Sunday, March 3rd, 2024 Login Here
मंदसौर संसदीय क्षेत्र से सुधीर गुप्ता को मिला टिकीट सेवा कार्यो में उत्कृष्ट कार्य को लेकर रेडक्रॉस सोसायटी जिला शाखा मंदसौर को मिला अवार्ड बांछड़ा डेरों पर पुलिस की दबिश, भारी मात्रा में अवैध शराब जप्त प्रतिवेदन पेश नहीं करने पर नपा सीएमओं के खिलाफ पांच हजार का जमानती वारंट जारी सूदखोरों से परेशान होकर की आत्महत्या, पिता के मृत्युभोज के लिए लिया था पैसा मंत्री सारंग ने की वन-टू-वन चर्चा, कहा 6 लाख वोट से भाजपा को जिताने का संकल्प ले लोकसभा चुनाव - भाजपा के 155 उम्मीदवारों की सूची आज घोषित होने की संभावना स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क

शामगढ़ जनसारंगी
शामगढ की बेटी किरण बैरागी का चयन इंडियन पैरामिलिट्री फोर्स में हुआ है , वे जल्द एएसएफ (सचिवालय सुरक्षा बल) ज्वाइन करेंगीं। उसने 2018 में एमएमसी की एग्जाम दी थी। 3 साल के इंतजार के बाद 5 फरवरी को परिणाम ऐसे आए कि टॉप 10 की सूची में उसे स्थान मिला।
एमसीए (मास्टर ऑफ कम्प्यूटर एप्लीकेशन) करने के बाद सॉफ्टवेयर कंपनी में नौकरी का अवसर मिला लेकिन किरण को सेना ज्वाइन करना थी इसलिए नौकरी ठुकरा दी। किरण के पिता गोविंददास बैरागी नगर में आयुर्वेद डॉक्टर हैं। नगर के सिनेमा रोड निवासी किरण के मुताबित देशभक्ति का जुनून बचपन से था। प्रायमरी की पढ़ाई से ही कबड्डी में रुचि लेने लगी, हाईस्कूल में स्टेट चैंपियन बनी। शामगढ़ में बीसीए की पढ़ाई के बाद इंदौर से एमसीए की डिग्री ली। कैंपस प्लेसमेंट के दौरान इंदौर व पुणे की सॉफ्टवेयर कंपनी से ऑफर मिला। पैकेज तो ठीक था लेकिन हाईस्कूल की पढ़ाई में पता चल गया था कि महिलाएं भी मिलिट्री ज्वाइन कर सकती हैं इसलिए एसएससी की तैयारी शुरू की। तीन महीने तैयारी का मौका मिला। दिसंबर 2018 में प्री-एग्जाम दी। नीमच सीआरपीएफ में फिजिकल हुआ, 2021 में इंदौर बीएसएफ में मेडिकल टेस्ट पास किया। 5 फरवरी को नतीजे आए हैं। कुल 18 पदों पर भर्ती हुई थी , परिणाम सामने आए तो टॉप 10 की सूची में स्थान मिला। उसने 100 में 85 अंक लाकर टाॅप 10 में स्थन बनाया जबकी कट आॅफ 79 पर निकला था ।
प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी
सचिवालय सुरक्षा बल गृह मंत्रालय के अधीन होता है। इसकी जिम्मेदारी सचिवालय अंतर्गत विभिन्न केंद्रीय दफ्तरों व उनके पदाभिहित अफसरों की सुरक्षा करना है । वर्तमान में एसएसएफ के जवान प्रधानमंत्री सहित केंद्रीय कैबिनेट के मंत्रियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं , किरण को भी नईदिल्ली सचिवालय में ज्वाइनिंग मिलेगी , पूरे संभाग में यह मामला है।जब मंदसौर की बेटी एसएसएफ में ज्वाइन हुई है।

Chania