Monday, February 26th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी

बाबु के दो साथी भी गिरफ्तार, नारकोटिक्स ने किया खुलासा, और भी राज खुलने की संभावना
मंदसौर निवास पर भी पड़ताल करने पहुंची
जनसारंगी न्यूज
नीमच/मंदसौर  । मंडी व्यापारी की आड़ में मादक पदार्थ की तस्करी करने वाले बाबू सिंधी के गोदाम पर गुरुवार को केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो नीमच इकाई ने छापा मारा। जहां उपज की बोरियां खोलकर देखी तो टीम में शामिल अधिकारी व कर्मचारी अचंभित रह गए। तस्कर बाबू द्वारा गेहूं, सोयाबीन व अन्य उपज की आड़ में डोडाचूरा, धोलापाली, काला पोस्तादाना की तस्करी की जा रही थी।  कार्रवाई देर रात तक जारी रही। शुक्रवार को एनसीबी ने पूरे मामले का खुलासा किया । उधर बाबू पर कार्रवाई के बाद इससे जुड़े तस्कर व साथी मोबाइल बंद कर भूमिगत हो गए हैं।  इसके साथ ही टीम ने मंदसौर में स्थित बाबू के निवास पर भी पड़ताल की। इस मामलें में कई व्यापारियो और खाकी से भी तार जूड़ने की संभावना जताई जा रहीं है।
डॉ. संजय कुमार ने नीमच डीएनसी का पद संभालने के बाद तस्करों पर शिकंजा कसना शुरू किया। मुखबिर की सूचना मिलते ही गुरुवार को नीमच-मंदसौर के अधिकारियों की टीम बनाकर कार्रवाई के लिए भेजी। सुबह 11.30 बजे टीम बाबू सिंधी के गोदाम पर पहुंची और कार्रवाई शुरू की। जहां से बड़ी मात्रा में गेहूं व अन्य उपज में मिला डोडाचूरा मिला। बाबू सिंधी ने अपने गोदाम के पास ही दो गोदाम और किराए से लेकर इनमें भी बोरियां जमा रखी थी। नारकोटिक्स कमिश्नर  डॉ संजय कुमार ने पूरे मामले का खुलासा करते हुए बताया कि सीबीएन ने जयकुमार सबनानी उर्फ बाबु सिंधी नीमच के औद्योगिक क्षेत्र स्थित गोदाम मेसर्स के टोलाराम सिंधी मालिक, हितांक्षी ट­ेडिंग कंपनी नीमच से गेहूं के साथ मिश्रित खसखस 98 बोरी, वजन 7.84 टन, शुध्द पोस्ता पुआल, डोडा पाउडर 3 बेग वजनी 1 क्विंटल, डोडाचूरा धूल घुसी 2 बेग, वजन 21 कि ग्रा, काली अफीम के बीज 300 बोरी, वजन 175 क्विंटल, डोडाचूरा धूल के साथ अफीम कालादाना, लगभग 56 किलो जप्त करते हुए मुख्य सरगना जय कुमार सबनानी उर्फ बाबु सिंधी को उसके दो साथियों के साथ हिरासत में लिया गया । नारकोटिक्स कमिश्नर  ने बताया कि जप्त की गई दवाओं की कार्यप्रणाली अद्वितीय थी क्योंकि जप्त किये गए पोस्त के भूसे को जानबुझकर गेहूं के साथ मिलाया गया था ताकि परिवहन के दौरान पता न चल सके ।
पूर्व में भी तस्करी में आ चुका नाम
करीब एक माह पहले मंडी व्यापारी मनीष तिवारी के तिलक नगर स्थित गोदाम से पुलिस ने 37 क्विंटल डोडाचूरा सहित वाहन व अन्य उपकरण जब्त किए थे। तस्कर तिवारी तभी से फरार है। पुलिस उसे अभी तक गिरफ्तार नहीं कर सकी। इस मामले में बाबू सिंधी का नाम भी सामने आया था। पुलिस इसकी अभी तक जांच ही कर रही है। इसके अलावा पोस्तादाना से निकलने वाले धोलापाली को डोडाचूरा में मिलाकर तस्करी में करीब चार साल पहले हरियाणा में एक मामला सामने आया था। इसमें बाबू का नाम सामने आने पर हरियाणा पुलिस ने नीमच में दस्तक दी थी। इसके अलावा राजस्थान में डोडाचूरा जब्ती मामले में भी नाम आया था। लेकिन पुलिस से सांठगांठ करके इन मामलों को दबा दिया गया था।
रजिस्ट्रर, बिल बुक और अन्य दस्तावेज जब्त किए
कार्रवाई टीम ने सुबह गोदाम पर पहुंचकर सबसे पहले ऑफिस की तलाशी ली। यहां बाबू सिंधी अपने कैबिन में बैठा मिला। टीम के सदस्यों ने जांच पड़ताल के बाद यहां से रजिस्ट्रर, बिल बुक, हिसाब-किताब के दस्तावेज जब्त किए। इनकी जांच में कई बड़े खुलासे हो सकते हैं। इधर, शाम को टीम ने बाबू सिंधी को अपनी हिरासत में ले लिया। जांच पूरी होने के बाद आगे की कार्रवाई होगी।
बाबू के कारण ही व्यापारियों ने बंद की थी पोस्ता की खरीदी
37 क्विंटल डोडाचूरा जब्ती में बाबू सिंधी का नाम आने की चर्चा के बाद पुलिस व नारकोटिक्स विंग की टीम द्वारा मंडी के पोस्ता व्यापारियों के गोदामों की जांच शुरू कर दी थी। बाबू व एक-दो अन्य व्यापारियों द्वारा धोलापाली का काम किया जा रहा था। इससे अन्य व्यापारियों की भी बदनामी हो रही थी। सभी व्यापारियों ने एक मत होकर 2 अगस्त से मंडी में पोस्तादाना की खरीदी ही बंद कर दी। नारकोटिक्स ब्यूरो की इस कार्रवाई से अब दूसरे व्यापारियों ने राहत की सांस ली है।
डीएनसी भी पहुंचे, तीनों गोदाम देखेंर
 नारकोटिक्स ब्यूरो टीम ने सुबह कार्रवाई शुरू की। दोप. 3.22 बजे डीएनसी डॉ. संजय कुमार औद्योगिक क्षेत्र में तस्कर बाबू सिंधी के गोदाम पर पहुंचे। उन्होंने टीम से जानकारी ली। इसके बाद दूसरे व तीसरे गोदाम में जाकर निरीक्षण किया। कार्रवाई टीम को आवश्यक निर्देश देने के बाद दोप. 3.42 बजे वापस लौट गए। डीएनसी के जाने के बाद टीम ने सैंपलिंग शुरू की।
जांच पूरी होने के बाद विस्तृत जानकारी देंगे
नीमच इकाई की टीम गठित कर औद्योगिक क्षेत्र में तस्कर के गोदाम पर कार्रवाई के लिए भेजी थी। गोदामों में बोरियां अधिक है। उनका तौल चल रहा है। कार्रवाई बड़ी है, जांच पूरी होने के बाद विस्तृत डाटा के साथ जानकारी दी जाएगी।
-डॉ. संजय कुमार-
डीएनसी, केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो इकाई, नीमच

Chania