Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,

नई दिल्ली। मोदी सरकार के कार्यकाल में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार(NSA) की भूमिका निभाने वाले अजीत डोभाल को केंद्र सरकार की ओर से कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है। उन्हें पिछली सरकार के कार्यकाल में सुरक्षा के क्षेत्र में किए गए बेहतरीन कार्य के लिए ये दर्जा दिया गया है। इसके साथ ही उन्हें दोबारा NSA की जिम्मेदारी सौंपी गई है। उनकी पदस्थापना 5 साल के लिए की गई है।

बता दें कि अजीत डोभाल RAW एजेंट रह चुके हैं। वे पीएम नरेंद्र मोदी के विश्वस्त माने जाते हैं। उरी हमले के बाद भारत की ओर से पाकिस्तान में की गई सर्जिकल स्ट्राइक और पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत द्वारा पाकिस्तान के आतंकी ठिकानों पर की गई एयर स्ट्राइक में रणनीति बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका डोभाला निभा चुके हैं।

माना जा रहा है कि पिछली सरकार के कार्यकाल में चुनौतीपूर्ण वक्त में बेहतर तरीके से राष्ट्रीय सुरक्षा के मापदंडों को पूरा करने के चलते उन्हें कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है।

कौन है अजीत डोभाल

अजीत डोभाल देश के पांचवें नेशनल सिक्युरिटी एडवाइज़र (NSA) हैं। उनका पारिवारिक बैकग्राउंड भी आर्मी से जुड़ा रहा है। उनके पिता मेजर जी एन डोभाल भारतीय सेना के अधिकारी थे। अजीत डोभाल केरल कैडर से 1968 में IPS चुने गए थे। वे मिजोरमम और पंजाब के एंटी सर्जिकल ऑपरेशन में भी शामिल रहे हैं। कंधार विमान अपहरण मामले में भी डोभाल उन तीन अधिकारियों में शामिल रह चुके हैं जिन्होनें आतंकियों से निगोसिएसन की थी।

डोभाल ने 7 साल इस्लामाबाद में भारतीय हाई कमीशन में भी बिताए हैं। मोदी सरकार आने के बाद साल 2014 में उन्हें देश का राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नियुक्त किया गया था। तिरकित के हॉस्पिटल में 46 भारतीय नर्सों को सुरक्षित वापस लाने में भी डोभाल ने अहम भूमिका निभाई थी।

Chania