Friday, March 1st, 2024 Login Here
स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क गुजरात मॉडल से मप्र सरकार रोकेगी चेक पोस्ट पर अवैध वसूली अधिक आवक के चलते मंडी में बढ़ी अव्यवस्था, दिनभर बंद रही नीलामी शाम को शुरु हुई, आधे घंटे बाद फिर बंद, व्यापारी, किसान व हम्मालों का विरोध जारी नीमच से सिंगोली रावतभाटा होते हुए कोटा रेल मार्ग के फाइनल सर्वे की स्वीकृति, 5 करोड़ से अधिक की राशि स्वीकृत 500 जवानों की 45 टीमों ने की अपराधियों की धरपकड़, एक रात में 156 अपराधियों को पकडा मध्यप्रदेश की 29 सीटों पर पैनल तैयार,मंदसौर संसदीय क्षेत्र से देवीलाल धाकड, यशपालसिंह सिसोदिया, मदनलाल राठौर और सुधीर गुप्ता का नाम दुर्घटनाओं की जांच वैज्ञानिक तरीके से करने के निर्देश लेकिन पुरातन परम्परा अभी भी कायम अव्वल होने का दावा करने वाली नपा में सफाई व्यवस्था बदहाल
    अक्षय ने पुनर्विचार याचिका में कहा- केंद्र की रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि की गई कि दिल्ली के पानी और हवा में जहर घुला
    16 दिसंबर 2012 में पैरामेडिकल की छात्रा से चलती बस में रेप और मारपीट की गई, 29 दिसंबर को उसने दम तोड़ दिया था
    सुप्रीम कोर्ट ने मुकेश, पवन, विनय और अक्षय को फांसी की सजा सुनाई थी, विनय ने दया याचिका वापस लेने की मांग की है

नई दिल्ली. निर्भया केस में फांसी की सजा पाने वाले 4 दोषियों में से एक अक्षय ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल की। अक्षय ने अपनी याचिका में कहा कि जब दिल्ली में प्रदूषण की वजह से वैसे ही लोगों की उम्र घट रही है, तब हमें फांसी क्यों दी जा रही है? याचिका में कहा गया कि दिल्ली और एनसीआर के पानी और हवा में जहर घुलने की पुष्टि केंद्र सरकार ने खुद अपनी रिपोर्ट में की है। एक अन्य दोषी विनय ने राष्ट्रपति के पास भेजी दया याचिका वापस लेने की मांग की है। उसने कहा कि याचिका पर मेरे हस्ताक्षर नहीं हैं।
16 दिसंबर 2012 को दिल्ली में निर्भया दुष्कर्म केस सामने आया था। 23 साल की पैरामेडिकल छात्रा के साथ चलती बस में गैंगरेप हुआ था और दोषियों ने उसके साथ अमानवीय तरीके से मारपीट की थी। छात्रा ने 29 दिसंबर 2012 को दम तोड़ दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में मुकेश, पवन, विनय और अक्षय को फांसी की सजा सुनाई थी।
अक्षय की याचिका में दलीलें
दिल्ली-एनसीआर गैस चैंबर बन गया है: अक्षय ने याचिका में कहा- दिल्ली-एनसीआर में वायु की गुणवत्ता बेहद खराब है। यह गैस चैंबर बन गई है। संसद में केंद्र ने रिपोर्ट पेश कर इस बात की पुष्टि की है। दिल्ली के पानी और हवा को क्या हो रहा है, इस बात से सभी वाकिफ हैं। जिंदगी वैसे ही कम हो रही है। फिर मौत की सजा क्यों?
सतयुग में हजारों साल जीते थे, कलियुग में उम्र घटकर 50-60 साल हो गई: याचिका में कहा गया- वेद, पुराणों और उपनिषदों में जिक्र है कि सतयुग और त्रेता युग के लोगों की उम्र हजारों साल होती थी। द्वापर युग में लोग सैकड़ों साल जीते थे। अब कलियुग है, इसमें उम्र बहुत घट गई है। अब यह 50-60 साल ही रह गई है। हम शायद ही ऐसा सुनते हैं कि कोई व्यक्ति 100 साल तक जिया।
निर्भया के बाद अब हैदराबाद-उन्नाव केस, देशभर में सख्त सजा की मांग
निर्भया केस के बाद हैदराबाद में वेटरनरी डॉक्टर की दुष्कर्म के बाद जलाकर हत्या और उत्तर प्रदेश के उन्नाव में दुष्कर्म पीड़िता को जिंदा जलाने की घटना सामने आई है। इसके बाद संसद से लेकर सड़क तक आक्रोश है। सांसदों ने दोषियों को भीड़ के हवाले करने और नपुंसक बनाने जैसे बयान दिए। लोगों ने भी मांग की कि सख्त और जल्द सजा दी जाए। हैदराबाद के चारों आरोपियों का घटना के री-क्रिएशन के दौरान एनकाउंटर कर दिया गया था। इस घटना पर लोगों ने खुशी जाहिर की थी।
Chania