Sunday, March 3rd, 2024 Login Here
मंदसौर संसदीय क्षेत्र से सुधीर गुप्ता को मिला टिकीट सेवा कार्यो में उत्कृष्ट कार्य को लेकर रेडक्रॉस सोसायटी जिला शाखा मंदसौर को मिला अवार्ड बांछड़ा डेरों पर पुलिस की दबिश, भारी मात्रा में अवैध शराब जप्त प्रतिवेदन पेश नहीं करने पर नपा सीएमओं के खिलाफ पांच हजार का जमानती वारंट जारी सूदखोरों से परेशान होकर की आत्महत्या, पिता के मृत्युभोज के लिए लिया था पैसा मंत्री सारंग ने की वन-टू-वन चर्चा, कहा 6 लाख वोट से भाजपा को जिताने का संकल्प ले लोकसभा चुनाव - भाजपा के 155 उम्मीदवारों की सूची आज घोषित होने की संभावना स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क

    डोंगरी के एमए सारंग रोड पर स्थित केसरबाई बिल्डिंग का आधा हिस्सा गिरा, इसमें 15 परिवार रहते हैं
    इमारत संकरी गली में होने की वजह से राहत और बचाव कार्य में दिक्कत आ रही

मुंबई. यहां के डोंगरी में मंगलवार को 11.45 बजे 100 साल पुरानी चार मंजिला इमारत गिर गई। हादसे में 7 की मौत हो गई। हालांकि, इससे पहले महाराष्ट्र सरकार में मंत्री राधाकृष्ण विखे पाटिल ने घटना में 12 लोगों की मौत होने की जानकारी दी थी। मलबे में करीब 40 लोगों के फंसे होने की आशंका है। एनडीआरएफ और फायर ब्रिगेड की टीम ने राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया है। इस बिल्डिंग में करीब 15 परिवार रहते थे। बिल्डिंग के अंदर महिलाएं और बच्चे भी फंसे हैं।
बीएमसी के मुताबिक, डोंगरी के एमए सारंग रोड पर स्थित केसरबाई बिल्डिंग का आधा हिस्सा गिर गया। स्थानीय लोग भी रेस्क्यू अभियान में मदद कर रहे हैं। संकरी गली होने की वजह से राहत और बचाव कार्य में मुश्किल आ रही है। प्रशासन ने आसपास की इमारतों को खाली करा दिया है।
80-100 साल पुरानी थी इमारत- स्थानीय
स्थानीय लोगों के मुताबिक, इमारत 80-100 साल पुरानी है। इमारत काफी खस्ताहाल में थी। इलाके में बारिश हुई। बारिश के बाद तेज हवा चल रही थी। उसी वक्त तेज आवाज आई। जब बाहर निकलकर देखा तो इमारत गिर गई थी।
प्रधानमंत्री ने घटना पर दुख जताया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, इमारत गिरने की घटना दुखद है। मृतकों के परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। आशा करता हूं कि घायल जल्द ही ठीक हो जाएंगे। महाराष्ट्र सरकार, एनडीआरएफ और स्थानीय प्रसाशन रेस्क्यू कर रहा है और जरूरतों की मदद में साथ है।
Chania