Sunday, March 3rd, 2024 Login Here
मंदसौर संसदीय क्षेत्र से सुधीर गुप्ता को मिला टिकीट सेवा कार्यो में उत्कृष्ट कार्य को लेकर रेडक्रॉस सोसायटी जिला शाखा मंदसौर को मिला अवार्ड बांछड़ा डेरों पर पुलिस की दबिश, भारी मात्रा में अवैध शराब जप्त प्रतिवेदन पेश नहीं करने पर नपा सीएमओं के खिलाफ पांच हजार का जमानती वारंट जारी सूदखोरों से परेशान होकर की आत्महत्या, पिता के मृत्युभोज के लिए लिया था पैसा मंत्री सारंग ने की वन-टू-वन चर्चा, कहा 6 लाख वोट से भाजपा को जिताने का संकल्प ले लोकसभा चुनाव - भाजपा के 155 उम्मीदवारों की सूची आज घोषित होने की संभावना स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क

टीम अस्पताल जाकर घायलों से मिली, खंखराई में परिजनों से बातचीत के बाद एसआईटी प्रमुख राजौरा बोले, दो भी दोषी होगा कार्रवाहीं होगी
 (जेपी तेलकार)।
जहरीली शराब पीने से मरने वालों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है, तीन दिन पूर्व भर्ती गांव बही पाश्र्वनाथ के चोकीदार ने भी इलाज के दौरान उदयपुर में दम तोड़ दिया। इसके बाद मरने वालों का आंकड़ा 11 पहंुच गया है। हालांकि अधिकारिक आंकडा अभी छह पर ही टीका है।  इधर पुलिस गिरफ्त में आए जहरीली शराब कांड के आरोपियों को कोर्ट ने पुलिस रिमाण्ड पर सौंपा है। वहीं शराब पीने के बाद सेहत बिगड़ने का सिलसिला भी जारी है। दूसरी तरफ शराबकांड को लेकर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान के निर्देश पर गठित एसआईटी टीम बुधवार को पिपलिया पहंुची, यहां पुलिस थाने पर दस्तावेज जांच वहीं खंखराई गांव पहंुच मृतकों के परिजनों से मुलाकात की। जानकारी के अनुसार गांव खंखराई, पिपलिया, गुड़भेली, सिंदपन में जहरीली शराब पीने से हुई मौतों के बाद पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की कार्यवाही जारी है। इस बीच एसआईटी की टीम के प्रमुख राजेश राजौरा, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक जीपीसिंह, पुलिस महानिरीक्षक रेल एमएस सिकरवार बुधवार को पिपलिया थाने पहंुचे। यहां समिति ने पिपलिया थाने में दस्तावेजों की जांच की साथ ही गवाहों और पुलिस हिरासत में लोगों से पूछताछ की। बाद में वे गांव खंखराई पहंुचे, जहां उन्होंने मृतकों से परिजनों से भी बातचीत की। टीम जहरीली शराब से हुई मौत को लेकर हर पहलू पर जांच कर रही है। जल्द ही टीम जांच होने के बाद रिपोर्ट सरकार को भेजेगी। इस अवसर पर संभागायुक्त, आईजी, डीआईजी, कलेक्टर, एसपी आदि अधिकारी भी मौजूद थे।
जानकारी के अनुसार शनिवार को जहरीली शराब पीने के बाद मंदसौर निजी अस्पताल में भर्ती बही पाश्र्वनाथ के 45 वर्षीय चोकीदार भगतराम पिता मांगीलाल मेघवाल को मंगलवार शाम गंभीर होने पर उदयपुर रेफर किया था। जहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। शव का उदयपुर में पीएम कराने के बाद बही में अंतिम संस्कार किया।
मृतकों व बीमार की यह स्थिति-
जहरीली शराब पीने से मृतकों की संख्या 11 हो गई है। इसमें पिपलिया के 5, खंखराई के 3, गुड़भेली बड़ी, सिंदपन व महागढ़ के 3 मृतक शामिल है।  वहीं बीमार लोगों बही पाश्र्वनाथ, सोकड़ी, खंखराई, पिपलिया, पिपलियापंथ के करीब छह लोग निजी व शासकीय अस्पाल में उपचार करवा रहे है। जिसमें से तीन की स्थिति गंभीर है, बीमारों को आंखों से दिखना कम हो गया है।
एसआईटी प्रमुख राजौरा ने कहा जो भी दोषी होगा, उस पर कार्रवाई होगी-
एसआईटी प्रमुख राजौरा ने मीडिया से चर्चा में कहा प्रभावित गांव का दौरा किया है, परिजनों से बातचीत की है। घटना क्यूं और कैसे घटित हुई, क्या कारण रहे इसको लेकर जांच की जाएगा। इसकी पुनरावृत्ति न हो इसको लेकर रिकमेंट करेंगे। जहरीली शराब से मरने की बात सामने आई है, प्रारंभिक रुप से शराब पीने से बीमार लोगों से इस बात की पुष्टि होती है कि शराब जहरीली थी। विसरा रिपोर्ट आने के बाद ही वस्तुस्थिति का पता चलेगा। मध्यप्रदेश में राजस्थान बार्डर से जहरीली शराब आने की बात सामने आई है, शासन उचित निर्णय लेगी। पूरे मामले में जो भी दोषी होगा, उस पर सख्त कार्रवाई होगी।
गिरफ्तार आरोपी पुलिस रिमाण्ड पर-
जहरीली शराब बेचने के मामले में गिरफ्तार आरोपियों को कोर्ट ने पुलिस रिमाण्ड पर दिया है। मल्हारगढ़ एसडीओपी टीसी पंवार ने बताया खंखराई में शराब बेचने वाले पिंटू पिता महिपालसिंह को पुलिस ने गिरफ्तार किया तो पुलिस पूछताछ के दौरान पिंटू ने बताया वह उक्त शराब सुजानपुरा निवासी जयपालसिंह पिता कुशालसिंह से लाता था। इस आधार पर जयपालसिंह को भी गिरफ्तार किया। दोनों को कोर्ट में पेश करने पर 30 जुलाई तक पुलिस रिमाण्ड पर सौंपा है।
दविश जारी, शराब बेचने वालों से पूछताछ-
पिपलिया टीआई ओपी तंतवार ने बताया अवैध शराब बेचने वालों को पकड़ने के लिए पुलिस टीम की दविश जारी है। करीब 10 लोगों को और हिसारत में लेकर पूछताछ की जा रही है। जो भी दोषी होगा, उस पर सख्त कार्रवाई होगी।
दूसरे दिन भी बंद रहा ठेका-
बीमार लोगों द्वारा देशी शराब पिपलिया कृषि मंडी के पास स्थित देशी शराब दुकान से लाने का बयान देने के बाद मंगलवार को ही आबकारी विभाग ने देशी शराब दुकान को सील कर दी थी, जो दूसरे दिन बुधवार को भी बंद रही। आबकारी विभाग के अधिकारी यहां डेरा जमाए रहे व कागजी कार्रवाई करते दिखे।
कांग्रेस ने दिया मौन धरना-
शराबकांड को लेकर मुख्यमंत्री, आबकारी मंत्री व गृहमंत्री के इस्तीफे की मांग को लेकर बुधवार को ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष अनिल शर्मा के नेतृत्व में कांग्रेस नेताओं व कार्यकर्ताओं ने गांधी चैराहे के पास मौन धरना दिया व तख्तियां लेकर मौन रैली निकाली। बाद में राज्यपाल के नाम नायब तहसीलदार मनोज शर्मा को ज्ञापन सौंपा, जिसमें पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की।
तोड़-फोड़ की कार्रवाई केवल दिखावा-
क्षेत्र में जहरीली शराब से मौत के बाद पुलिस ने ढ़ाबों पर तोड़-फोड़ की कार्रवाई शुरु की है, जो दिखावा मात्र है। ढ़ाबे भी वे तोड़े जा रहे है जो अस्थाई है। या किसी गरीब के है। बड़े तस्करों व बड़े माफियाओं पर कार्रवाई को लेकर पुलिस व प्रशासनिक अमला साहस नही जुटा पा रहा है। मादक पदार्थ को पकड़ने के बाद उसमें शामिल लोगों की तह तक जाने में जो दिलचस्पी पुलिस दिखाती है। वैसी दिलचस्पी इस मामले में कहीं नजर नही आ रही है। पंाच दिन बीतने के बाद भी नकली शराब सप्लाय करने वाले व नकली शराब की फेक्ट्री तक पुलिस नही पहंुच पाई है।
एबूलेंस से शराब तस्करी करने वाले को पकड़े तो हो सकता है खुलासा-
उल्लेखनीय लाॅकडाउन के दौरान करीब एक वर्ष पूर्व राजस्थान की प्रतापगढ़ पुलिस ने पिपलिया क्षेत्र के कुख्यात शराब तस्कर महेश कलाल को राजस्थान में नकली शराब फेक्ट्री से मध्यप्रदेश में एबूलेंस के जरीये बड़ी मात्रा में नकली शराब लाते हुए पकड़ा था। इस मामले में वह जेल में भी बंद रहा है। फोरलेन पर ढ़ाबे की आड़ में शराब तस्करी करने वाले महेश पर राजनैतिक वरदहस्त होने के कारण पुलिस व आबकारी विभाग आज दिन तक कार्रवाई करने की हिम्मत नही जुटा पाई है। अगर पुलिस इसेपकड़कर पूछताछ करे व काॅल रिकार्डिंग खंगाले तो बड़ा खुलासा हो सकता है।
कल मंदसौर आऐंगे सज्जन वर्मा
मंदसौर में शराब कांड के बाद पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के प्रतिनिधी बतौर प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री सज्जनसिंह वर्मा कल 30 जुलाई को मंदसौर आऐगें। वे मृतकों के परिजनों से बीच पहुंचेगें और घटना की वस्तुस्थिति जानेगे।
जिला कांग्रेस अध्यक्ष नवकृृष्ण पाटील एवं मल्हारगढ़ ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष अनिल शर्मा ने बताया कि एक दिवसीय कार्यक्रम के तहत श्री वर्मा सुबह 11 बजे जिला कांग्रेस कार्यालय पहुंचेगे। यहां से सुबह साढ़े 11 बजे पिपलिया में जहरीली शराब से मृतक हुए लोगों के परिजनों से मुलाकात कर सामुहिक श्रृद्धाजंलि अर्पित करेगे। यह जानकारी जिला कांग्रेस प्रवक्ता सुरेश भाटी ने दी।

जगदीश देवड़ा ने किए ट्वीट-
मल्हारगढ़ विधानसभा क्षेत्र के विधायक व प्रदेश के वित्त व आबकारी मंत्री जगदीश देवड़ा ने दो ट्वीट किए है, पहले ट्वीट में उन्होंने लिखा अवैध व नकली श्ज्ञराब को लेकर मंदसौर प्रशासन जीरो टालरेंस की नीति  के साथ कार्यवाही में जुटा है। शराब के अवैध विक्रय के ठिकानों पर कार्यवाही की जा रही है। आबकारी व पुलिस विभाग की टीम के साथ अन्य अधिकारी भी मैदानी रुप से सक्रिय है। दूसरे ट्वीट में देवड़ा ने लिखा सरकार अपना काम कर रही है। जो भी दोषी होगा, बचेगा नही। सरकार संवेदनशीलता के साथ कार्रवाई कर रही है और कांग्रेस असंवेदनशीलता के साथ राजनीति करती रही है, अब भी कर रही है।
दिग्विजयसिंह ने किए ट्वीट-
मप्र के पूर्व सीएम व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजयसिंह ने भी शराबकांड को लेकर दो ट्वीट किए। पहले ट्वीट में उन्होंने लिखा मप्र में अवैध शराब का बहुत बड़े पैमाने पर धंधा चला हुआ है, जनवरी 2021 में नूराबाद थाना मुरैना में 26 लोगों ने जान गंवाई। अब स्वयं भाजपा सरकार के आबकारी मंत्री के मल्हारगढ़ विधनसभा क्षेत्र के पिपलियामंडी थाना क्षेत्र में 11 लोगों की मौत के समाचार है। दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा अवैध शराब का धंधा पुलिस व आबकारी विभाग के संरक्षण में चलता रहा है और कारोड़ों की रिश्वत प्रति माह वसूली जाती है। क्या आबकारी मंत्रीजी को अपने ही निर्वाचन क्षेत्र में धड़ल्ले से चल रहे अवैध शराब के धंधे की जानकारी नही थी ? क्या यह संभव है ? क्या मंत्री जी इस्तीफा नही देना चाहिए ?
नरोत्तम मिश्रा ने किया ट्वीट-
प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी ट्वीट कर लिखा कि प्रदेष में शराब माफिया को किसी सूरत में नही बख्शा जाएगा। मंदसौर, इंदौर में मामला सामने आते ही प्रशासन ने आरोपियों के अवैध ठिकानों को नेस्तनाबूद कर दिया है। सरकार शराब के अवैध कारोबार पर अंकुश लगाने उप्र की तर्ज पर कठोर कानून बना रही है।
श्यामलाल जोकचन्द्र का ट्वीट-
मप्र कांग्रेस कमेटी के महामंत्री श्यामलाल जोकचन्द्र ने भी मामले को लेकर ट्वीट किया। उन्होंने लिखा कि शराब से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है, आज फिर एक मौत हो गई है, परन्तु शिवराज सरकार अभी तक असली आरोपी तक नही पहंुच पाई, वो सिर्फ गरीब, गुरबों के ढ़ाबे गिराकर इति श्री कर रही है, एसआई का गठन कर मामला ठण्डा करने में लगी हुई है। घायलों का मुफ्त इलाज भी मुहैया नही करवा पाई है।

फोटो संलग्न
निजी से लेकर सरकारी भूमि तक पर चल रहे थे ढाबे, नेस्तनाबूत किए
मंदसौर जनसारंगी।
जहरीली शराब से मौत के बाद बुधवार को जिले भर में अवैध ढाबों पर प्रशासन और पुलिस ने संयुक्त रूप से कार्रवाहीं कर जेसीबी चलाई। हालत यह थी कि निजी से लेकर सरकारी भूमि तक पर अवैध ढाबे चले रहे थे लेकिन कोई कार्रवाहीं को तैयार नहीं था जबकी  इन ढाबों पर अवैध शराब बिकने की खबरों से मिडिया लगातार अवगत करा रहा  था लेकिन तब कोई भी जागने को तैयार नहीं थी।
अब घटना के बाद पूरा अमला मैदान में कूद पडा और कार्रवाहीं करते हुए सीतामऊ मंदसौर रोड़ ओर सीतामऊ सुवासरा रोड पर बने सभी ढाबो पर सीतामऊ तहसीलदार प्रेमशंकर पटेल,थाना प्रभारी दिनेश प्रजापति,नायब तहसीलदार टीना मालवीय ने टीम के साथ सभी ढाबो की सर्चिंग की ओर उन पर बने केबिन को तोड़ा गया साथ ही जिन ढाबो पर ग्रीन मेंटिया लगाकर पैक किया गया था उनको खुलवाया गया और ढाबा संचालकों पर वहा बिठाकर शराब नही पिलाने की सख्त हिदायत दी।  शामगढ़ में अवैध ढाबों पर कार्रवाई की गई। इनको तोड़ कर नष्ट किया गया, तितरोद में भी ढाबों को हटाया गया। इसके अलावा गरोठ में भी कृषि उपज मंडी के आसपास अवैध ढाबों को हटाया गया। नाहरगढ क्षेत्र में भी अवैध ढाबों को ढहाया गया। ग्राम खजुरिया सारंग, दलौदा में भी अवैध ढाबों पर कार्रवाहीं करते हुए उन्हें जमीजोद किया गया। दलौदा में मंडी के पीछे शासकीय भूमि पर ढाबा चल रहा था इसे भी जमीजोद किया गया इसके साथ ही दलौदा में झलारा ढाबा,फिरोजाबाद ढाबा,बांखखेड़ी ढाबा नेस्तनाबूत किया गया।
फोटो सईम ने भेजा
संजीत क्षेत्र में भी तोड़े गऐ अवैध ढाबे
संजीत जनसारंगी।
जहरीली शराब कांड के बाद संजीत क्षेत्र में भी अवैध ढाबों को तोड़ा गया। जिसमें प्रश्ज्ञासन और पुलिस ने मिलकर संजीत, गरनाई, बांसखेड़ी में मंदसौर रोडत्र पर बने अवैध शराब के ठिकानों पर कार्रवाहीं कर उन्हें नेस्तनाबुत किया गया। इस दौरान नाहरगढ़ थाना बिट प्रभारी समेत राजस्व अमला मौजूद था।
सर्किट हाउस पहुंचकर कर सकते हैं शिकायत
कलेक्टर कार्यालय से जारी प्रेसनोट में बताया कि  विगत दिनों मल्हारगढ क्षेत्र में मौते हुई है। उसकी जांच हेतु म.प्र. शासन गृह विभाग द्वारा विशेष जांच दल गठित किया गया है। जांच दल मन्दसौर के प्रवास पर है। कोई भी व्यक्ति जांच दल को गोपनीय रूप से सूचना देना चाहे तो 29 जुलाई को सर्किट हाउस मन्दसौर पर दोपहर 12.00 से 01.00 बजे के मध्य उपस्थित होकर दे सकता है। दूरभाष अथवा व्हाट्सअप पर सूचना देना चाहे तो मो.नं. 8770323945 पर दे सकते है। सूचना देने वाले व्यक्ति का नाम एवं पहचान पूरी तरह से गोपनीय रखा जायेगा।
Chania