Monday, February 26th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी

आवश्यक सेवाओ को छोड़कर पूरा बंद रहेगा,किसी को भी बाहर निकलने की अनुमति नही होगी,शासकीय कार्यालय भी बंद
कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिये कलेक्टर मनोज पुष्प ने दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 में प्रयुक्त शक्तियों को प्रयोग में लाते हुए पूरे 22 मार्च रविवार की संध्या 4 बजे से  25 मार्च  बुधवार रात्रि 12 बजे तक मंदसौर जिले को टोटल लाग डाउन  कर दिया है। जिसमें किसी भी व्यक्ति को अपने घर से बाहर निकलने की भी अनुमति नहीं होगी। इससे पूर्व तहसीलदार नारायण नांदेडा ने मन्दसौर के लिये आदेश दिया था।
कलेक्टर मनोज पुष्प ने कहां की जिले में तत्काल प्रभाव से 22 मार्च संध्या 4 बजे से 25 मार्च की अर्धरात्रि तक टोटल लॉक डाउन घोषित किया जाता है टोटल लॉक डाउन में किसी भी व्यक्ति को अपने घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी, जिले की सभी सीमाएं सील की जाती है किसी भी माध्यम सड़क एवं रेल से जिले की सीमा में बाहरी लोगों का आगमन प्रतिबंधित रहेगा जिले में निवासरत नागरिकों का जिले की सीमा के बाहर जाना भी तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित किया जाता है। इसके अलावा जिले के समस्त शासकीय , अर्द्ध शासकीय कार्यालय बंद किए जाते हैं। अत्यावश्यक सेवा वाले विभाग यथा राजस्व, पुलिस, विद्युत, दूरसंचार, नगरपालिका, पंचायत आदी इससे मुक्त रहेंगे। मेडिकल दुकान एवं अस्पतालों को छोड़कर शेष समस्त व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद किए जाते हैं। इमरजेंसी ड्यूटी वाले शासकीय कर्मचारी केवल ड्यूटी के प्रयोजन से टोटल प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे। लेकिन उक्त कर्मचारियों को अपने साथ पहचान पत्र रखना अनिवार्य होगा । घर-घर जाकर दूध बांटने वाले दूध विक्रेता एवं न्यूज़पेपर हाकर प्रातः 8 बजे तक टोटल उनसे प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे।
*लॉकडाउन का क्या है मतलब*
किसी शहर को लॉकडाउन करने का मतलब होता है कि इस दौरान कोई भी शख्स घर से बाहर नहीं निकल सकता है। हालांकि, इसके अपवाद भी हैं। मसलन, दवा, बैंक, अस्पताल और राशन-पानी की जरूरत के लिए घर से बाहर निकलने की छूट मिलती है। लॉकडाउन एक तरह से आपातकाल व्यवस्था होती है। अगर किसी शहर या इलाके में लॉकडाउन की घोषणा होती है तो वहां के लोगों को घरों से निकलने की इजाजत नहीं होती है। लॉकडाउन की स्थिति में किसी भी शख्स को जीवन जीने के लिए बुनियादी और आवश्यक चीजों के लिए ही बाहर निकलने की इजाजत होती है। लॉकडाउन में अगर किसी को राशन, दवा-पानी, सब्जी की जरूरत है तो वह बाहर जा सकता है या फिर बैंक-अस्पताल के काम के लिए अनुमति मिल सकती है। 

*कोरोना वायरस से कहां-कहां है लॉकडाउन*
अगर भारत की बात करें तो यहां देशभर में लॉकडाउन की घोषणा नहीं की गई है। फिलहाल इसे रोकने के लिए जनता कर्फ्यू की घोषणा की गई। भारत के राजस्थान, पंजाब, ओडिशा को पूरी तरह से लॉक़डाउन कर दिया गया है। महाराष्ट्र में भी चार और मध्यप्रदेश के करीब आठ शहरों को लॉकडाउन कर दिया गया है। वहीं गुजरात में भी कई शहरों को लॉकडाउन किया गया है। दुनियाभर में बात करें तो इस महामारी के कारण दुनिया के करीब 35 मुल्कों ने बंद (लॉकडाउन) किया है। सबसे पहले चीन ने वुहान शहर को पूरी तरह से लॉकडाउन कर दिया। इटली, ब्रिटेन, स्पेन आदि देशों ने भी लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है। इसके अलावा, अमेरिका ने कैलिफोर्निया को लॉकडाउन कर दिया है।
Chania