Monday, February 26th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी

मंत्री डंग के साथ विधायक श्री सिसोदिया ने वीसी के जरिए मंदसौर की स्थिति बताई
उज्जैन/मंदसौर जनसारंगी।

बुधवार को प्रदेश के मुखिया शिवराजसिंह चैहान बिगड़े मौसम के कारण रतलाम नहीं आ पाऐ, लेकिन उन्होंने उज्जैन से पूरे संभाग के कोरोना की समीक्षा की इस दौरान उन्होंने मंदसौर के बारे में भी जानकारी ली। इस दौरान मंदसौर कलेक्ट्रेट में मंत्री हरदीपसिंह डंग, विधायक यशपालसिंह सिसोदिया, कलेक्टर मनोज पुष्प समेत प्रशासनिक अमला सम्मिलित हुआ। बैठक के दौरान विधायक श्री सिसोदिया ने सीएम को मंदसौर में कोरोना की स्थिति को लेकर किए गये कार्यो से अवगत कराया। इस चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री ने संकेत दिए कि 31 मई  31 मई के बाद लॉकडाउन से राहत मिलने लगेगी शुरुआत उज्जैन से हो सकती है लेकिन 31 मई तक सख्त लॉकडाउन रहेगा। इसके बाद 1 जून से धीरे-धीरे उज्जैन संभाग के जिलों को खोला जाएगा।
मुख्यमंत्री ने संकेत दिए कि कोरोना नियंत्रण में रहा तो जून में शहर खोलना शुरू किए जाएंगे। सीमित संख्या में विवाह समारोह की अनुमति दी जाएगी। तीसरी लहर की तैयारी करनी है। यह लहर छोटी आए या फिर बड़ी? अभी से तैयारी कर लें। इस दौरान सीएम ने मीडिया से दूरी बनाकर रखी। बैठक में ब्लैक फंगस को लेकर चिंता जाहिर की। उन्होंने कहा, ब्लैक फंगस के इलाज के उपयोग होने वाली दवाओं का इंतजाम सरकार कर रही है। प्रदेश में ब्लैक फंगस के मरीजों का इलाज सरकार मुफ्त करवाएगी।
11 दिन कफ्र्यू में पूरी सख्ती बरते
मुख्यमंत्री ने उज्जैन संभाग के जिला, विकासखंड और ग्राम स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में कहा कि ओवर काॅन्फिडेंस में नहीं रहना है। कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। कोरोना मुक्त गांव, कोरोना मुक्त वार्ड, कोरोना मुक्त शहर बनाना है। 31 मई तक 11 दिन कोरोना कर्फ्यू को सख्ती से लागू किया जाए। सीएम ने यह भी कहा कि प्रदेश में रिकवरी रेट बढ़ रहा है। संक्रमितों के आंकड़े में भी लगातार कमी आई है। बैठक में मंत्री मोहन यादव, जगदीश देवड़ा, उज्जैन उत्तर विधायक पारस जैन, महिदपुर विधायक बहादुर सिंह चैहान, सांसद अनिल फिरोजिया मौजूद रहे। उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह और उज्जैन संभाग के आईजी योगेश देशमुख भी उपस्थित रहे।
फोटो मंदसौर बैठक
मंदसौर में हुए नवाचार को सीएम ने सराहा
उज्जैन से सीएम द्वारा मंदसौर की समीक्षा किए जाने के दौरान कलेक्ट्रेट स्थित वीसी में प्रदेश के नवकरणीय ऊर्जा मंत्री हरदीपसिंह डंग, विधायक यशपालसिंह सिसोदिया, कलेक्टर मनोज पुष्प, सीईओं जिपं ऋषव गुप्ता, एडीएम एस.एन. राजावत, सीएमएचओं डाॅ के.एल. राठौर समेत अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे। इस दौरान वरिष्ठ विधायक यशपालसिंह सिसोदिया ने कोरोना को काबू करने के लिए मंदसौर में किए गऐ कार्यो से मुख्यमंत्री को अवगत कराया । मुख्यमंत्री श्री चैहान ने मंदसौर में किए गए नवाचार एवं अन्य व्यवस्थाओं को लेकर जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक टीम को बधाई दी।
मंत्री श्री डंग द्वारा कहा गया कि जिले में कोरोना के विरुद्ध सभी ने मिलकर एकजुट होकर कार्य किया है। छोटे छोटे स्तर पर क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक की जा रही है, जो कि एक सराहनीय कार्य है। इस बैठक के माध्यम से कोरोना को नियंत्रित करने में काफी सफलता प्राप्त हुई है। जिले में कम सुविधा होने के बावजूद भी अधिक से अधिक मरीजों को ठीक किया गया है। जिले में न सिर्फ जिला मुख्यालय के मरीज बल्कि नीमच, झालावाड़, रतलाम, जावरा, महिदपुर जैसे शहरों के मरीज भी रेफर होकर यहां आए हैं। उनको भी ठीक कर उनके घर सकुशल पहुंचाया है। सुवासरा विधानसभा क्षेत्र में एक करोड़ 10 लाख की स्वीकृत राशि से ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने के लिए राशि प्रदान की गई है।
विधायक श्री सिसोदिया ने मुख्यमंत्री को अवगत कराते हुए बताया कि कोरोना को काबू करने केलिए मंदसौर जिला सहकारी बैंक द्वारा कोरोना कीट वितरण के लिए कुल बीस लाख रूपए मेें से 12 लाख रूपए रेडक्रास मंदसौर तथा 8 लाख रूपए नीमच को दिए गये। इसी तरह जनसहयोग से उघोगपति प्रदीप गनेडीवाल द्वारा ढाई करोड़ के तथा जिले के विधायकों द्वारा 500 आॅक्सीजन कंस्ट्रेक्टर दिए गये। आरटीपीसीआर लेब के लिए 35 लाख रूपए विधायक निधी से तथा 15 लाख रूपए उघोगपति प्रदीप गनेडीवाल द्वारा दिए गये। लेब की स्थापना का कार्य पूर्ण हो गया है। बड़े अस्पताल में कोरोना मरीजों की सीटी स्कैन कराने की निःशुल्क व्यवस्था की गई है।
किसानों को घर-घर कीट का वितरण किया गया। कोरोना उपचार के लिए मंदसौर जिला चिकित्सालय से 3 शासकीय एवं 6 निजी कुल 9 कोविड केयर सेंटर तैयार कर आपस में जोड़े गऐ इन सभी में आॅक्सीजन बेड भी उपलब्ध है साथ ही 240 आॅक्सीजन बेड शासकीय अस्पतालों में उपलब्ध है, अब मरीजों को आॅक्सीजन के लिए दिक्कत भी नहीं आ रहीं है। आॅक्सीजन की उपलब्धता के लिए जिले में 5 शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर विधायक निधी से तैयार हो रहे आॅक्सीजन प्लांट का काम पूर्णता की और है।कोविड जांच का दायरा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों तक विस्तार किया गया। आरएमपी चिकित्सकों की बैठक लेकर उन्हें कोविड उपचार की गाइड लाइन के तहत जिला चिकित्सालय के डाक्टरों के मार्गदर्शन में ही उपचार करने के निर्देश दिए गये। पोस्ट कोविड सेंटर के रूप में मंदसौर के लाभ मुनि चिकित्सालय को प्रारम्भ कर दिया गया है। जिला चिकित्सालय में फिजियोथेरेपी प्रारम्भ की गई है जिसके बेहतर परिणाम आने लगे है। इसके साथ ही ब्लेक फंगस की जागरूकता के लिए भी काम करते हुए 11 प्रश्नों की प्रश्नावली तैयार की गई है जिसकों कोरोना से ठीक हुआ मरीज पढकर स्वयं का आंकलन कर रोग से बचने की कोशिश करेगा। विधायक श्री सिसोदिया ने मंदसौर शहर में जनसहयोग से गैस संचालित शवदाहग्रह की स्थापना शीघ्र किए जाने की जानकारी देे हुए कहा कि विधायक निधि से 395.836 लाख एवं सांसद निधी से 34.28 लाख की स्वीकृतिया कोविड से संबधित कार्यो के लिए की गई है।
    बैठक के दौरान कलेक्टर   मनोज पुष्प द्वारा कहा गया कि जिले में अनाथ हुए बच्चों का सर्वे करा लिया गया है। इस तरह जिले में कुल 124 बच्चे चिन्हित किए गए हैं। उनकी सूची व प्रकरण बना लिए गए हैं। इन बच्चों को दानदाताओं से जोड़ने का कार्य भी किया जा रहा है। कि‍ल कोरोना अभियान के अंतर्गत कार्य लगातार जारी है। क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक ग्रामीण स्तर तक आयोजित की जा रही हैं। इस बैठक में रेवेन्यू के साथ-साथ अन्य अधिकारी भी शामिल हो रहे हैं। जिससे बैठक का महत्व बहुत बढ़ गया है। ब्लैक फंगस की पहले से तैयारी कर ली है। इस संबंध में लाभ मुनि चिकित्सालय को चिन्हित कर लिया है। विधायकों की पहल से जिले में सिटी स्कैन rt-pcr, ऑक्सीजन के संबंध में सभी अच्छी तैयारियां हैं। अब जिले में कोई समस्या नहीं है। जिले में 3 माह का राशन भी वितरित कर दिया गया है। साथ ही जो भी गरीब एवं अनाथ हैं उन को निशुल्क भोजन भी प्रदान किया जा रहा है।
मौसम खराब होने से रद्द हुआ रतलाम दौरा
इससे पहले मुख्यमंत्री चैहान बुधवार को रतलाम आने वाले थे। लेकिन मौसम की खराबी के कारण उनका दौरा रद्द कर दिया गया। इसके बाद मुख्यमंत्री सीधे उज्जैन पहुंचे। मुख्यमंत्री ने स्वयं ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने अपने ट्वीट संदेश में कहा कि अपरिहार्य कारणों से मेरे रतलाम का दौरा रद्द हो गया है। अतः उज्जैन से ही उज्जैन के साथ रतलाम की कोरोना नियंत्रण की समीक्षा करूंगा।
Chania