Saturday, May 8th, 2021 Login Here
भोईवाडा की घटना के बाद मंदसौर में पुलिस का फ्लेग मार्च जावरा विधायक से पंगा और मंदसौर के हिस्सें की आॅक्सीजन रोकना भरी पड़ा कलेक्टर को, विधायक सिसोदिया की सीएम के समक्ष कड़ी आपत्ति के बाद विवाह की खुशी में भूल गए लाॅकडाउन के आदेश/ शादि में मेंहमान बन कर पहुंच गऐ एसडीएम और टीआई बीस दिन लाॅकडाउन के बाद भी कोरोना काबू नहीं हुआ तो अब सीएम के निर्देश के बाद मंदसौर में भी शुरु हुआ सख्ती वाला लॉक डाउन कोरोना के तांडव की हकीकत बयां करती मंदसौर के शमशान की सच्चाई ! कोरोना से जंग में भारतीय जैन संघठना ने नृत्य नाटिका के माध्यम से दिया सकारात्मकता का सन्देश रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर रतलाम के एडवोकेट सुरेश डागर की मृत्यु का मामला गरमाया इंदौर के एडवोकेट ने हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर जबलपुर उच्च न्यायालय में की याचिका दायर बेटा चाहता था ऐश का जीवन जीने के लिए जमीन बेचना, माॅ ने मना किया तो कर दी हत्या कोविड की मार ने तोड़ी आम लोगों की कमर, बिगाडा मध्यवर्गीय परिवार का बजट योग बना रहा निरोग, कोरोना से जीती जंग आपदा में गायब धरती के भगवान! एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस अग्रवाल समाज द्वारा सवा लाख महामृत्युंजय जाप एवं नवचंडी अनुष्ठान हुआ आरंभ अग्रवाल समाज सोमवार से सवा लाख महामृत्युंजय जप एवं नवचंडी अनुष्ठान का आयोजन करेगा लापरवाहीं- कोरोना लेकर बाजार में घूम रहे संक्रमित,

मन्दसौर। पूज्य सिन्धी भाईबंध पंचायत के आशीर्वाददाता, समाजसेवक बाबूजी के नाम से प्रसिध्द बैंक कर्मी स्व. शिवानी बाबू स्व. चन्द्रकुमार शिवानी की सातवीं व उनकी धर्मपत्नी स्व. श्रीमती कमलादेवी शिवानी की प्रथम वर्सी महोत्सव श्री प्रेमप्रकाश आश्रम में उनकी आत्म शांति व धार्मिक विधि विधान के अनुसार मनाया गया।

इस आशय की जानकारी श्री प्रेमप्रकाश सेवा मण्डली के किशन लालवानी एवं पूज्य सिंधी भाई बंध पंचायत के अध्यक्ष नन्दू आडवानी ने देते हुए बतायसा कि मृत आत्माओं को शांति एवं परिवार व समाज में सुख समृध्दि की कामनाओं हेतु 1 जून शनिवार को श्री प्रेमप्रकाश आश्रम में श्रीमद् भागवत गीता एवं श्री प्रेमप्रकाश ग्रंथ के पाठों की स्थापना की गईं। जिसको श्रध्दालुजनों ने वाचन किया। उनका समापन बाबूजी की वर्सी दिवस 6 जून को महिला मण्डली की अध्यक्ष श्रीमती पुष्पा लक्ष्मणदास पमनानी ने 'शांति के दोहे' एवं श्रीमद् भागवत गीता के अंतिम अध्याय का वाचन श्री प्रेमप्रकाश आश्रम के  प्रमुख विनोद खेतीया ने कर किया व श्रध्दा रूमाल इंदौर से पधारे बाबूजी के परिवार के पुत्र व पुत्र वधु श्रीमती सरला अजय शिवानी, श्रीमी प्रिया राजकुमार शिवानी, रतलाम से बहन गोधावरी देवी मनोहरलाल जेठवानी, भाई व बहु श्रीमती निर्मला पुरूषोत्तम शिवानी एवं श्रीमती दिव्या नारायण शिवानी ने ग्रंथ व श्रीमद् भागवत गीता पर चराकर सम्पन्न किया।

इस पावन अवसर पर श्रीमती पुष्पा लक्ष्मणदास पमनानी, विनोद खेतीया व महिला मण्डली क सेवाधारियों ने माना पिता की महिमा के सुन्दर भजन प्रस्तुत किये। व अपने मुखारविन्द से कहा कि जो मनुष्य अपने जीवन में सत कर्म करता है व अपने गुरू को समर्पण भाव से सेवा कार्य करता है तो उनके वर्सी उत्सव पर मेले व उत्सव आयोजित होते है। शिवानी बाबू ने भी अपने जीवन में खुब संघर्ष किया व ईमानदारी से समाज व मानव की सेवा का कार्य किया। ''वर्सी मेला लगन जीन जा, जीन मन खे पारीया आहे''। जो मनुष्य लोभ, मोह, अहंकार, काम, क्रोध के विकारों को त्याग करता है वह अपने जीवन को सतगुरू की सेवा में अर्पण कर देता है। उसका जगत में नाम अमर हो जाता है। शिवानी बाबू के सेकड़ों स्नेहीजन व प्रेमीजनों ने श्री प्रेमप्रकाश आश्रम में पधारकर श्रीमती कमलादेवी चन्द्रकुमार शिवानी की तस्वीर पर पुष्प अर्पित किये। जिसमें प्रमुख रूप से पूर्व मंत्री कैलाश चावला, पं. महेश मिश्रा, पूर्व आयकर अधिकारी दुर्गेश जिंदल, सुरेन्द्रसिंह सिसौदिया, कुलदीपसिंह सिसौदिया, पं. विनोद शर्मा, नन्दू आडवानी, दृष्टानंद नैनवानी, वासुदेव खैमानी, पं. प्रकाश शर्मा, कन्हैयालाल बाबानी, स्मृति बैंक के जी.टी. हेमनानी, गिरधारीलाल काउ जजवानी, राम कोटावानी, राम कल्याणी, त्रिलोक रूपलानी, दयाराम जैसवानी, ठाकुरदास खेराजानी, ठाकुरदास श्यामयानी, प्रकाश बुलचंदानी, पी.आर. ज्ञानी, आसनदास सेवलदासानी, भीमसेन संगतानी, दिनेश बाबानी, महेश डालवानी, दिनेश कल्याणी आदि ने भगवान श्री लक्ष्मीनारायण एवं सतगुरू टेऊरामजी महाराज की आरती भी सम्पन्न की।  अंत में सुख, शांति, समृध्दि व अमन चैन का पल्लव गादिनशीन पंचमपीठावेश्वर सतगुरू स्वामी भगतप्रकाश महाराज के मुखारविन्द के पल्लव का प्रसारण किया गया व आभार प्रदर्शन सेवा मण्डली के अध्यक्ष पुरूषोत्तम शिवानी एवं दयाराम जैसवानी ने माना।

Chania