Monday, February 26th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी

खंखरई, गुडभेली बड़ी, सिंदपन, पिपलिया में हुई अलग-अलग घटनाओं में चार और मोंतो की खबर पुष्टि नही , वित्त मंत्री ने दु:ख जताया, कलेक्टर-एसपी मौके पर पहुंचे, अवैध शराब के ठिकानों को तोड़ना शुरू
जनसारंगी न्यूज

पिपलिया मण्डी । लंबे समय से मंदसौर में जिस बात का अंदेशा जताया जा रहा था, मिडिया से लेकर कुछ जनप्रतिनिधी आगाह कर रहे थे, डर था कि मंदसौर जिले में पिछले कुछ समय से अवैध शराब धडल्ले से बिक रहीं है, इसमें घटिया शराब भी है जिसे पीकर कोई अनहोनी ना हो जाऐ लेकिन किसी जिम्मेदार के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी और आखिरकार रविवार को वहीं हो गया जिसका डर था। मंदसौर जिले के पिपलियामंडी के निकट खंखरई गांव में शराब पिने से तीन लोगों की मौत हो गई। गुड़भेली बड़ी, सिंदपन, पिपलिया में भी मौत की खबर है। करीब चार लोग अभी भी जीवन और मौत से संघर्ष कर रहे है हालांकि एक को प्रारम्भिक उपचार के बाद छुट्टि दे दी गई। उधर घटना के बाद क्षेत्रिय विधायक और प्रदेश के वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने टवीट कर घटना पर दु:ख जताया और कहा कि घटना दुर्भाग्यपूर्ण है मैने कलेक्टर एवं एसपी से इस घटनाक्रम को लेकर चर्चा की और जांच कर तत्काल दोषियों पर कार्रवाहीं के निर्देश दिऐ है जो भी दोषी हो, बख्शा नहीं जाऐगा।, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस घटना को लेकर  टवीट करते हुए चिंता जताई। घटना के बाद कलेक्टर ने आबकारी के उप निरीक्षक नरेन्द्र डामोर को निलम्बित कर दिया ।
पिपलियामंडी क्षेत्र के गांव खंखराई, गुड़भेली बड़ी, सिंदपन, पिपलिया में अलग-अलग घटनाओं में शराब पीने से तीन लोगों की मौत हो गई हालांकि चार और मोतो की खबर है लेकिन प्रशासन ने तीन की ही पुष्टि की है ।  4 की हालत गंभीर है। बताया जा रहा है कि शराब जहरीली थी जिससे मौत हुई । घटना के बाद जिला पुलिस अधीक्षक सहित पुलिस जाप्ता गांव पहुंचा व घटना की जानकारी ली। जानकारी के अनुसार गांव खंखराई में शराब पीने के बाद पांच की तबीयत बिगड़ गई। जिन्हें परिजन मंदसौर जिला अस्पताल ले गए। इसमें से मनोहरलाल (45) पिता लक्ष्मण बागरी को शनिवार को मंदसौर जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। भतीजे दिलीप ने बताया काका मनोहर के पिता लक्ष्मण का वर्षों पूर्व निधन हो चुका है। पूरे परिवार की जवाबदारी उन पर थी। मनोहर के पांच लड़कियां है, जिनके पालन-पोषण को लेकर समस्या खड़ी हो  जाएगी। पूरे मामले की जांच हो। इसी तरह रविवार को श्यामलाल (21) पिता मोड़ीराम मेघवाल की भी तबीयत बिगड़ी। परिजन अस्पताल ले गए, लेकिनमौत हो गई। पिता मोड़ीराम ने बताया मोड़ीराम इकलौता लड़का था। रात्रि में शराब पीकर आया, तबीयत बिगड़ी मूंह से झाग आए, अस्पताल ले गए, जहां मृत घोषित कर दिया। इसी तरह घनश्याम (40) पिता रायसिंह बावरी की भी रात्रि में शराब पीने के बाद रविवार को तबीयत बिगड़ी। जिसे मंदसौर जिला अस्पताल ले गए, जहां मृत घोषित कर दिया। घनश्याम के भाई मुरली ने पुलिस व आबकारी विभाग को दिए बयान में बताया कि शनिवार को दोनों भाईयों ने शराब पी थी। उसके बाद तबीयत बिगड़ी, जिससे घनश्याम की मृत्यु हो गई। मैंने भी अस्पताल इलाज कराया, अभी भी हालत ठीक नही है। इसी गांव में शराब पीने के बाद पर्वतसिंह पिता भंवरसिंह की हालत गंभीर है, जिन्हें मंदसौर जिला अस्पताल भर्ती कराया है। सूचना पर प्रदेश कांग्रेस महामंत्री श्यामलाल जोकचन्द्र ने गांव पहुंच मृतकों के परिजनों को ढ़ाढस बंधाया और हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया। इधर घटना की सूचना मिलने पर देर शाम कलेक्टर मनोज पुष्प, जिला पुलिस अधीक्षक सिध्दार्थ चोधरी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमित वर्मा, पिपलिया टीआई शिवकुमार यादव, चोकी प्रभारी कपिल सोराष्ट­ीय सहित पुलिस जाप्ता व आबकारी विभाग के अधिकारी गांव पहुंचे। पुलिस ने ग्रामीणों व परिजनों के बयान भी दर्ज किया।
मीडिया और जनप्रतिनिधी भी कर रहे थे आगाह
मंदसौर जिले में लगातार अवैध शराब खप रहीं है इसकों लेकर मीडिया से लेकर जनप्रतिनिधी तक लगातार आगाह कर रहे थे बावजूद इसके ना तो आबकारी विभाग और ना ही पुलिस कोई ठोस कार्रवाहीं कर पा रहीं है। पुलिस हर दिन शराब पकड़ जरूर रहीं है लेकिन यह कार्रवाहीं केवल दिखावटी साबित हो रहीं है। यहीं कारण है कि मंदसौर में अवैध रूप से राजस्थान से लेकर देशी शराब प्रिंस के साथ अन्य ब्रांड भी जिले में खूब खप रहे है। एक फोन पर लोगों के घरों तक शराब पहुंच रहीं है, वह भी तब जब राजस्थान की सीमा पर मंदसौर पुलिस सख्त पहरा रहता है बावजूद इसके धडल्ले से राजस्थान की शराब मंदसौर आ रहीं है और कई जगहों पर देशी शराब बन रहीं है लेकिन फिर भी आबकारी और पुलिस की सख्त कार्रवाहीं नहीं हो पा रहीं है।
विधायक कहें तो कार्रवाहीं नहीं लेकिन ठेकेदार के ईशारे पर सख्ती
मंदसौर में अवैध शराब की जड़े इतनी गहरी हो चली है कि मंदसौर जिले के जिम्मेदार विधायक यदि अवैध शराब के कारोबार को रोकने लिए मंदसौर पुलिस के कप्तान से लेकर संभाग के कप्तान यानी आईजी तक को शिकायत करें तो पुलिस ने उसे आई-गई कर दी, कभी भी कोई कार्रवाहीं नहीं की गई लेकिन यदि शराब ठेकेदार ईशारा करें तो पुलिस सख्त होकर कार्रवाहीं शुरू कर देती है लेकिन वह भी केवल वहीं तक जहां शराब ठेकेदार कह रहा है। जबकी बताया जाता है कि मंदसौर जिले की सीमा से लगे कई ढाबों तक पर अवैध रूप से शराब का कारोबार हो रहा है बावजूद इसके पुलिस और आबकारी विभाग इसे रोकने की जहमत नहीं उठा रहा है। यहीं कारण है कि अवैध शराब के कारोबार में जहरीली शराब की जड़े भी गहरी हो गई और तीन लोगों की जान चली गई।
मिलीभगत से बिक रहीं है जहरीली शराब
ग्रामीणों की शराब पीने से मौत के बाद प्रदेश कांग्रेस महामंत्री श्यामलाल जोकचन्द्र गांव खंखराई पहुंचे। जोकचन्द्र ने आरोप लगाया मल्हारगढ़ विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रदेश के आबकारी मंत्री है, एसे में यहां जहरीली शराब पीने से लोगों के मरने की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। जोकचन्द्र ने आरोप लगाया जनप्रतिनिधि, पुलिस व आबकारी विभाग की मिलीभगत से जिले में जहरीली शराब बिक रही है। जिससे कई जानें जा चुकी है। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के राज में जगह-जगह शराब की दुकानें खुलवा दी, इसकी आड़ में नकली शराब बिक रही है। जोकचन्द्र ने शराब पीने से मरे लोगों के परिजनों को 10-10 लाख रुपए आर्थिक सहायता की मांग की।
इसलिए पीते है
जहरीली शराब-
क्षेत्र में लायसेंस की शराब की दुकानों पर शराब की बोतल व क्वाटर पर निर्धारित मूल्य से कई गुना अधिक राशि ली जाती है, इस कारण लोग सस्सी शराब पीने के लिए क्षेत्र में बिक रही नकली व जहरीली शराब खरीदकर पीते है। पूर्व में भी कई बार इस तरह की घटनाएं हो चुकी है।
अन्य क्षेत्र में भी हुई मौत
शराब पीने से अन्य गांव में भी मौत होना सामने आई है। पिपलिया में ही रविवार को खात्याखेड़ी मार्ग पर ईंट के भट्टे पर गोर्धनसिंह पिता उमरासिंह राजपूत की शराब पीने के बाद मौत हो गई। गोर्धनसिंह ने शनिवार रात्रि शराब पी थी, उसके बाद वहीं सो गया था। गांव गुड़भेली बड़ी में भी रामप्रसाद गायरी की शराब पीने के बाद हालत बिगड़ी, परिजन अस्पताल ले गए, लेकिन पहले की मृत्यु हो गई। पुलिस ने भी मौत अत्यधिक   शराब पीने से ही होना बताया है। इसी तरह सिन्दपन स्टेशन गांव में कवंरलाल बागरी व उसके साडू महागढ़ निवासी भागीरथ की शराब पीने के बाद तबीयत बिगड़ी, बाद में दोनों की मौत हो गई।
बही के चोकीदार सहित दो भर्ती
गांव बही पार्श्वनाथ निवासी चोकीदार भगतराम पिता मांगीलाल मेघवाल व पारस पिता रामनारायण पाटीदार को भी शनिवार रात्रि में शराब पीने के बाद रविवार को तबीयत बिगड़ने पर मंदसौर निजी अस्पताल सिध्दी विनायक में भर्ती कराया। दोनों की हालत गंभीर है। इस मामलें में मल्हारगढ़ एसडीओपी टीसी पंवार का कहना है जहरीली शराब से मौत कहना जल्दबाजी होगी। शव के पीएम कराए है, जब तक विसरा रिपोर्ट नही आती तब     तक मौत के कारण पता नही चल सकता। फिलहाल मर्ग कायम किया है।  जहरीली शराब पीने से मौत की पुष्टि होने पर दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।
पूरे घटनाक्रम की हो रहीं जांच
कलेक्टर मनोज पुष्प ने बताया कि घटनाक्रम में जिन लोगों की मौत हुई है उनका पोस्टमार्टम कराकर पूरे घटनाक्रम की जांच की जा रही है। जिससे पता चल सके कि मृत्यु किन कारणों से हुई है। इसके साथ ही दो व्यक्तियों का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा था इसमें से एक व्यक्ति की स्थिति अच्छी थी उसे अस्पताल से घर भेज दिया गया तथा दूसरे का उपचार चल रहा है। इसके साथ ही गलत शराब बेचने के ठिकाने को नेस्तनाबूत करने के निर्देश मल्हारगढ़ एसडीएम को दिए गये है। पुलिस और प्रशासन लगातार कार्यवाहीं में जूटा है।


Chania