Friday, March 1st, 2024 Login Here
स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क गुजरात मॉडल से मप्र सरकार रोकेगी चेक पोस्ट पर अवैध वसूली अधिक आवक के चलते मंडी में बढ़ी अव्यवस्था, दिनभर बंद रही नीलामी शाम को शुरु हुई, आधे घंटे बाद फिर बंद, व्यापारी, किसान व हम्मालों का विरोध जारी नीमच से सिंगोली रावतभाटा होते हुए कोटा रेल मार्ग के फाइनल सर्वे की स्वीकृति, 5 करोड़ से अधिक की राशि स्वीकृत 500 जवानों की 45 टीमों ने की अपराधियों की धरपकड़, एक रात में 156 अपराधियों को पकडा मध्यप्रदेश की 29 सीटों पर पैनल तैयार,मंदसौर संसदीय क्षेत्र से देवीलाल धाकड, यशपालसिंह सिसोदिया, मदनलाल राठौर और सुधीर गुप्ता का नाम दुर्घटनाओं की जांच वैज्ञानिक तरीके से करने के निर्देश लेकिन पुरातन परम्परा अभी भी कायम अव्वल होने का दावा करने वाली नपा में सफाई व्यवस्था बदहाल
*टकरावद(पंकज जैन)*;- सरकार कितनी ही योजनाओं चलाये लेकिन उनका क्रियान्वयन करने वाले लापरवाह हो तो फिर जनता की उन योजनाओं का लाभ नही मिल पाता है मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा गरीब परिवारों के लिए मुख्यमंत्री संबल योजना चलाई गई थी जिसमें पंजिकृत परिवार के सदस्य की मृत्यु होने पर उनके परिवारजनों को 200000 की आर्थिक सहायता दी जाती है लेकिन कमलनाथ सरकार बनते है संबल योजना के पात्र परिवारों का भौतिक सत्यापन कराया गया था लेकिन संबल योजना में गलत भौतिक सत्यापन करने के कारण श्रमिक परिवार को शासन की योजना का लाभ नहीं मिल पाया जनपद पंचायत मल्हारगढ़ की ग्राम पंचायत गोपाल पूरा में मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना के श्रमिक पवनदास बैरागी पिता प्रकाशदास का पंजीकरण किया गया था लेकिन सहायक सचिव छगनलाल द्वारा भौतिक सत्यापन के दौरान पवनदास को 3 सितंबर 19 को यह लिख कर अपात्र कर दिया कि पवनदास की उम्र 18 वर्ष से कम है जबकि पवनदास की आयु 12-3-98 है जो अंकसूची व श्रमिक पंजीयन में भी दर्ज है पवनदास की 23 -7-2020 को एक हादसे में मौत हो गई लेकिन श्रमिक पंजीयन में अपात्र होने के कारण उसके परिजनों को आर्थिक सहायता नही मिल रही है जिसकी शिकायत पवनदास के परिजनों ने जिला कलेक्टर से उक्त मामले की जांच करवाकर लापरवाही करने वालो के खिलाफ करवाही की मांग की इनका कहना;-श्रमिक पँजियनो का भौतिक सत्यापन आधार कार्डो के आधार पर किया गया था आधार कार्ड नही होने से मुझ से चूक हो गई है छगनलाल चोहान सहायक सचिव ग्राम पंचायत गोपालपूरा
Chania