-मछली     8.12%     9.01%
दाल     2.13%     5.68%
अनाज     1.21%     1.31%

जून में ईंधन और बिजली की महंगाई दर 2.32% जबकि सब्जियों की 4.66% रही। हालांकि, फलों की महंगाई दर मई के मुकाबले जून में 4.18% कम हुई है।
खुदरा महंगाई अभी भी आरबीआई के लक्ष्य से कम
लगातार 5वें महीने बढ़ोतरी के बावजूद खुदरा महंगाई दर रिजर्व बैंक के 4% के लक्ष्य से कम बनी हुई है। मौद्रिक नीति की समीक्षा करते वक्त आरबीआई खुदरा महंगाई दर को ही ध्यान में रखता है। इसके लक्ष्य के आस-पास रहने से ब्याज दरों में कटौती की गुंजाइश बनी रहती है।
औद्योगिक उत्पादन की रफ्तार मई में घटकर 3.1% रह गई
सरकार ने शुक्रवार को मई महीने के औद्योगिक उत्पादन (आईआईपी) के आंकड़े भी जारी किए। मई में आईआईपी ग्रोथ घटकर 3.1% रह गई। अप्रैल में 3.4% और पिछले साल मई में 3.8% रही थी। मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की सुस्ती का आईआईपी ग्रोथ पर असर पड़ा। यह सेक्टर जून में 2.5% की रफ्तार से बढ़ा। मई में ग्रोथ 3.6% रही थी। आईआईपी की दर से देश में उद्योग सेक्टर की गतिविधियों का पता चलता है।
Chania