Sunday, March 3rd, 2024 Login Here
मंदसौर संसदीय क्षेत्र से सुधीर गुप्ता को मिला टिकीट सेवा कार्यो में उत्कृष्ट कार्य को लेकर रेडक्रॉस सोसायटी जिला शाखा मंदसौर को मिला अवार्ड बांछड़ा डेरों पर पुलिस की दबिश, भारी मात्रा में अवैध शराब जप्त प्रतिवेदन पेश नहीं करने पर नपा सीएमओं के खिलाफ पांच हजार का जमानती वारंट जारी सूदखोरों से परेशान होकर की आत्महत्या, पिता के मृत्युभोज के लिए लिया था पैसा मंत्री सारंग ने की वन-टू-वन चर्चा, कहा 6 लाख वोट से भाजपा को जिताने का संकल्प ले लोकसभा चुनाव - भाजपा के 155 उम्मीदवारों की सूची आज घोषित होने की संभावना स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 200 से अधिक प्रतिनिधि को राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया भैरव घाटी पर सड़क हादसा, एक की दर्दनाक मौत दो कारों की आमने-सामने भिडन्त, कॉन्स्टेबल की मौत मानपुरा में ग्रामीण के घर, बाड़े व स्विफ्ट कार से 63 किलो से अधिक अफीम जब्त सुपर पॉवर बनने की दिशा में तीन सेमीकंडक्टर, 1.26 लाख करोड़ के प्लांट को सरकार की मंजूरी 8 महिने बाद खाटु श्याम बाबा के मंदिर में प्रवेश कर भक्तों ने किए दर्शन 15 मिनिट में एक लाख का साउंड सिस्टम चुराने वाला बदमाश सीसीटीवी से पकडाया प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअल भूमिपूजन, मंदसौर में 99.14 करोड़ की लागत से 18 महीने में तैयार होगा औद्योगिक पार्क
    2018-19 में रिलायंस इंडस्ट्रीज का रेवेन्यू 6.23 लाख करोड़ रुपए, आईओसी का 6.17 लाख करोड़
मुंबई. रिलायंस इंडस्ट्रीज देश की सबसे ज्यादा सालाना रेवेन्यू वाली कंपनी बन गई है। उसने इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) को पीछे छोड़ा है। 31 मार्च को खत्म वित्त वर्ष (2018-19) में रिलायंस का रेवेन्यू 6.23 लाख करोड़ रुपए जबकि आईओसी का 6.17 लाख करोड़ रुपए रहा।
रिलायंस का सालाना मुनाफा 13% बढ़ा, आईओसी का 24% घटा
    2018-19 में रिलायंस देश की सबसे ज्यादा मुनाफे वाली कंपनी भी रही। पूरे साल में रिलायंस का मुनाफा (39,588 करोड़ रुपए) आईओसी के मुनाफे (17,274 करोड़ रुपए) की तुलना में दोगुने से भी ज्यादा रहा। 2017-18 में रिलायंस को 34,988 करोड़ रुपए का जबकि आईओसी को 22,626 करोड़ का प्रॉफिट हुआ था। आईओसी का मुनाफा रिफायनिंग, पेट्रोकेमिकल्स और गैस कारोबार पर निर्भर है।
    10 साल पहले रिलायंस का आकार आईओसी के मुकाबले आधा था लेकिन पिछले कुछ सालों में रिलायंस ने टेलीकॉम, रिटेल और डिजिटल सर्विसेज बिजनेस में तेजी से विस्तार किया।
    मार्केट कैप में भी रिलायंस देश की नंबर-1 कंपनी
    रिलायंस रेवेन्यू, प्रॉफिट और मार्केट कैपिटलाइजेशन में देश की सबसे बड़ी कंपनी बन गई है। रिलायंस का मौजूदा मार्केट कैप 8.49 लाख करोड़ रुपए है। मार्केट कैप में टीसीएस दूसरे नंबर पर है। उसका वैल्यूएशन 7.91 लाख करोड़ रुपए है।
    रिलायंस के पास 1.33 लाख करोड़ रुपए का कैश रिजर्व है लेकिन उसका कर्ज भी सबसे ज्यादा 2.87 लाख करोड़ रुपए है। दूसरी ओर आईओसी का कुल कर्ज 92,700 करोड़ रुपए है।
    आईओसी मुनाफे में ओएनजीसी से पिछड़ सकती है
    आईओसी वित्त वर्ष 2017-18 तक देश की सबसे ज्यादा सालाना मुनाफे वाली (सरकारी) कंपनी थी। लेकिन इस बार ओएनजीसी से पिछड़ सकती है। ओएनजीसी ने अभी तक 2018-19 के पूरे नतीजे घोषित नहीं किए हैं लेकिन दिसंबर तिमाही तक उसे 22,671 करोड़ रुपए का मुनाफा हो चुका है।

Chania