Sunday, February 25th, 2024 Login Here
गरीब के जीवन से कष्टों को मिटाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य-डॉ यादव चिकित्सक पर हुई कार्रवाहीं का डाक्टरों व सिंधी समाज ने किया विरोध किरायेदारों से अनजान पुलिस, मकान मालिक भी लापरवाह नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद बंशीलाल जी गुर्जर का मंदसोर शहर में होगा भव्य स्वागत ट्रक में लहसुन के नीचे छुपाकर रख 1031 किलो डोडाचूरा जब्त, ड्राइवर गिरफ्तार मुख्‍यमंत्री डॉ.मोहन यादव आज नीमच में 752 करोड से अधिक के कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे 36 घंटे में पुलिस ने किया अन्तरॉज्जीय लूटेरों को गिरफ्तार मदिरा दुकानों के नवीनीकरण आवेदन 22 फरवरी तक करें पांच साल के इंतजार के बाद आज से मंदसौर में प्रारंभ होगा पासपोर्ट कार्यालय मध्यप्रदेश से राज्यसभा के पांचों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित; 4 सीट बीजेपी, एक कांग्रेस के खाते में 133 किमी लंबे मार्ग में 14 किमी लंबा दूसरा रेलवे ट्रैक तैयार साँप भगाने के लिए टैंक में पेट्रोल डाला, तीली जलाते ही धमाका हुआ, दम्पत्ति झुलसे नदियॉ को छलनी करने का खेल चल रहा,माफियाओं पर नही लग पा रही नकेल सिंगिग स्टार बनने के चक्कर मे लोग हो रहे शिकार संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सांसदों को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने बधाई दी

बीती रात्रि 3 बजे अयोध्या बस्ती में एक मकान की छत के सीमेंट चद्दर बांस बल्ली टूटने से गिर गए। मकान में विधवा महिला व उसके तीन बेटे सोए थे, जिन्हें चोंटे आई। गनीमत रही कोई जनजानि नही हुई। उक्त हादसे से प्रधानमंत्री आवास योजना की पोल भी खुल गई। जानकारी के अनुसार सहकारी दाल मील के निकट अयोध्या बस्ती मुख्य मार्ग पर स्थित विधवा महिला डालीबाई पति रंगलाल खारोल के मकान की छत बांस बल्ली पर सीमेंट के चद्दर डालकर टिकी हुई थी। रात्रि में अचानक बांस-बल्ली टूटने से सीमेंट के चद्दर व पत्थर भर-भराकर गिर गए। इसमें डालीबाई के साथ ही उसके बेटे राजेश (30) गोपाल (25) व तूफान (17) भी दब गए। चारों को चोंटे आई। जिन्होंने अस्पताल में प्राथमिक अस्पताल में उपचार कराया। हादसे में घर का सारा सामान क्षतिग्रस्त हो गया, जिससे हजारों रुपए का नुकसान हुआ है।
अधिकारियों से चर्चा कर की सहायता की मांग:- ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष अनिल शर्मा ने एसडीएम रोशनी पाटीदार, तहसीलदार वंदना हरित, कस्बा पटवारी दिग्विजसिंह से चर्चा कर पीड़ित परिवार को उचित सहायता राशि प्रदान करने की मांग की। साथ ही हादसे में सारा सामान नष्ट हो जाने पर उनके भोजन की व्यवस्था भी की।
प्रधानमंत्री आवास योजना की खुली पोल:-
विधवा के महिला के बेटे राजेश ने चर्चा में बताया कि वह जब से प्रधानमंत्री आवास योजना शुरु हुई उसके बाद तीन बार नगर परिषद् में मकान बनाने के लिए आवेदन कर चुके है, लेकिन अभी तक मकान बनाने की स्वीकृति नही मिली। राजेश ने बताया तीन बार आवेदन देने के बाद सैकड़ों बार नगर परिषद् में जा चुका हंू, लेकिन हर बार टरका दिया जाता है। आवास योजना का लाभ नही दिया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि नगर परिषद् में जिम्मेदार प्रधानमंत्री आवास योजना का मखौल उड़ा रहे है, यह योजना वास्तविक गरीबों से कोसों दूर है। एप्रोज वाले व्यक्ति या मिलीभगत कर मकान स्वीकृत हो जाते है, कई लोगों ने तो मकान को तुड़वाकर इस योजना का लाभ ले लिया है। लेकिन पात्र हितग्राही को इसका लाभ नही मिल पाता। शासन गरीबों तक योजना को पहंुचाने के लाख दावे कर ले, लेकिन धरातल पर काम करने वाले भ्रष्ट व मक्कान कर्मचारी योजनाओं का लाभ हितग्राही तक नही पहंुचने देते। केवल योजना गरीबों का हित करने के दिखावे के लिए मात्र बनकर रह गई है।
जांच कर दोषियों पर कार्रवाई की जाए:- प्रदेश कांग्रेस महामंत्री श्यामलाल जोकचन्द्र ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री आवास योजना में भारी भ्रष्टाचार हो रहा है। पात्र गरीबों का इस योजना का लाभ नही मिल पा रहा है। जिम्मेदारों ने इस योजना को मजाक बनाकर रख दिया है। सैकड़ों गरीब परिवार एसे है, जिन्हें नगर परिषद् चक्कर कटवा रही है। जोकचन्द्र ने बताया कि योजना में गरीबों के हक पर डाका डालने वाले दोषी अधिकारियों पर जांच कर सख्त कार्रवाई की जाए।

Chania