Friday, March 1st, 2024 Login Here
स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क गुजरात मॉडल से मप्र सरकार रोकेगी चेक पोस्ट पर अवैध वसूली अधिक आवक के चलते मंडी में बढ़ी अव्यवस्था, दिनभर बंद रही नीलामी शाम को शुरु हुई, आधे घंटे बाद फिर बंद, व्यापारी, किसान व हम्मालों का विरोध जारी नीमच से सिंगोली रावतभाटा होते हुए कोटा रेल मार्ग के फाइनल सर्वे की स्वीकृति, 5 करोड़ से अधिक की राशि स्वीकृत 500 जवानों की 45 टीमों ने की अपराधियों की धरपकड़, एक रात में 156 अपराधियों को पकडा मध्यप्रदेश की 29 सीटों पर पैनल तैयार,मंदसौर संसदीय क्षेत्र से देवीलाल धाकड, यशपालसिंह सिसोदिया, मदनलाल राठौर और सुधीर गुप्ता का नाम दुर्घटनाओं की जांच वैज्ञानिक तरीके से करने के निर्देश लेकिन पुरातन परम्परा अभी भी कायम अव्वल होने का दावा करने वाली नपा में सफाई व्यवस्था बदहाल

अलाव के सहारे बिता पूरा दिन, रात में कड़ाके की ठंड
मंदसौर जनसारंगी।
मंदसौर जिले में बुधवार से शुरू हुई रिमझिम बारिश गुरुवार को भी जारी रही। दिन के तापमान में जबर्दस्त की गिरावट दर्ज की गई। मौसम अधिकारियों के अनुसार आगे एक-दो दिन और इसी तरह का मौसम रहने का अनुमान है। तापमान में गिरावट होने और बारिश के कारण ऊनी कपड़ों के साथ ही लोगों को रेन कोट का भी सहारा लेना पड़ा, इसके साथ ही दिन में भी अलाव जलाने पड़े। दिन का तापमान 17 डिग्री से नीचे था जबकी रात में ठिठुरन और ज्यादा बढ गई थी।
बेमौसम हो रही बारिश ने जनजीवन पर भी खासा प्रभाव डाला है। जिन परिवारों में शादी-विवाह की तैयारियां हैं उनके लिए यह बारिश मुसीबत बनकर आई है। वहीं किसानों के लिए बारिश से अमृत की तरह बूंदें बरसी हैं। उत्तर पश्चिम से चल रहीं सर्द हवाओं ने ठिठुरन बढ़ा दी है। पिछले दिनों जहा बाजारों में विवाह आयोजनों की अच्छी खासी ग्राहकी थी।वहीं बुधवार से शुरू हुई बारिश से बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ है। सर्द मौसम में लोग जरूरत के लिहाज से ही बाहर निकलना पसन्द कर रहे हैं। बाजारों में दुकानदार झुंड बनाकर अलाव का सहारा लेते देखे जा सकते हैं। जिले में बुधवार से बिगड़े मौसम में गुरुवार को भी बादल छाए रहे, सूर्य की एक झलक तक दिखाई नहीं दी। रिमझिम बारिश और सर्द हवाओं का दौर अब भी जारी है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार अभी एक-दो दिन इसी तरह से बारिश के आसार है जिससे मौसम और ज्यादा ठंडा हो सकता है। कई जगह पर अगले 36 घंटे में और बारिश होने की संभावना जताई गई है। रात के तापमान में ज्यादा गिरावट नहीं होगा, लेकिन दिन के तापमान और नीचे आ जाएंगे। बंगाल की खाड़ी के बाद अरब सागर में बने कम दबाव के साथ पश्चिमी विक्षोभ ने प्रदेश में बारिश हो रही है। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक जेडी मिश्रा ने बताया कि कुछ जिलों में गरज-चमक की स्थिति रहेगी। अगले 36 घंटे तक प्रदेश में बारिश होगी। उसके बाद बादल छटने लगेंगे। इस कारण 5 दिसंबर से ठंड बढ़ जाएगी। जिससे रात और दिन के तापमान में गिरावट होगी। ठंडी सूखी हवाएं ठिठुरन बढ़ाएंगी।
प्रदेश के इन इलाकों में बारिश की चेतावनी
अगले 36 घंटों के दौरान प्रदेश के कई इलाकों में गरज-चमक के साथ हल्की बारिश होगी। बड़वानी, अलीराजपुर, झाबुआ, धार, इंदौर, रतलाम और उज्जैन जिलों में हल्की बारिश के साथ बिजली गिर सकती है। इसके अलावा भोपाल, होशंगाबाद, ग्वालियर, चंबल, इंदौर एवं उज्जैन संभागों के जिलों में तथा सागर, छतरपुर, टीकमगढ़, निवाड़ी, दमोह, सीधी और सिंगरौली जिलों में गरज-चमक के साथ बौछारे पड़ सकती है।

Chania